Monday, July 6th, 2020

रक्षा और अनुसंधान पर खर्च में अपना ‘’कंजूसी का रवैया’’ छोड़ें : रक्षा मंत्री

NAVARMS-2013आई अन वी सी ,
दिल्ली ,
रक्षा मंत्री श्री ए. के. एंटनी ने आज सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों से जुड़े भारतीय उद्योग का आह्वान किया कि वे रक्षा और अनुसंधान पर खर्च में अपना ‘’कंजूसी का रवैया’’ छोड़ें। नौसैनिक हथियारों पर ‘नवआर्म्‍स-2013 शीर्षक से आज यहां एक अंतर्राष्‍ट्रीय सेमिनार और प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए, श्री एंटनी ने कहा कि सरकार सामरिक समझौतों और संयुक्‍त उद्यमों के लिए अपनी व्‍यावसायिक प्रक्रिया की दिशा बदलने के लिए उद्योग को प्रोत्‍साहित करना चाहती है। श्री एंटनी ने कहा कि भारतीय उद्योग सूचना और संचार प्रोद्योगिकी, इंजीनियर और निर्माण के क्षेत्र में विश्‍व स्‍तरीय बनने के करीब हैं। खरीद और निर्माण (भारतीय श्रेणी) की शुरुआत एक महत्‍वपूर्ण कदम है जिसे स्‍वदेशी को प्रोत्‍साहन देने के लिए तैयार किया गया है। 26 प्रतिशत के प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश भागीदारी के साथ रक्षा क्षेत्र को शत प्रतिशत भारतीय निजी क्षेत्र के लिए खोल दिया गया है। श्री एंटनी ने आशा व्‍यक्‍त की कि उद्योग धीरे धीरे संपूर्ण रक्षा उपकरण और व्‍यवस्‍था समाकलन और निर्माता की भूमिका संभाल लेगा

Comments

CAPTCHA code

Users Comment