Saturday, January 18th, 2020

रुस में निष्पक्ष चुनाव की मांग

    

मॉस्को । मॉस्को में निष्पक्ष चुनाव की मांग को लेकर एक बार फिर प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए हैं। इस दौरान पुलिस ने करीब 1 हजार से अधिक प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया है। इस दौरान कई प्रदर्शनकारी गंभीर रुप से घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 


प्रदर्शनकारी बैलट पेपर से मुख्य विपक्षी नेताओं के नाम हटाने के फैसले को वापस लेने की मांग कर रहे थे। मॉस्को पुलिस ने बताया कि राजधानी में अनधिकृत प्रदर्शन के लिए 1074 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, शनिवार को अनधिकृत रैली के लिए लगभग 3,500 लोग सड़कों पर उतर आए थे। बता दें कि रूस में विपक्षी नेता नेवेलनी और क्रेमलिन विरोधी अन्य नेताओं ने 27 जुलाई को मेयर के कार्यालय के निकट एक विशाल रैली निकालने की चेतावनी दी थी।
इससे पहले रूस में मुख्य विपक्षी नेता एलेक्सी नेवेलनी को बुधवार को गिरफ्तार कर 30 दिन के लिए जेल भेज दिया गया है। हाल के दिनों में नेवेलनी और उनके समर्थकों ने संसदीय चुनाव को लेकर मॉस्को में कई विरोध प्रदर्शन किए और रैलियां निकाली हैं। पिछले शनिवार को एक ऐसी ही रैली में 22 हजार से अधिक लोगों ने मॉस्को में विरोध प्रदर्शन किया था। 
प्रदर्शनकारियों ने मांग की कि निर्दलीय उम्मीदवारों को भी 8 सिंतबर को होने वाले संसदीय चुनाव लड़ने की अनुमति दी जाए। मॉस्को मुख्यालय में नेवेलनी के संयोजक ओलेग स्टेपानोव ने कहा है कि उन्हें भी हिरासत में लिया गया है। विपक्षी नेताओं के खिलाफ यह कार्रवाई इसलिए की जा रही है क्योंकि वह सितंबर में होने वाले संसदीय चुनाव मतपत्रों से कराने की मांग कर हैं, जिसे राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन नकार चुके हैं। शनिवार को प्रदर्शन की सूचना मिलते ही सेंट्रल मॉस्को में जगह-जगह पुलिस सुरक्षा मुस्तैद कर दी गई थी और पुलिस ने सिटी हॉल के बाहर के इलाके को बंद कर दिया था, जहां प्रदर्शनकारी इकट्ठा होने की योजना कर रहे थे। इससे प्रदर्शनकारियों को सड़कों पर उतरना पड़ा। PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment