नई  दिल्ली , देश आज 73वें स्वतंत्रता दिवस के जश्न में डूबा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार सुबह लालकिले पर तिरंगा फहराया और देश को संबोधित किया. लालकिले से अपने छठे भाषण में पीएम मोदी का फोकस जल संकट, जनसंख्या विस्फोट, न्यू इंडिया के मिशन पर रहा. लेकिन इस बीच उन्होंने बड़ा ऐलान किया और तीनों सेना के बीच तालमेल बैठाने लिए 'चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ' के पद का ऐलान किया. सेना के इतिहास में ये पद पहली बार बना है.

पीएम ने की लोगों से अपील

प्रधानमंत्री ने इस दौरान लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह पॉलीथीन का इस्तेमाल ना करें और दुकानदारों से भी ऐसा ही करने को कहा. उन्होंने कहा कि आप थैले का इस्तेमाल करना चाहिए. 2 अक्टूबर से प्लास्टिक रोकने के काम को आगे बढ़ाना होगा. साथ ही प्रधानमंत्री ने अपने देशी प्रोडक्ट को बढ़ावा देने की बात कही, साथ ही उन्होंने एक नारा दिया ‘लकी कल के लिए लोकल’. उन्होंने डिजिटल पेमेंट का हां और नकद को ना करने की अपील की.
प्रधानमंत्री ने इस दौरान लोगों से अपील करते हुए कहा कि आप दुनिया घूमने जाते हैं लेकिन अब तय करें कि 2022 से पहले अपने देश की 15 टूरिस्ट जगह पर जाएंगे. आप जब अपने देश में घूमेंगे तो दुनिया को खूबसूरती बता पाएंगे. साथ ही साथ उन्होंने किसानों से भी केमिकल फर्टिलाइज़र को कम करने की अपील की.

लालकिले से मोदी का बड़ा ऐलान- तीनों सेनाओं का सेनापति होगा ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से बड़ा ऐलान किया है. तीनों सेनाओं में तालमेल को बढ़ाने के लिए अब उनका एक सेनापति बनाया जाएगा. जिसे 'चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ' (CDS) कहा जाएगा. सेना के इतिहास में ये पद पहली बार बनाया गया है.  उन्होंने कहा कि तीनों सेनाओं को एक साथ चलना होगा.

लालकिले से मोदी की हुंकार- आतंक को एक्सपोर्ट करने वालों को भारत करेगा बेनकाब

पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया के किसी ना किसी हिस्से में कुछ हो रहा है, भारत ऐसे में मूकदर्शक नहीं बना रहेगा. उन्होंने ऐलान किया कि आतंकवाद के खिलाफ भारत अपनी लड़ाई जारी रखेगा, आतंकवाद को एक्सपोर्ट करने वालों को बेनकाब करने का वक्त आ गया है. कुछ लोगों ने भारत के साथ-साथ श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में भी आतंकवाद फैला रखा है.
पीएम बोले ने अफगानिस्तान को उनके स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी. उन्होंने इस दौरान सेना के जवानों का शुक्रिया किया और उनके योगदान की तारीफ की.

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान ऐलान किया कि दुनिया भारत को बाजार मानती है लेकिन अब हमें भी दुनिया के लिए तैयार रहना होगा. हर जिले में एक खूबी है, जिसे दुनिया में प्रचारित करना चाहिए. देश के उत्पाद को ग्लोबल मार्केट तक पहुंचाना जरूरी है.

आज देश की सोच बदल गई है: मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि आज देश की सोच बदल गई है, पहले जो व्यक्ति बस अड्डे की मांग करता था आज वह पूछता है कि साहब, हवाई अड्डा कब आएगा. पहले गांव में पक्की सड़क की मांग होती थी और आज लोग पूछते हैं कि सड़क फोर लेन बनेगी या 6 लेन. उन्होंने कहा कि देश का मिजाज बदल रहा है.

‘भ्रष्टाचार की बीमारी को दूर करने की जरूरत’

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि हम आजादी के 75 साल मनाने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा कि व्यवस्था में बदलाव होना जरूरी है और ये भ्रष्टाचार से मुक्त होनी चाहिए. हमारे इस मिशन में जो रुकावट बन रहे थे, हमने उनकी छुट्टी कर दी और कहा कि आपका रास्ता अलग है. देश में भाई-भतीजावाद एक दीमक की तरह है, इस बीमारी को भगाना जरूरी है.
उन्होंने कहा कि अब जरूरत है कि धीरे-धीरे सरकारें लोगों के जीवन से बाहर निकले और लोग आजादी से अपने आप को आगे बढ़ा सकें. किसी पर भी सरकार का दबाव नहीं होना चाहिए, लेकिन मुसीबत के वक्त में सरकार हमेशा लोगों के साथ खड़े होना चाहिए. हमारी सरकार ने रोजाना एक कानून को खत्म किया है, ताकि लोगों पर से बोझ कम हो सके. इस सरकार के 10 हफ्तों में भी 60 कानूनों को खत्म किया जा चुका है.

