आई एन वी सी न्यूज़
नई दिल्ली,
उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री भंवर सिंह भाटी को नई दिल्ली में आयोजित 14वीं वल्र्ड एजुकेशन समिट में वल्र्ड एजुकेशन लीडरशिप अवार्ड दिया गया। यह अवार्ड राजस्थान में उनके नेतृत्व में हो रहे विभिन्न नवाचारों और योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए दिया गया है। राजस्थान को कॉलेज एजुकेशन में बेस्ट इनोवेशन एंड स्किल इनिशिएटिव के लिए भी अवार्ड दिया गया है।

इस कार्यक्रम के दूसरे दिन उद्घाटन सत्र में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए उच्च शिक्षा मंत्री श्री भाटी ने कहा कि देश को ऎसी शिक्षा और शिक्षक की आवश्यकता है जो समाज के हितसाधक हो और युवा शक्ति का मार्गदर्शन कर सकें। उन्होंने नई शिक्षा नीति को राज्य में लागू करने से पूर्व केंद्र सरकार को राज्यों के हितों को ध्यान में रखकर संशोधन के लिए अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि राजस्थान जैसे राज्यों को उच्च शिक्षण संस्थानों की स्थापना एवं उनके मानदंड सुनिश्चित करने की स्वायत्तता होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने गुणात्मक शिक्षा के हर संभव प्रयासों की आवश्यकता पर बल दिया तथा इसे बदलते आर्थिक एवं वैश्विक परिदृश्य में महत्वपूर्ण बताया।

श्री भाटी ने राजस्थान में उच्च शिक्षा में किये गए प्रयोगात्मक नवाचारों की सराहना करते हुए कहा कि हमारी सरकार युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखकर आगे बढ़ रही है। छात्रों के लिए कॉलेज शिक्षा के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी की फ्री सुविधा, खेलकूद गतिविधियों को सभी कॉलेजों में मिशन मोड में आयोजित करवाना, लड़कियों को संस्थानों में भयमुक्त, सुरक्षित एव स्वस्थ वातावरण उपलब्ध करवाया जा रहा है। राज्य सरकार विद्यार्थियों को हर संभव निःशुल्क सुविधा उपलब्ध करवा रही है। छात्राओं को निःशुल्क शिक्षा की सुविधा के साथ राजस्थान ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ को साक्षात कर रहा है।

कार्यक्रम में राज्य मंत्री श्री भाटी ने राजस्थान में तीसरे हायर एजुकेशन एंड एचआर कॉन्क्लेव के नवम्बर में आयोजन की घोषणा की। उन्होंने सभी कॉरपोरेट एवं एजेंसीज को जयपुर के इस इवेंट के लिए आमंत्रित करते हुए पोस्टर का विमोचन किया। कार्यक्रम में राज्य के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा शासन सचिव श्री वैभव गालरिया, कॉलेज शिक्षा आयुक्त श्री प्रदीप बोरड़ भी उपस्थित थे।