Tuesday, February 25th, 2020

रमजान में विद्युत बोर्ड आपूर्ति पर ख़ास ख्याल रखे :- नीतीश कुमार

आई.एन.वी.सी. पटना, नीतीश कुमार ने पवित्र रमजान माह के प्रारंभ होने के अवसर पर राज्य की जनता को हादिZक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि रमजान का महीना तपस्या का महीना है। मुस्लिम भाई-बहन पूरे महीने रोजा रखते हैं और सेहरी के बाद से इफ्तार तक कोई भी अन्न-पानी नहीं ग्रहण करते हैं। गर्मी के माह में इस तरह का अनुष्ठान और भी कठिन हो जाता है। उन्होंने कहा कि बिजली बोर्ड को गत वर्ष की भॉति इस वर्ष भी निदेश दिया जा रहा है कि रमजान के महीने को ध्यान में रखकर विद्युत आपूर्ति पर विशेष ध्यान रखे ताकि रोजेदारों को सहूलियत हो और उन्हें इस महीने में कम से कम तकलिफ का एहसास हो। उन्होंने कहा कि वे भी समय-समय पर आदेश के अनुपालन की समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री आज जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद पत्रकारों के साथ बातें कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने एक प्रश्न के उतर में कहा कि किसी भी स्रोत से उन्हें कोई भी शिकायत मिलती है तो वे इसका संज्ञान लेते हैं। पुलिस के द्वारा एफ0आई0आर0 नहीं दर्ज करने की शिकायत मिलने पर जनता दरबार में भी विधि संगत ढ़ंग से एफ0आई0आर0 दर्ज करायी जाती है। उन्होंने कहा कि उन्होंने पुलिस विभाग की समीक्षा की है और निदेश दिया है कि राज्य, जिला स्तर पर नहीं, बल्कि थाना स्तर तक यह मूल्याकंन किया जाय कि अपराध और विधि व्यवस्था की क्या स्थिति है। यदि किसी भी पुलिस अधिकारी या पुलिस बल के द्वारा सुस्ती या कर्तव्यपालन नहीं किए जाने का मामला मिलता है तो उन पर कार्रवाई किए जाने का निदेश दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर स्तर पर पुलिस अधिकारियों के परफॉर्मेंस का मूल्यांकन उनके वरीय अधिकारियों के माध्यम से कराए जाने का निदेश दिया गया है। वरीय अधिकारी मूल्यांकन के आधार पर ही परफॉर्मेंस के लिए अंक दें। प्रक्रिया के तहत ही मूल्यांकन उच्च स्तर तक पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी शिकायत को जेनरलाइज्ड नहीं किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कभी ऐसा दावा नहीं किया है कि राज्य में आदर्श व्यवस्था कायम हो गई है किंतु राज्य के लोग विधि व्यवस्था एवं अपराध नियंत्रण की दिशा में पहले की तुलना में बड़ा फर्क आया है, ऐसा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अपराध चाहे किसी भी तरह का हो, इसका विश्लेषण हम अपराध अनुसंधान विभाग से कराते हैं और पुलिस मुख्यालय में मॉनिटरिंग की व्यवस्था करायी गई है। शिकायत आने पर सख्त कार्रवाई की जाती है। विधि व्यवस्था को सुदृढ़ और चुस्त-दुरूस्त किए जाने का निरंतर प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि जिस स्रोत से भी यहॉ तक कि मीडिया से भी जो खबरें आती हैं, उस पर भी वे संज्ञान लेते हैं और तत्क्षण कार्रवाई कराते हैं। लोगों से प्राप्त सूचनाओं का वे लाभ उठाते हैं और इसका उपयोग राज्य हित में करते हैं। बियाडा भूमि आवंटन मामले पर पूछे गए एक प्रश्न के उतर में उन्होंने कहा कि इस मामले में उनकी नज़र में सी0बी0आई0 से जॉच कराने का कोई बिंदू होता तो वे अवश्य कराते लेकिन लोकतांत्रिक व्यवस्था में यदि किसी संस्था को जॉच का विषय लगता है तो वे निदेश दे। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में सारे तथ्य सामने आ चुके हैं। कोई भी अनियमितता की संभावना नहीं दिखी है। यदि कोई मामला आएगा तो सख्त कार्रवाई होगी।  उन्होंने कहा कि किसी भी मामले को विवादास्पद बनाए जाने का प्रयास नहीं किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने पुलिस बहाली की चर्चा करते हुए कहा कि जनसंख्या एवं पुलिस के अनुपात को राष्ट्रीय स्तर के अनुरूप लाए जाने के लिए बड़े पैमाने पर पुलिस बल की बहाली होगी। पॉच वर्ष में बहाली के लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस में रिक्तियॉ सेवानिवृति के कारण होती है तथा बैकलॉग की रिक्तियों के खाली रह जाने के कारण होती है। पुलिस में बहाली विधि संगत रूप से करायी जाएगी और जनसंख्या और पुलिस के अनुपात को राष्ट्रीय स्तर के अनुरूप किया जाएगा। एक प्रश्न के उतर में मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता ने उन्हें बोलने के लिए नहीं, काम करने के लिए चुना है। विपक्ष को अपने दायित्व का निर्वाह करना चाहिए। विपक्ष का मुख्य काम सरकार की कमियों को बताने का है। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजनाबद्ध रूप से राज्य के विकास को अवरोध करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों में आगे बढ़कर कुछ करने की इच्छा जगी है। आगे बढ़ने की जो भावना पैदा हो गई है, अब उसे कोई नहीं रोक सकता है। बिहार का आकर्षण बढ़ा है और निरंतर बढ़ता रहेगा। मुख्यमंत्री ने आज जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के अंतर्गत प्राप्त 1037 शिकायतों को बारी-बारी से सुना और शिकायतों के निष्पादन के लिए संबंधित अधिकारियों को निदेश भी दिया। इस अवसर पर राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री श्री रमई राम, प्रधान सचिव राजस्व डॉ0 सी0 अशोकवर्द्धन, प्रधान सचिव गृह श्री आमिर सुबहानी, पुलिस महानिदेशक श्री नीलमणि सहित सभी प्रमंडल के पुलिस महानिरीक्षक उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

ARHAAN, says on August 7, 2011, 4:46 PM

Bihar will progress in the guidence of Nitish ji, very well.Such the leaders want this country