जनसंख्या विस्फोट पर मोदी का प्रहार, बोले- परिवार को छोटा रखना देशभक्ति

प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस तरह लोगों ने स्वच्छता के लिए अभियान चलाया, अब समय आ गया है कि पानी को बचाने के लिए भी कुछ ऐसा ही किया जाए. पानी को बचाने के लिए हमें 4 गुना रफ्तार से काम करना होगा. पीएम ने इस दौरान बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जताई, उन्होंने कहा कि हमें इस विषय को लेकर आने वाली पीढ़ि के लिए सोचना होगा. सीमित परिवार से ना सिर्फ खुद का बल्कि देश का भी भला होने वाला है.
पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग इस विषय पर आगे कदम बढ़ा चुके हैं और सीमित परिवार के फायदे को लोगों को समझा रहे हैं उन्हें आज सम्मानित करने की जरूरत है. छोटा परिवार रखने वाले देशभक्त की तरह हैं. घर में किसी भी बच्चे के आने से पहले सोचें कि क्या हम उसके लिए तैयार हैं, उसकी जरूरतों को पूरा करने के लिए हम तैयार हैं.

हर घर जल के लिए पीएम ने किया मिशन का ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से कहा कि हमारी सरकार ने देश में गरीबी कम करने की दिशा में आगे कदम बढ़ाए हैं. पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक हर दल की सरकार ने देश की भलाई में कुछ ना कुछ किया है, लेकिन अभी भी 50 फीसदी लोगों के घरों में पीने का पानी उपलब्ध नहीं है. लोगों को पीने के पानी के लिए कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.पीएम मोदी बोले कि हमारी सरकार अब हर घर में जल की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. पीएम ने इस दौरान जल जीवन मिशन का ऐलान किया और साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये के बजट का ऐलान किया. इसके तहत जल संचय, समुद्री पानी का इस्तेमाल, वेस्ट वाटर का इस्तेमाल, कम पानी में खेती के बारे में लोगों के बीच जागरूकता फैलाई जाएगी. प्रधानमंत्री ने इस दौरान जिक्र किया कि एक संत ने सौ साल पहले ही कह दिया था कि एक दिन आएगा जब पानी किराने की दुकान में बिकेगा.

मोदी का विपक्ष पर वार- 370 इतना अच्छा था तो स्थाई क्यों नहीं किया

प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों में कोई ना कोई ऐसा व्यक्ति है, जो अनुच्छेद 370 के खिलाफ या तो प्रखर रूप से या फिर मुखर रूप से बोला है. लेकिन जो लोग इसकी वकालत कर रहे हैं उनसे देश पूछ रहा है कि ये इतना जरूरी था, तो 70 साल में आपने इन्हें क्यों अस्थाई बना रखा था. आगे आते और स्थाई बना देते, लेकिन आपमें इसकी हिम्मत नहीं था.
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हर कोई गर्व से कह सकता है कि एक देश, एक संविधान. हम सरदार पटेल के एक भारत, श्रेष्ठ भारत के विचार को आगे ले जा रहे हैं. GST के जरिए हमने एक देश, एक टैक्स का सपना पूरा किया, ऊर्जा के क्षेत्र में एक देश, एक ग्रिड को आगे बढ़ाया. अब जरूरत है कि देश में एक साथ चुनाव की भी चर्चा होनी चाहिए.

अनुच्छेद 370 पर क्या बोले पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम समस्या को टालते भी नहीं हैं और समस्या को पालते भी नहीं हैं. जो काम 70 साल में नहीं हुआ वो हमारी सरकार ने सत्तर दिन में कर दिया. संसद के दोनों सदनों ने दो तिहाई बहुमत से इस पर फैसला लिया. उन्होंने कहा कि देश ने मुझे ये काम दिया था और वही मैं कर रहा हूं. जम्मू-कश्मीर को लेकर 70 साल हर किसी ने कुछ ना कुछ किया है लेकिन परिणाम नहीं मिले. प्रधानमंत्री ने कहा कि घाटी के लोगों को कई सुविधाओं का फायदा नहीं मिल पा रहा था, वहां पर भ्रष्टाचार, अलगाववाद ने अपने पैर जमा लिए थे. पीएम मोदी ने कहा कि दलितों, गुर्जर समेत अन्य लोगों को अधिकार नहीं मिल पा रहे थे जो अब उन्हें मिलने वाले हैं.

