Close X
Friday, April 3rd, 2020

राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी की कोई तुलना नहीं,राहुल मोदी के स्तर तक कभी नहीं गिर सकते: जयराम रमेश

download (8)आई एन वी सी,

दिल्ली,

नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी में कौन ज़्यादा अच्छा और सच्चा है इसे साबित करने की होड़ बीजेपी और कांग्रेस में आन की लड़ाई की तरह लड़ी जा रही है। हर दिन कुछ ना कुछ नया शगुफा दोनोँ पार्टियोँ की तरफ से छोड़ा जाता है, जो एक नई गर्मागर्म बहस को जन्म देता है। इसी कड़ी में केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश का कहना है कि भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी "बेहद अपमानजनक और भद्दी टिप्पणियों वाली गटर की राजनीति" करना चाहते हैं। एक चैनल से बातचीत में जयराम रमेश के इस बयान पर राजनैतिक हलकों में बवाल मच गया है।रमेश ने कहा कि मोदी जैसी भाषा और झूठ का इस्तेमाल कर रहे हैं उससे राजनीति और गटर के बीच लकीर खत्म हो जाएगी। हालांकि, कभी जयराम रमेश ने नरेंद्र मोदी को जबर्दस्त कैंपेनर बताया था। तब कांग्रेस में रमेश के खिलाफ आवाज़ भी उठी थी। कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद सत्यव्रत चतुर्वेदी ने तो यहां तक कह दिया था कि रमेश को कांग्रेस छोड़ बीजेपी को जॉइन कर लेना चाहिए। इसके बाद से रमेश मोदी पर लगातार कड़ी टिप्पणी कर रहे हैं।  बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेंद्र मोदी का बहराइच में भाषण उत्तर प्रदेश के कद्दावर मंत्री और समाजवादी पार्टी के मुस्लिम चेहरे मोहम्मद आज़म खान को नागवार गुज़रा है! आजम ने कहा, ‘भाषण तो वाजपेयी जी और आडवाणी जी भी देते थे, लेकिन बातचीत का मयार कभी इतना नहीं गिरा! प्रधानमंत्री पद का दावेदार एक नगर पालिका में 24 घंटे बिजली आने को मुद्दा बना रहा है! वे पीएम के लिए खड़े हैं कि पार्षद के लिए! उन्होंने बहुत छिछोरी बात कही!’दरअसल अपने भाषण में मोदी ने कहा था, ‘एक खान साहब हैं, उनके यहां भी 24 घंटे बिजली आती है! उन्होंने मोदी के इस बयान पर भी ऐतराज़ जताया जिसमें उन्होंने अखिलेश यादव द्वारा गुजरात से शेर मांगने की बात कही थी! आज़म ने कहा कि गुजरात से जानवर ही मांगे जा सकते थे और वही हमारे मुख्यमंत्री ने गुजरात से मांगे! ​कांग्रेस के मंत्री मोदी को लगातार निशाने पर रख रहे हैं, वहीं राहुल गांधी अपनी रैलियों में मोदी पर सीधा बोलने से परहेज कर रहे हैं। चैनल से बातचीत के दौरान जयराम रमेश से पूछा गया कि राहुल गांधी क्यों नहीं मोदी को डायरेक्ट जवाब देते हैं? इस पर रमेश ने कहा, मोदी जिस स्तर की बातें करते हैं, उसे देखते हुए उन्हें नहीं लगता कि राहुल कभी मोदी के साथ तू-तू-मैं-मैं करने के लिए तैयार होंगे। बीजेपी रमेश के इस बयान से बेहद नाराज़ है लेकिन उनकी प्रतिक्रिया बेहद सधी हुई आ रही है। पार्टी की प्रवक्ता  निर्मला सीतारमण ने ट्वीट किया, 'पॉलिटिक्स ऑफ गटर'मिस्टर जयराम रमेश? तब क्या हुआ था जब आपकी पार्टी ने उन्हें मौत का सौदागर कहा था?' निर्मला सीतारमण ने अपने ट्वीट में सोनिया गांधी की उस टिप्पणी का हवाला दिया जिसमें 2007 के गुजरात इलेक्शन कैंपेन में उन्होंने मोदी को 'मौत का सौदागर' कहा था। सोनिया गांधी की इस टिप्पणी के बाद तब काफी बवाल हुआ था। सोनिया गांधी ने मोदी पर 2000 के दंगों को लेकर निशाना साधा था। सोनिया गांधी की यह टिप्पणी मोदी के पक्ष में गई थी और कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था। बीजेपी के एक और प्रवक्ता प्रकाश जावेडकर ने कहा कि रमेश के बयान से साफ है कि कांग्रेस देश की असली समस्या पर सीधी बात करने में डर रही है। जावेडकर ने कहा कि मोदी आवाम से जुड़े जिन सवालों को उठा रहे हैं, कांग्रेस उनका जवाब क्यों नहीं देती? उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मोदी पर हमले के बजाय देश की जनता को बताना चाहिए कि महंगाई कब थमेगी।

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment