Sunday, December 15th, 2019

राज्यपाल ने ‘औली’ में हिमक्रीड़ा स्थल का जायजा लिया

01आई एन वी सी न्यूज़ देहरादून, उत्तराखण्ड के राज्यपाल डा0 कृष्ण कांत पाल ने आज जनपद चमोली के ‘हिमक्रीड़ा/स्नो-स्कीइंग’ के लिए प्रसिद्ध‘औली’ क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने इस पूरे क्षेत्र को शीतकालीन साहसिक पर्यटन के लिए सर्वाधिक उपयुक्त स्थान बताते हुए कहा कि यहाँ पर्यटन के विकास की अपार संभावनाएं हैं। इसके लिए पर्यटकों तथा हिमक्रीड़ा प्रेमियों/खिलाडि़यों हेतु सभी आवश्यक सुविधाओं का विस्तार किया जाना जरूरी है। औली में निर्मित कृत्रिम झील का निरीक्षण करने के दौरान राज्यपाल ने झील के किनारे पर्यटकों के बैठने हेतु ग्लास हाउस तथा समुचित प्रकाश व्यवस्था के लिए सौर ऊर्जा संयंत्र लगाये जाने का सुझाव दिया। राज्यपाल ने चेयर लिफ्ट से पूरे परिक्षेत्र का अवलोकन किया, साथ ही आई.टी.बी.पी के ग्लास हाउस से हिमाच्छादित चोटियों का विहंगम दृश्य भी देखा। प्रकृति के सौंदर्य से अभिभूत राज्यपाल ने इस पूरे इलाके को अद्भुत बताया। इस क्षेत्र में इस बार कम हुए हिमपात को उन्होंने वैश्विक स्तर पर हो रहे जलवायु परिवर्तन का परिणाम बताया। इस दौरान राज्यपाल ने हिमक्रीड़ा स्थल घूमने आये हुए पर्यटकों के साथ बातचीत कर यहाँ के बारे में उनकी राय जानी जो बहुत उत्साहजनक थी। औली में आई.टी.बी.पी के जवानों द्वारा ‘गार्ड आॅफ आॅनर’ देकर राज्यपाल का स्वागत किया गया और उन्हें स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया। राज्यपाल के साथ उनके विशेष कार्याधिकारी एवं सचिव अरूण कुमार ढांैडियाल तथा परिसहाय जन्मेजय खण्डूरी थे। राज्यपाल के विजिट के दौरान जिलाधिकारी चमोली विनोद कुमार सुमन, पुलिस अधीक्षक सुनील कुुमार मीणा, आई.टी.बी.पी के डिप्टी कमांडेन्ट व स्थानीय अधिकारी भी मौजूद थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment