Thursday, November 14th, 2019
Close X

राष्ट्र की प्रगति के लिए देशभक्ति की भावना जरूरी है : राज्यपाल

Governor with NCC cadatआई एन वी सी न्यूज़ छत्तीसगढ़, राज्यपाल श्री बलरामजी दास टण्डन ने आज यहां राजभवन में एन.सी.सी. कैडेटों को संबोधित करते हुए कहा कि यदि राष्ट्र के युवाओं में देशभक्ति का जज्बा और स्व अनुशासन हो तो वह देश प्रगति के पथ पर निरंतर बढ़ता जाता है। उन्होंने कहा कि आजादी को कायम रखने के लिए सतत् जागरूक और तत्पर रहना जरूरी है। श्री टण्डन ने एन.सी.सी. के ‘एट होम फंक्शन’ में उपस्थित प्रतिभाशाली और जांबाज कैडेटों को गणतंत्र दिवस परेड 2015 एवं अन्य शिविरों में उल्लेखनीय कार्य के लिए हार्दिक बधाई दी। कार्यक्रम में सचिव, स्कूल शिक्षा श्री सुब्रत साहू, एन.सी.सी. छत्तीसगढ़ के ग्रुप कमाण्डर श्री आई.जी. एस. चौहान सहित अन्य अधिकारी एवं कैडेट उपस्थित थे। राज्यपाल श्री टण्डन ने कहा कि राज्य के लिए यह गर्व की बात है कि हमारे कैडेटों ने अनेक महत्वपूर्ण शिविरों में उत्साहपूर्वक भाग लिया और अपनी उपलब्धियों से राज्य का नाम रोशन किया। उन्होंने कहा कि एन.सी.सी. के जरिए युवाओं में अनुशासन और देशभक्ति की भावना जागृत होती है। हमें स्व अनुशासन को जीवन का अभिन्न हिस्सा बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश के युवाओं को, नागरिकों को हमेशा जागरूक रहना चाहिए, जिससे देश के बाहरी और भीतरी, दोनों प्रकार के शत्रुओं से निपटा जा सके। श्री टण्डन ने इजराइल देश का उदाहरण देते हुए बताया कि एक छोटे से देश के नागरिकों में देशभक्ति की प्रबल भावना होने के कारण ही पड़ोसी शक्तिशाली देश उसे पराजित नहीं कर सके। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में हाल ही में आई प्राकृतिक आपदा के दौरान सेना द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्य का स्मरण कराया और युवा कैडेटों को इसी तरह देशभक्ति की भावना से कार्य करने की समझाईश दी। राज्यपाल श्री टण्डन ने इंटरग्रुप मुख्यालय आर.डी.सी. प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ के एकमात्र ग्रुप मुख्यालय रायपुर को प्रथम आने पर शील्ड प्रदान किया। कार्यक्रम में एन.सी.सी. कैडेटों ने लोकनृत्य, देशभक्ति गायन एवं मनमोहक नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। इस वर्ष रायपुर ग्रुप को जी.व्ही. मावलंकर इंटरग्रुप शूटिंग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। यूथ एक्सचेंज कार्यक्रम के तहत इस वर्ष छत्तीसगढ़ के दो कैडेटों सीनियर अंडर ऑफिसर पिंकी कुमारी और कैडेट प्रशांत तिवारी का चयन सिंगापुर और बांग्लादेश जाने के लिए हुआ था।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment