Wednesday, August 12th, 2020

राज्यसभा , चेयरमैन इत्यादि बनाने के नाम पर कर रहे थे ठगी - टोकन मनी लेते ही हुए गिरफ्तार

जयपुर. राज्यसभा चुनावों (Rajya Sabha Elections) में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए राजस्थान (Rajasthan) स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के अभियान में दो ठगों को गिरफ्तार किया गया है. आरोप है कि दोनों ठग लोगों को राज्यसभा सदस्य बनाने, बोर्ड व निकायों के चेयरमैन का पद दिलवाने के साथ-साथ सरकारी नौकरियों में नियुक्ति और ट्रांसफर पोस्टिंग के नाम पर मोटी रकम ऐंठते थे. एसओजी राजस्थान को जानकारी मिली कि भरतपुर निवासी राजवीर और भीलवाड़ा निवासी योगेन्द्र राज्यसभा सदस्य के रूप में नियुक्ति दिलाने के नाम पर 70 करोड़ रुपए की मांग कर रहे हैं. इसके बाद आगे की कार्रवाई शुरू की गई.


दोनों आरोपियों द्वारा एफसीआई/यूथ बोर्ड चेयरमैन और राज्यसभा सदस्य बनवाने के नाम पर सौदे की बातचीत की जा रही थी. दोनों आरोपी परिवादी से यूथ बोर्ड का चेयरमैन बनाने के नाम पर मोटी रकम वसूल रहे थे. आरोपी राजवीर और योगेन्द्र ने परिवादी को राज्यसभा सदस्य बनवाने के लिए 70 करोड़ रुपए की मांग की. एसओजी अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनिल पालीवाल ने बताया की परिवादी की शिकायत पर एसओजी ने आरोपियों को टोकन मनी लेते गिरफ्तार किया.

इसलिए रची साजिश
एसओजी की प्रारंभिक पूछताछ में भरतपुर निवासी आरोपी राजवीर ने बताया कि उसके उपर कर्ज होने के कारण उसने लोगों से मोटी रकम ठगने की साजिश रची थी. इसके लिए वो बोर्ड, निकाय, बीज निगम के साथ साथ सरकारी नौकरियों में भर्ती करवाने, ट्रांसफर पोस्टिंग करवाने के नाम पर मोटी रकम वसूलता था. उसके बातचीत के तरीके और प्रभाव के चलते लोग उसके झांसे में आ जाते थे. एसओजी दोनों आरोपियों से गहनता से पूछताछ कर रही है. इस मामले में कुछ और लोगों के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है. साथ ही ठगी के दूसरे मामलों में इनसे पूछताछ की जा सकती है. पीएलसी।PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment