Close X
Sunday, October 25th, 2020

रेलवे स्टेशनो की बोली लगाने की आखिरी घोषित 

रेलवे बोर्ड के सीईओ और चेयरमैन वीके यादव ने हाल में कहा था कि यूजर फीस से आम यात्रियों को परेशानी नहीं होगी। यूजर फीस के बारे में अगले महीने अधिसूचना जारी हो सकती है। रेलवे ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के पुनर्विकास के लिए निजी कंपनियों से बोली स्वीकार करने की अंतिम तिथि 6 नवंबर तय की है। यूजर फीस इन कंपनियों के लिए एक तरह से रेवेन्यू की गारंटी होगा। रेल मंत्रालय कैबिनेट की मंजूरी के लिए जो प्रपोजल बना रहा है, उसके मुताबिक यात्रा करने के बाद भी यात्री को यूजर फीस देनी होगी। साथ ही अगर आप किसी को छोड़ने या लेने रेलवे स्टेशन गए हैं तो आपको प्लेटफॉर्म टिकट के अलावा विजिटर फीस भी चुकानी पड़ सकती है। नकदी संकट से जूझ रही रेलवे पीपीपी मोड पर 50 स्टेशनों को रिडेवलप करने के लिए फंड जुटाने के वास्ते यात्रियों पर यूजर फीस लगाने की योजना बना रही है। प्रपोजल के मुताबिक ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों से यूजर फीस के 50 फीसदी के बराबर रकम वसूल की जाएगी। इसी तरह प्लेटफॉर्म टिकट खरीदने वालों सो 10 रुपये विजिटर फीस भी ली जाएगी।

भारतीय रेल की यात्रा और मंहगी होने वाली है। रेलवे बड़े स्टेशनों पर यूजर फीस वसूलने की तैयारी में है। यह ट्रेन टिकट का हिस्सा होगा। लेकिन सभी यात्रियों के लिए यूजर फीस बराबर नहीं होगी। सूत्रों का कहना है कि एसी कोच में यात्रा करने वालों को ज्यादा यूजर फीस चुकानी होगी। एसी1 में यात्रा करने वालों को 30 रुपये यूजर फीस के तौर पर देने पड़ सकते हैं। एसी2 और एसी3 में यात्रा करने वालों के लिए यूजर फीस कम होगी जबकि स्लीपर क्लास के यात्रियों के लिए मामूली होगी। जानकारी के अनुसार मिनिमम यूजर फीस 10 रुपये होगी। रेल मंत्रालय इस बारे में एक प्रपोजल पर काम कर रहा है जिसे जल्दी ही मंजूरी के लिए कैबिनेट में रखा जाएगा। सूत्रों के मुताबिक इस बात पर चर्चा चल रही है कि क्या गैर आरक्षित श्रेणी और उपनगरीय रेल यात्रियों से मिनिमम यूजर फीस वसूली जाए या उन्हें इससे मुक्त रखा जाए। पीएलसी।PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment