Sunday, October 20th, 2019
Close X

लापरवाही बरतने वालों को बख्शा नहीं जायेगा : अरूण कुमारी कोरी

Aruna Kumari Koriआई एन वी सी न्यूज़

लखनऊ: संस्कृति एवं महिला कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), श्रीमती अरूण कुमारी कोरी ने कहा है कि निराश्रित महिला पेंशन तथा विधवा पेंशन सभी पात्र लाभार्थियों के खाते में समय से भेजा जाना सुनिश्चित किया जाय। पेंशन भेजने में कोई कमी अथवा त्रुटि हो तो उसे तत्काल दूर किया जाय। उन्होंने कहा कि निराश्रित/विधवा महिलाओं के पेंशन के मामले में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही बरती जानी चाहिए। उन्होंने पेंशनरों को यूनीक आई0डी0 कार्ड (पहचान पत्र) आनलाइन समय से उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिये। श्रीमती कोरी आज यहां बापू भवन स्थित सभागार में महिला कल्याण विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहीं थीं। उन्होंने कहा कि उनके संज्ञान में आया है कि गैर सरकारी संस्थाओं की जांच किये बिना नियम विरूद्ध जाकर अनुदान आवंटन संबंधी उनके प्रस्ताव भारत सरकार को भेजे जा रहे हैं। उन्होंने इसे गम्भीरता से लेते हुए अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये कि भविष्य में निर्धारित एवं आवश्यक प्रक्रिया को पूरा किये बिना किसी भी गैर सरकारी संस्था के प्रस्ताव सीधे भारत सरकार को न भेजें। महिला कल्याण राज्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान राजकीय संस्थाओं से बच्चों के पलायन की घटनाओं को गम्भीरता से लेते हुए दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बाल गृहों की दशा में सुधार लाया जाये और उनकी सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चैबंद किया जाये साथ ही  राजकीय सम्प्रेक्षण गृहों की स्थिति पर प्रभावी निगरानी की जाय। इसके साथ ही, उन्होंने स्वैच्छिक संगठनों के माध्यम से चलाये जा रहे संरक्षण गृहों का निरंतर अनुश्रवण किये जाने पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि महिलाओं के हितार्थ संचालित कल्याणकारी योजनाओं में शिथिलता एवं लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। महिला कल्याण राज्यमंत्री ने निदेशालय स्तर पर लम्बित अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सेवा संबंधी मामलों में बरती जा रही शिथिलता के प्रति असंतोष जाहिर करते हुए कहा कि कर्मियों के मामलों को समयबद्ध ढंग से निस्तारित किया जाना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने न्यायालयोें में लम्बित मामलों के भी शीघ्र निस्तारण के लिए आवश्यक कार्यवाही समयबद्ध ढंग से सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। श्रीमती कोरी ने कहा कि विभागीय अधिकारियों की पदोन्नति आदि की प्रक्रिया को भी समयबद्ध ढंग से सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने जिला प्रोबेशन अधिकारियों के रिक्त पदों पर पदोन्नति संबंधी कार्यवाही को समय से पूर्ण किया जाने के निर्देश विभाग के वरिष्ठ अधिकारियोें को दिये। उन्होंने अधिकारियों से महिला कल्याण से जुड़े कल्याणकारी कार्यक्रमों एवं योजनाओं को प्राथमिकता से संचालित किये जाने की अपेक्षा की। उन्होंने योजनाओं की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान केन्द्रित करने के सख्त निर्देश दिये। श्रीमती कोरी ने प्रमुख सचिव, महिला कल्याण से अपेक्षा की कि महिलाओं के सम्मान के लिए शुरू की गयी रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान योजना को व्यापक स्तर पर पूरे प्रदेश में प्रचारित किया जाय। प्रमुख सचिव महिला कल्याण, श्रीमती रेणुका कुमार ने विभाग द्वारा संचालित कल्याणकारी कार्यक्रमों की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने निराश्रित महिला पेंशन योजना, राजकीय बालगृहों, राजकीय संप्रेक्षण गृहों, स्वैच्छिक संगठनों के माध्यम से संचालिए संरक्षण गृहों, आश्रय गृहों तथा राष्ट्रीय महिला सशक्तिकरण मिशन के तहत संचालिए योजनाओं आदि के बारे में विस्तार से समीक्षा बैठक में प्रकाश डाला। बैठक में निदेशक, महिला कल्याण, श्री राम केवल, संयुक्त सचिव तथा संयुक्त निदेशक के साथ-साथ समस्त मण्डलों के उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी एवं जिला प्रोबेशन अधिकारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment