Close X
Saturday, October 24th, 2020

रेशमी रूमाल तहरीक पर डाक टिकट जारी

आई,एन,वी,सी,

दिल्ली,
नई दिल्ली। देवबंद के इतिहास में शुक्रवार को एक और स्वर्णिम अध्याय जुड़ गया जब रेशमी रूमाल तहरीक के 60वें समारोह के अवसर पर राष्टï्रपति ने रेशमी रूमाल तहरीक के नेतृत्वकत्र्ता शेख उल हिन्द मौलाना महमूद मदनी की याद में डाकट टिकट जारी किया।  केन्द्र सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार मंत्रालय के द्वारा देश के क्रांतिकारियों के ऊपर अब तक 3000 हजार डाक टिकट जारी किए जा चुके हैं। इस अवसर पर केन्द्रीय संचार मंत्री कपिल सिब्बल, उत्तराखंड के राज्यपाल अजीज कुरैशी, केनद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री के. रहमान खान, यूपीए की चेयरपर्सन श्रमति सोनिया गांधी के द्वारा भेजे गए संदेश को मौलाना नियाज़ अहमद फारूकी ने पढक़र सुनाया। इसके अलावा शेख उल हिन्द्र एजुकेशनल चेरिटेबल ट्रस्ट के चेयरमैन मौलाना महमूद अहमद मदनी जमीयत उलमा ए हिन्द के अध्यक्ष कारी मुहम्मद उसमान मंसूरपुरी, अलगढ़ मुस्लिम विवि. के उपकुलपति लेफ्टीनेंट जनरल जमीर उद्दीन शाह, जामिया मिलिया इस्लामिया विवि. के उपकुलपति नजीब जंग, यूनीवर्सल एसोसिएशन फॉर स्प्रिच्युल अवेयरनेस के संस्थापक पं. एनके शर्मा, प्रो. अख्तरूल वासे तथा पंडित आनंद मोहन आदि मौजूद थे।राष्टï्रपति प्रणव मुखर्जी द्वारा डाक टिकट के उद्घाटन के बाद श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा कि दारूल उलूम देवबंद के पहले छात्र और देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद कराने के लिए रेशमी रूमाल की तहरीक चलाने वाले शेख उल हिन्द मौलाना महूमद हसन देवबंदी की याद में डाक टिकट जारी करते हुए अत्यंत हर्ष हो रहा है। नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित रेशमी रूमाल तहरीक  के 60वें समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ उस्ताद एवं जमीयत उलमा ए हिन्द के अध्यक्ष कारी मुहम्मद उसमान मंसूरपुरी ने की तथा मुख्य अतिथि के रूप में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे। इसके अलावा देश के विभिन्न हिस्सों से शेख उल हिन्द के चाहने वाले हजारों लोग भी मौजूद थे।काबिलेगौर है कि केन्द्र सरकार ने इससे पहले 1980 में दारूल उलूम के शताब्दी समारोह के मौके पर दारूल उलूम पर डाक टिकट जारी किया गया था। 2012 में स्वतंत्रता सेनानी और गांधी जी के बेहद करीबी रहे शेख उल इस्लाम मौलाना हुसैन अहमद मदनी पर डाक टिकट जारी किया गया था। इस अवसर पर शेख उल हिन्द्र एजुकेशनल चेरिटेबल ट्रस्ट के चेयरमैन मौलाना महमूद अहमद मदनी ने कहा कि आज के समारोह के दूल्हा कपिल सिब्बल हैं। जिन्होंने रामलीला मैदान में मुसलमानों के मसाइल को हल करने का वायदा किया था उनमें से अधिकांश को पूरा कर दिया। उन्होंने कहा कि कपिल सिब्बल साहब मंत्री तो है ही साथ में वह हमारे वकील भी है। हमारी बात को सरकार के पास तक पहुंचाने का काम करते हैं। मौलाना मदनी ने कहा कि शेख उल हिन्द और शेख उल इस्लाम के जीवन और स्वतंत्रता संग्राम की खिदमात को आने वाली पीढिय़ों को अवगत कराने के लिए छात्रों के पाठ्यक्रम में भी शामिल किया जाए।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment