रिचर्ड अलेक्सजेंडर 

न्यूयार्क (अमेरिका).  स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सचिव नरेश दयाल ने कहा है कि भारत स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है. साथ ही उन्होंने विकसित देशों से इस महामारी के संक्रमण के फैलाव को रोकने की अपील की.

वे संयुक्त राष्ट्र महासचिव द्वारा न्यूयार्क में गत दिवस आयोजित ‘संकट के कारण वैश्विक स्वास्थ्य को खतरे’ के विषय में उच्च स्तरीय जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि एच1एन1 के फैलाव को रोकने के लिए डॉ. डेविड नाबारो और अन्य लोगों द्वारा तैयारी का प्रयास सफल रहा है। हम इस बीमारी के गौण रूप से फैलाव को रोकने में सफल रहे हैं और इस महामारी के फैलाव से अपने नागरिकों को बचाने के लिए पर्याप्त कदम उठाए हैं। भारत ने निजी क्षेत्र के तीन देशी टीका उत्पादकों को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा वाइरस विविक्त और जीवाणु उपलब्ध कराते ही टीका उत्पादन के लिए तैयार किया है और वे केवल हमारे नागरिकों के लिए ही टीका उत्पादन में सक्षम नहीं होंगे, बल्कि अन्य विकासशील देशों के लिए भी होंगे। हमारे पास 30 ऐसे मामले हैं, जिनकी प्रयोगशाला ने पुष्टि की है। उनमें से 28 वे हैं जो पश्चिम के संक्रमित देशों से आए हैं। उन्होंने कहा कि विकसित देशों द्वारा विकासशील देशों की यह महान सेवा होगी अगर वे अपने देश में इस संक्रमण के फैलाव को रोक सकें और इस संक्रमण को रोकने के लिए कार्यवाई करें।

एचआईवी एड्स के संबंध में उन्होंने कहा कि  2007 में राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सवेक्षण-3 के परिणाम में किए गए संकेतों के अनुसार एड्स का फैलाव उतना नहीं हुआ जितना सोचा गया था। भारत के पास सभी प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ और जीव-सांख्यिकिविद् हैं, विश्व स्वास्थ्य संगठन, विश्व बैंक, सीडीसी अटलांटा और  यूएनएआईडीएस इत्यादि ने उस आंकड़े की जांच की और इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि पूर्व में सोचा गया था कि एड्स का प्रसार 0.9 प्रतिशत होगा, लेकिन 3.6 प्रतिशत रहा और यह संख्या 5.57 मिलियन से घटकर 2.46 मिलियन रही। परिणामस्वरूप एड्स पीड़ितों की संख्या वैश्विक तौर पर कम हुई है।
 
उन्होंने अप्रैल, 2005 में प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा शुरू किए गए राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन पर भी प्रकाश डाला।

20 COMMENTS

  1. It’s perfect time to make some plans for the future and it is time to be happy. I have read this post and if I could I wish to suggest you some interesting things or tips. Perhaps you can write next articles referring to this article. I desire to read even more things about it!

  2. I have recently started using the blogengine.net and I having some problems here? in your blog you stated that we necessity to enable correspond with permissions on the App_Text folder…unfortunately I don’t agree how to empower it.

  3. You may prepare not intended to do so, but I evaluate you possess managed to put the state of thinker that a tons of people are in. The sense of unsatisfactory to succour, but not knowing how or where, is something a masses of us are prospering through.

  4. Took me time to read all the comments, but I really enjoyed the article. It proved to be Very helpful to me and I am sure to all the commenters here! It’s always nice when you can not only be informed, but also entertained! I’m sure you had fun writing this article.

  5. Не сразу понял, в чем дело. Но перечитав, все стало понятно. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here