मुर्तज़ा किदवई

नई दिल्ली.  केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल मलेशिया के कुआलालम्पुर में 15 से 18 जून  तक आयोजित होने वाले राष्ट्रमंडल देशों के शिक्षा मंत्रियों के 17वें सम्मेलन में भाग लेने वाले भारतीय शिष्टमंडल का नेतृत्व करेंगे। राष्ट्रमंडल देशों के शिक्षा मंत्रियों के सम्मेलन के 50वें वर्षगांठ पर यह सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। भारत को एक ऐसे युवा लोगों के राष्ट्र के रूप में देखा जा रहा है जहां काम में लगे 15-64 वर्ष के लोगों की अनुमानित जनसंख्या 67 करोड़ 20 लाख है। कपिल सिब्बल इस महत्त्वपूर्ण जनसंख्या संबंधी तथ्य को उजागर करेंगे जिसके कौशल के दम पर राष्ट्रीय और वैश्विक दोनों स्तरों पर आर्थिक विकास में योगदान मिल सकता है।
 
 इस सम्मेलन का मूल विषय है-राष्ट्रमंडल देशों में शिक्षा : वैश्विक लक्ष्यों की ओर तथा उसके पार। इस सम्मेलन में राष्ट्रमंडल देशों के शिक्षा मंत्री, वरिष्ठ अधिकारी और प्रतिनिधि एक साथ होंगे। यह सम्मेलन एक ऐसे मंच के रूप में काम करेगा जिसमें कॉमनवेल्थ यूथ फोरम, कॉमनवेल्थ टीचर्स फोरम, कॉमनवेल्थ स्टेकहोल्डस फोरम और कॉमनवेल्थ ऑफ लर्निंग, एसोसिएशन ऑफ कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटिज आदि जैसी आधिकारिक संस्थाओं के प्रतिनिधि भाग लेंगे। कार्यसूची में जिन विषयों पर भी चर्चा होना शामिल है, उनमें  वैश्विक आर्थिक मंदी के संदर्भ में सफलताएं और उभरती चुनौतियां, महिला शिक्षा के वैश्विक लक्ष्य : एक निरंतर चुनौती, सम्मान और समझदारी के लिए शिक्षा: सम्मिलित तथा समानता, प्राथमिक शिक्षा के बाद के प्रावधान की चुनौती, राष्ट्रमंडल कार्यक्रम और राष्ट्रमंडल छात्रवृत्ति शामिल हैं.
 
इस अवसर पर शिक्षा के क्षेत्र में सद्व्यवहार पर एक पुरस्कार समारोह आयोजित किया जा रहा है। यह सम्मेलन प्रत्येक तीन वर्ष के बाद आयोजित किया जाता है और पिछला सम्मेलन वर्ष 2006 में दक्षिण अफ्रीका के केप टाउन में आयोजित किया गया था।

10 COMMENTS

  1. BKR problemen? Nu Geld lenen zonder BKR toetsing? Op zoek naar betrouwbare aanbieders? Wij vergelijken banken die u toch kunnen helpen aan een betrouwbare

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here