Close X
Friday, November 27th, 2020

योगी सरकार पर प्रियंका गांधी के तेवर शख्त

वाराणसी । कांग्रेस महासचिव एवं उप्र प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा है कि सीएए के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वालो को जेल में रखा गया और उन पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि हम संघर्ष करते रहेंगे और देश की आवाज उठाते रहेंगे, सरकार जो कर रही है संविधान के खिलाफ है।


प्रियंका गांधी शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी थीं। उन्होंने सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान जेल गये कार्यकर्ताओं से बात करने के बाद पत्रकारों से बात भी की। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वालो को जेल में रखा गया, इनमें से एक एकता जी की छोटी बच्ची उनका इंतजार कर रही थी। मैं इन सब से मिलना चाह रही थी। इन लोगो ने मुझसे बात की और बताया कि कैसा कैसा हुआ उनके साथ, बहुत अन्याय हुआ है उन सबके साथ। शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे कोई ऐसी बात नही थी लेकिन सबको जेल में पटक दिया गया। पन्द्रह दिन वहां रखा और अलग-अलग उन पर गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया है। मुझे उन पर बहुत गर्व है कि इन लोगो ने इतना संघर्ष किया। हम संघर्ष करते रहेंगे और देश की आवाज उठाते रहेंगे सरकार जो कर रही है संविधान के खिलाफ है। इससे पहले अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को वाराणसी पहुंची और वहां से वह संत रविदास मंदिर में गयी जहां उन्होंने प्रार्थना किया। कांग्रेस महासचिव वहां से पंचगंगा घाट गयी जहां उन्होंने वहां स्थित श्रीमठ में पूजन एवं दर्शन किया। चार घंटे के कार्यक्रम में प्रियंका संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नगारिक पंजी के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं से संवाद किया। PLC.

 

कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी सूबे में लगातार सक्रिय हैं. नागरकिता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी को लेकर यूपी में हुए विरोध प्रदर्शन में यूपी पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किए गए प्रदर्शनकारियों से प्रियंका गांधी मुलाकात कर रही हैं. इस कड़ी में प्रियंका गांधी आज यानी शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंची हैं. यहां वो  बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों और सिविल सोसाइटी के सदस्यों से मुलाकात करेंगी. साथ ही प्रियंका यहां से बीजेपी और योगी सरकार को निशाने पर लेंगी.

प्रियंका गांधी ने रविदास मंदिर में की पूजा

प्रियंका गांधी ने वाराणसी के राजघाट स्थित रविदास मंदिर में दर्शन और पूजा की. इसके बाद पंचगंगा घाट पर पहुंचीं. हैं. प्रियंका गांधी सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान घायल हुए लोगों और बीएचयू के छात्रों से मुलाकात करेंगी. साथ ही सामाजिक कार्यकर्ताओं, युवाओं और महिलाओं से भी प्रियंका बात करेंगी.

प्रियंका छात्र संघ में जीते छात्रों से कर सकती हैं मुलाकात

उन्होंने बताया कि वाराणसी के संपूर्णानंद सांस्कृत विश्वविद्यालय में बुधवार को हुए छात्रसंघ चुनाव में जीते प्रत्याशियों से भी प्रियंका गांधी मिलेंगी. इस सांस्कृत विश्वविद्यालय के चुनाव में कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI ने जीत दर्ज की है. प्रियंका गांधी ने NSUI के जीतने पर ट्वीट कर बधाई दी थी.

बता दें कि बीएचयू बीते कई महीनों से विवादों में घिरा हुआ है. सितंबर 2017 में छेड़छाड़ को लेकर परिसर में हिंसा देखी गई और नवंबर 2019 में संस्कृत विभाग में मुस्लिम प्रोफेसर की नियुक्ति को लेकर लंबे समय तक विरोध प्रदर्शन चला. ऐसे में प्रियंका बीएचयू में छात्रों से अनौपचारिक रूप से मिलेंगी.


वाराणसी में 56 प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी

वाराणसी के बेनियाबाग इलाके में 19 दिसंबर को  नागरिकता कानून के विरोध में लोगों ने प्रदर्शन किया था. इस दौरान विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया था, जिसमें एक प्रदर्शनकारी की मौत भी हो गई थी. वाराणसी में धारा 144 लागू थी, जिसके चलते यूपी पुलिस ने यहां से 56 लोगों की गिरफ्तारी की थी. प्रदर्शनकारियों पर सरकार ने निषेधाज्ञा के उल्लंघन, हिंसा भड़काने जैसी धाराएं लगाई गई थीं. हाल ही में प्रदर्शनकारियों को कोर्ट से जमानत मिली है.

योगी सरकार पर प्रियंका गांधी के तेवर शख्त

प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में हाल के दिनों में योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ सबसे मुखर विपक्षी नेता के तौर पर उभरी हैं. प्रियंका इससे पहले 19 जुलाई को काशी आई थीं. उन्होंने सोनभद्र के उंभा गांव में जमीनी विवाद को लेकर हत्याकांड के पीड़ितों से बीएचयू के ट्रामा सेंटर में मुलाकात की थी और बाद में सोनभद्र भी गई थी. इससे पहले प्रियंका गांधी लोकसभा चुनाव के दौरान 16 मई को कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय के लिए रोड शो करने आयी थीं. लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान 20 मार्च को वे गंगा यात्रा करते हुए प्रयागराज से वाराणसी पहुंची थीं.

बता दें कि सोनभद्र में 11 ग्रामीणों की हत्या का मामला हो, या नागरिकता कानून के खिलाफ पुलिस एक्शन की. प्रियंका गांधी हर मुद्दे पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और यूपी की योगी सरकार पर हमलावर रही हैं. हाल ही में लखनऊ में प्रियंका गांधी ने प्रेस कॉफ्रेंस करके योगी सरकार के खिलाफ कई सवाल खड़े किए थे. PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment