आई.एन.वी.सी,,
जयपुर,,
मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए हर-सम्भव प्रयास कर रही है, उन्होंने बताया कि राज्य की खेल नीति प्रक्रियाधीन  है और यह नीति मार्च 2013 से पहले बनकर तैयार हो जाएगी। मुख्यमंत्री आज यहां विद्याधर नगर स्टेडियम में राज्य स्तरीय ’पायका’ (पंचायत युवा क्रीड़ा एवं खेल अभियान) खेल-कूद प्रतियोगिता का शुभारम्भ और राज्य सरकार की और लंदन ओलम्पिक पदक विजेता खिलाडिय़ों को नगद पुरस्कार राशि वितरित कर रहे थे। उन्होंने ’’पायका’’ खेलों की विधिवत घोषणा की। पायका एक केन्द्र प्रवर्तित योजना है। इसका उद्वेश्य ग्राम पंचायत स्तर पर खेलों का आधारभूत ढ़ाचा तैयार करना एवं खेल उपकरण उपलब्ध करवाते हुए ग्रामीण इलाकों में ब्लॉक, जिला, राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर खेल प्रतियोगिताओं के जरिए खेलों को प्रोत्साहित करना है। श्री गहलोत ने विजेता खिलाडिय़ों को बधाई देते हुए कहा कि राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर खिलाडिय़ों को जो पुरस्कार राशि दी जा रही हैै, वो उनकी प्रतिभा एवं मेहनत की है। इससेे उनकी हौंसला अफजाई होगी और आने वाले वक्त में खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने खेलों को बढ़ावा देने के लिये ’पायका का अभिनव’ प्रयोग किया है। इस दिशा में राजस्थान सरकार भी आगे बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला एवं राज्य स्तर पर खेलों का वो माहौल नहीं मिलता जो पहले देखने को मिलता था। उन्होंने कहा कि पहले तहसील, जिला स्तर पर खेल प्रतियोगिताएं होती थी। उन्होंने समाज, खेलों से जुड़ी संस्थाओं, औद्योगिक घरानों आदि का आह्वान किया कि वे खेलों को बढ़ावा देने के लिए आगे आये। सरकार इन्हें प्रोत्साहन देने के लिए हर-संभव प्रयास करेंगी। उन्होंंने घोषणा की कि राज्य सरकार द्वारा जिला संघों को 50 लाख रुपये की राशि उपलब्ध कराई जायेगी, जिससे गांवों एवं पंचायत स्तर पर खेलों को प्रोत्साहन मिल सकें। उन्होंने बताया कि देश में पहली फिजिकल एजुकेशन एडं स्पोट्र्स युनिवर्सिटी, झुन्झुनूं में स्थापित की जा रही है। जैसलमेर में बॉस्केटबॉल अकादमी, करौली में कबड्डी अकादमी, कोटा में नौकायन अकादमी की स्थापना के लिए 50-50 लाख रुपये उपलब्ध कराये जायेंगे। महिला खिलाडिय़ों को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्टस पटियाला से डिप्लोमा करने के लिए राज्य सरकार द्वारा 1000 रुपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति दी जा रही है। उन्होंने बताया कि बूंदी, चूरु, झुंझुनूं, पाली, अलवर, मकराना-नागौर, चित्तौडग़ढ़ और हनुमानगढ़ में खेल संकुल बनाने के लिये 16 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इस अवसर पर खेल राज्य मंत्री श्री मांगीलाल गरासिया ने कहा कि राज्य सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्घ है और इसी प्रतिबद्घता के तहत 17 जिला मुख्यालयों एवं 6 उपखंड मुख्यालयों पर स्पोटर््स कॉम्पलेक्स बनाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने  बजट-2012  में  उपखंड  स्तर पर  खेल स्टेडियमों के सुधार के लिए 10 लाख रुपये का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि खेल एवं खिलाडिय़ों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेताओं की दी जाने वाली पुरस्कार राशि बढ़ाकर दस गुना कर दी गई है। राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री शिवचरण माली ने कहा कि खेलों एवं खिलाडिय़ों को आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयास ऐतिहासिक हैं। उन्होंने कहा कि कॉमनवेल्थ खेलों में भाग लेने वाले 22 खिलाडिय़ों को राज्य सरकार की ओर से तैयारी के लिए 1-1 लाख रुपये दिये गये। उन्होंने कहा कि पायका के तहत ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तर पर आयोजित हो रही विभिन्न प्रतियोगिताओं से प्रदेश में स्कूली स्तर पर खिलाड़ी तैयार होंगे जो आगे जाकर प्रदेश का नाम रोशन करेंगे। राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद के सचिव श्री एम. पी. वर्मा ने कहा कि पायका खेलों को बढ़ावा देने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा राज्यों के सहयोग से संचालित किया जा रहा महात्वाकांक्षी अभियान है जिसके तहत देशभर में करीब ढ़ाई लाख पंचायतों में खेलों की आधारभूत संरचना तैयार की जाएगी एवं वहां खेलों का विकास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आज से शुरू हुई राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में पूरे प्रदेश के ग्रामीण अंचल से चुनकर आये बालक-बालिका हिस्सा ले रहे हैं।  अंत में युवा मामले एवं खेल विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री मनोहरकांत ने धन्यवाद ज्ञापित किया।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने लंदन ओलम्पिक 2012 में 66 किलोग्राम फ्री स्टाइल कुश्ती स्पर्धा में रजत पदक विजेता श्री सुशील कुमार एवं निशानेबाजी में 25 मीटर रैपिड-फायर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक विजेता श्री विजय कुमार को 50-50 लाख रुपये के इनामी राशि के चैक भेंट किये एवं साफा पहनाकर सम्मान किया। श्री गहलोत ने निशानेबाजी की 10 मीटर एयर रायफल स्पर्धा में कांस्य पदक विजेता श्री गगन नारंग, 60 किलोग्राम फ्री-स्टाइल कुश्ती में कांस्य पदक विजेता श्री योगेश्वर दत्त, बॉक्सिंग की 51 किलो फ्लाई वेट स्पर्धा में कांस्य पदक विजेता श्रीमती एम. सी. मेरीकॉम तथा बैडमिंटन में कांस्य पदक विजेता सुश्री सायना नेहवाल को 25-25 लाख रुपये की इनामी राशि के चैक भेंट किये। श्री योगेश्वर दत्त की ओर से उनके भाई श्री परमेश्वर, श्रीमती एम.सी. मेरीकॉम की ओर से उनके पति श्री के. ओनखोलर तथा सुश्री सायना नेहवाल की ओर से उनके मैनेजर श्री रोहन मल्होत्रा ने इनामी राशि का चैक ग्रहण किया। मुख्यमंत्री ने लंदन ओलम्पिक के डिस्कस थ्रो में 7 वां स्थान प्राप्त कर प्रदेश का नाम रोशन करने वाली एथलीट श्रीमती कृष्णा पूनिया को 21 लाख रुपये जबकि नौकायन स्पर्धा में भाग लेने वाले श्री संदीप कुमार को 5 लाख रुपये की इनामी राशि के चैक भेंट किये। श्री गहलोत ने विद्याधर नगर स्थित राजीव गांधी खेल संकुल का पट्टिका अनावरण कर लोकार्पण भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here