आईएनवीसी ब्यूरो
नई दिल्ली. मीडिया के लोगों के लिए वन्यजीवन संरक्षण पर दो दिवसीय कार्यशाला आज प्रारंभ होगी। कार्यशाला का उद्देश्य वन्य जीवन संरक्षण से संबंधित अनेक मुद्दों पर मीडिया के लोगों के लिए सुग्राही बनाना है। इसका आयोजन निर्दिष्ट शीर्षक पर चिन्हित लोगों को उनका निवेश उपलब्ध कराने के साथ संवादात्मक तरीके से किया जा रहा है और तत्पश्चात शीर्षक को वार्ता के लिए खोल दिया जाएगा।
दो दिवसीय कार्यशाला के दौरान शीर्षक के फैलाव में भारत में वन एवं वन्यजीवन के मुद्दों से परिचय तथा मीडिया और वन्यजीवन संरक्षण, हृदयग्राही प्रतिबिंब के साथ प्रकृति की सुरक्षा, संरक्षण के लिए विधिक ढांचा, जंगली जानवरों का व्यापार, तस्करी और प्रवर्तन, पन्ना और सरिस्का से बाघों का लोप, नस्लों से पुनर्परिचय, लोग तथा वन्यजीवन और विज्ञान, आचारनीति और संरक्षण शामिल हैं।

7 COMMENTS

  1. Thanks for the great post,i love to read articles that are informative and beneficial in nature. However, these same analysts and strategists wrote the cause off as hopeless, citing the failure of multiple past candidates who had tried to do so.

  2. You got some great ideas there. I did a search on the issue and learnt most peoples will agree with your blog. Your new baby will sleep and eat a lot, which will leave you feeling very tired, and if you try to do everything else along with caring for your newborn, you are going to take longer to heal and you may even have some complications.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here