तीन तलाक पर क्या बोले प्रधानमंत्री...


लालकिले से पीएम मोदी ने कहा कि हम सबका साथ-सबका विकास का मंत्र लेकर चले थे, लेकिन पांच साल में ये सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास हो गया जो देश की वजह से हुआ है. अब हम संकल्प से सिद्धी की ओर बढ़ रहे हैं. पीएम ने कहा कि देश आतंकवाद के खिलाफ एक साथ लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है.
PM मोदी ने कहा कि देश की मुस्लिम बेटियां डरी हुई जिंदगी जी रही थीं, भले ही वो तीन तलाक की शिकार नहीं बनी हों लेकिन उनके मन में डर रहता था. तीन तलाक को इस्लामिक देशों ने ही खत्म कर दिया था, तो हमने क्यों नहीं किया. अगर देश में दहेज, भ्रूण हत्या के खिलाफ कानून बना सकते हैं तो तीन तलाक के खिलाफ क्यों नहीं.

अबकी बार मोदी ने नहीं देश ने लड़ा चुनाव...

पीएम मोदी ने कहा कि देश में आज लोगों का मिजाज बदल गया है, 2014 से पहले देश में निराशा का माहौल था. लेकिन हमने पांच साल विकास के लिए काम किया, हमने देश को हित में रखकर काम किया. 2019 में इसका असर दिखा और चुनाव में लोगों का उत्साह देखने को मिला. 2014 से 2019 का दौर देश के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला रहा. हमारे देश और दिमाग में सिर्फ और सिर्फ देश रहा. पीएम ने कहा कि 2019 में ना कोई नेता, ना मोदी चुनाव लड़ रहे थे बल्कि सभी देशवासी अपने सपनों के लिए चुनाव लड़ रहे थे.

जलसंकट पर प्रधानमंत्री ने क्या कहा...

लालकिले से प्रधानमंत्री बोले कि किसानों को आज 90 हजार करोड़ रुपये सीधा खाते में दिए जा रहे हैं, हमने जलसंकट से निपटने के लिए अलग से मंत्रालय बनाया. हम मजदूरों और किसानों को भी पेंशन देने के लिए कदम बढ़ा रहे हैं. हमारे देश में आज डॉक्टरों की जरूरत है और नए कानूनों की भी जरूरत है. आज पूरी दुनिया में बच्चों के साथ अत्याचार हो रहा है, लेकिन हमारी सरकार ने देश में बच्चों के खिलाफ जुल्म करने वालों के खिलाफ कानून बनाया.

अनुच्छेद 370, 35ए पर ये बोले प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद से अभी तक जिन्होंने देश के विकास में योगदान दिया है, उनको भी वह नमन करते हैं. पीएम ने कहा कि नई सरकार को 10 हफ्ते भी नहीं हुए हैं, लेकिन इतने कम समय में भी हर क्षेत्र में काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि 10 हफ्ते के भीतर ही अनुच्छेद 370, 35ए का हटना सरदार वल्लभ भाई पटेल के सपनों को साकार करने में एक कदम है. PM ने कहा कि मुस्लिम बहनों के हित के लिए तीन तलाक को खत्म किया गया और बिल लाया गया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लालकिले से संबोधन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से अपने संबोधन में देश को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी. उन्होंने रक्षा बंधन की बधाई दी साथ ही बाढ़ पीड़ितों के लिए चिंता भी जताई. पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य की सरकार एक साथ मिलकर इसका सामना कर रहे हैं. प्रधानमंत्री ने आजादी की लड़ाई में अपनी जान गंवाने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को भी सलाम किया.

 

राजघाट पर महात्मा गांधी को पीएम ने दी श्रद्धांजलि

लालकिले पर तिरंगा फहराने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजघाट पहुंचे हैं. यहां पर उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. पीएम मोदी एक बार फिर आजादी के जश्न के अवसर पर साफा पहने नजर आए हैं. बापू को श्रद्धांजलि देने के बाद अब पीएम मोदी लालकिले की ओर रवाना होंगे. PLC.