Tuesday, February 18th, 2020

लेबोरेट्री यूनिटों की रेंज वार समीक्षा की जाए : गुलाब चन्द कटारिया

गुलाब चन्द कटारियाआई एन वी सी न्यूज़ जयपुर, गृह मंत्री गुलाब चन्द कटारिया ने एफएसएल निदेशक, को निर्देश दिये कि प्राथमिकता वाले मुकदमों के निस्तारण के साथ ही शेष प्रकरणों के निस्तारण में भी तीव्रता लाई जाये। श्री कटारिया बुधवार को सचिवालय में राज्य विधि विज्ञान प्रयोगशाला की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रकरणों के निस्तारण की गति को तेज करने पर जोर देते हुए कहा कि लेबोरेट्री यूनिटों में रेंज वार समीक्षा की जाए, इसके साथ ही मासिक प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत कियें जायें। बैठक में बताया गया कि प्रशिक्षण केन्द्रों के भवन स्टाफ एवं आगे की व्यवस्थाओं के बारे में जयपुर में पोलीग्राफ सेन्टर तैयार हुआ है। इसके लिये आगामी माह में पोलीग्राफ उपकरण खरीदने पर भी चर्चा की गई। श्री कटारिया ने डीएनए एवं पोलीग्राफ जांचों से सम्बन्धित नियमों को बनाने के सम्बन्ध में विधि शाखा से सम्पर्क कर आवश्यक कार्यवाही करने के लिए निदेशक, एफएसएल को आश्वस्त किया। साथ ही द्वितीय चरण के बजट में एफएसएल के आधुनिकीकरण के लिये सामग्री तथा वैज्ञानिक उपकरण खरीदने के निर्देश दिये। निदेशक, एफएसएल श्री हेमन्त पुरोहित ने विभाग में हुई प्रगति की जानकारी देते हुए बताया कि रेंज महानिरीक्षक एवं जिला पुलिस अधीक्षक से प्राप्त मामलों को प्राथमिकता से निस्तारण किया जाता है। उन्होंने बताया कि निदेशक स्तर पर इसकी मॉनिटरिंग भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि भरतपुर की एफएसएल लेबोरेट्री फरवरी माह में शुरू हो चुकी है। अजमेर व बीकानेर जिले में प्रयोगशाला भवन निर्माण की प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि विभाग के कार्यों में तेजी लाने के लिये अनुभवी एवं सेवानिवृत्त कर्मियों की सेवाएं पुन: लेने के प्रस्ताव भी विभाग द्वारा भिजवायें गए हैं। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह श्री ए. मुखोपाध्याय, शासन सचिव श्री संदीप वर्मा व गृहमंत्री के विशिष्ठ सहायक श्री महेन्द्र पारख उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment