Sunday, February 23rd, 2020

एनडीए पर भारी पड़ता है यूपीए सरकार का विकास : दिग्विजय सिंह

विक्रांत राजपूत भिवानी (हरियाणा).      पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा है कि यूपीए सरकार का विकास कार्यक्रम एनडीए के शासनकाल पर हर तरह से भारी पड़ता है। यूपीए सरकार ने सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू करके ये साबित कर दिया है कि केवल कांग्रेस पार्टी ही जनहितैषी कार्य कर सकती है। प्रधानमंत्री ग्रामीण गारंटी योजना से कमेरे वर्ग को आर्थिक सुरक्षा की भावना दी। सूचना का अधिकार देकर जनता को एक ऐसा अधिकार दिया है जिससे वे सरकार द्वारा किए गए किसी भी कार्य की जानकारी ले सकते हैं। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह आज कांग्रेस प्रत्याशी श्रुति चौधरी के चुनाव प्रचार के लिए स्थानीय पुराना बस स्टैंड पर आयोजित रैली को संबोधित कर रहे थे.  उन्होंने इनेलो पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने प्रदेश को विकास के मामले में बहुत पीछे धकेल दिया हैं और प्रदेश की जनता इन स्वार्थ की राजनीति करने वालो को भलीभांति पहचानती हैं। उन्होंने कहा वे अपने आपको सौभाग्यशाली समझते हैं कि उन्हें ऐसी धरती पर आने का मौका मिले जिसने स्व. चौ. बंसीलाल जैसे सपूत को जन्म दिया। यूपीए अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने श्रुति चौधरी को टिकट देकर इस इलाके के मान-सम्मान को बरकरार रखा है। सोनिया गांधी ने इलाके के विकास को महत्व देते हुए एक ऐसी प्रत्याशी आप लोगों को दी है जिसकी रगों में विकास की नीतियां लागू करने वाले स्व. चौ. बंसीलाल और स्व. चौ. सुरेन्द्र सिंह का खून बह रहा है। स्व. चौ. बंसीलाल ने जो इस इलाके में विकास करवाए थे उनकी बराबरी कोई नहीं कर सकता और अब इस इलाके का विकास केवल कांग्रेस पार्टी ही कर सकती है। चौ. बंसीलाल ने हरियाणा प्रदेश को पहला ऐसा प्रदेश बनाया जिसमें हर गांव बिजली और सड़क से जुड़ा। चौ. बंसीलाल स्व. इंदिरा गांधी के बहुत ही विश्वासपात्र थे। केन्द्र में बनने जा रही कांग्रेस सरकार हरियाणा प्रदेश को विकास के मामले में पीछे नहीं रहने देंगी। केवल कांग्रेस पार्टी ही केन्द्र में स्थाई सरकार दे सकती है। उन्होंने कहा कि स्व. चौ. बंसीलाल एक युगपुरूष के रूप में जाने जाते हैं। चौ. बंसीलाल और विकास एक दूसरे के पूरक हैं। उन्होंने कहा कि स्व. चौ. सुरेन्द्र सिंह के जाने का उन्हें व्यक्तिगत रूप से दुख है। चौ. सुरेन्द्र सिंह को राजनीति में बहुत आगे जाना था। जो क्षेत्रीय पार्टिया जाति-पाति फैला रही हैं उनका समाज के विकास से कोई लेना-देना नहीं है। बहुजन समाज पार्टी पर टिपण्णी करते हुए उन्होंने कहा कि ये पार्टी जनता के विकास की सोच भी नहीं सकती ये तो सिर्फ अपने स्वार्थ की ही राजनीति करती हैं।               संसदीय सचिव रमेश कौशिक ने श्रुति चौधरी को इस इलाके के लिए एक सशक्त नेता बताते हुए कहा कि स्व. चौ. बंसीलाल और स्व. चौ. सुरेन्द्र सिंह के बाद अगर कोई इस इलाके की आवाज को कोई उठा सकता है तो वो केवल श्रुति चौधरी है। इस इलाके के विकास की नीतियां केवल श्रुति चौधरी ही बना सकती है। प्रदेश कांग्रेस सरकार ने जो प्रदेश में विकास की नीतियां लागू की है उसी की बदौलत आज सभी दस सीटें कांग्रेस पार्टी ही जीतेंगी। इस इलाके की अपनी होने के कारण श्रुति चौधरी यहां की परेशानियों को भलीभांति समझ सकती है। इस इलाके के लोगों के साथ हमदर्दी इस इलाके की अपनी श्रुति चौधरी ही रखेंगी बाकि नेता तो केवल स्वार्थ की राजनीति से लोगों को बहकाने का प्रयास करेंगे।  विधायक शिवशंकर भारद्वाज ने कहा कि लोकसभा चुनाव निर्णायक मोड पर पहुंच चुका है और अगर विकास को आगे बढाना है तो कांग्रेस को मतदान करके श्रुति चौधरी को भारी बहुमत से संसद में भेजें। उन्होंने बीजेपी पर प्रहार करते हुए कहा कि इसके शासनकाल में तो भ्रष्टाचार को बढावा दिया गया। उन्होंने इनेलो और भाजपा गठबंधन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ये तो केवल स्वार्थ के लिए किया गया नापाक गठबंधन है जिसका कोई भविष्य नहीं है। उन्होंने कहा कि स्व. चौ. बंसीलाल युग पुरूष थे जिन्होंने विकास की एक धारा प्रदेश में शुरू की थी। जनता से श्रुति चौधरी के पक्ष में रिकार्ड मतदान करने की अपील करते हुए कहा कि यही जात-पात की राजनीति को बढ़ावा देने वालों को करारा जवाब होगा। उन्होंने कहा कि सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता जिनका कांग्रेस की नीतियों में विश्वास है वे श्रुति के पक्ष में प्रचार करें।  विधायक मेजर नृपेन्द्र ने कहा कि जनता अपने-पराए का भेद करते हुए कांग्रेस पार्टी के हाथ मजबूत करेगी ऐसा उनका विश्वास है और पिछले वर्षो में जनता को गुमराह करने वालों को अबकी बार करारा जवाब मिलेगा।   पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रो. छत्तरसिंह चौहान ने श्रुति चौधरी के पक्ष में मतदान की अपील करते हुए कहा कि स्व. चौ. सुरेन्द्र सिंह एक कर्मठ नेता थे जो दिन-रात इस इलाके की भलाई के लिए विकास की नीतियां बनाते रहते थे। इलाके के साथ हमदर्दी जो चौ. सुरेन्द्र सिंह ने दिखाई वो एक मिसाल कायम करती है।             पूर्व मंत्री अत्तरसिंह सैनी ने कहा कि श्रुति चौधरी ही केवल ऐसी प्रत्याशी है जो इस इलाके के मान-सम्मान को बरकरार रखते हुए विकास कार्यो को आगे बढा सकती हैं। इस इलाके की अपनी होने के कारण इस क्षेत्र की परेशानियों से ये जुडी हुई है और इनमें वो क्षमता है कि नीतिगत रूप से क्षेत्र की परेशानियों को दूर करने केलिए कल्याणकारी योजनाएं आरम्भ कर सकें।  इस अवसर पर वनमंत्री किरण चौधरी ने कहा कि श्रुति चौधरी नाम के पौधे को यूपीए अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने आशीर्वाद देकर इस क्षेत्र में लगाया है। अब क्षेत्र की जनता खाद और पानी से इस पौधे को इतना सींच दे कि यह एक बडा छायादार वृक्ष बनकर इलाके को निर्मल छाया दें। यूपीए अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने श्रुति चौधरी को प्रत्याशी बनाकर इस इलाके को जो मान-सम्मान दिया है जनता उसकी लाज रखेंगी। उन्होंने कहा कि चुनाव में इस इलाके का भविष्य अब उनके हाथ में है इसलिए उनके द्वारा अपने-पराए की पहचान करना इस समय अत्यंत आवश्यक है। इस इलाके की सबसे वलंत समस्या पानी की समस्या के समाधान के लिए स्व. चौ. बंसीलाल ने ही उठान सिंचाई परियोजना लागू की थी। एसवाईएल नहर एक बहुत ही दूरदर्शी राजनीतिक सोच थी जो इस इलाके की जीवन रेखा मानी जाती है वो भी चौ. बंसीलाल की ही देन है। ओमप्रकाश चौटाला और भजनलाल ने अपने शासनकाल में इस इलाके को पानी की बूंद-बूंद के लिए तरसा दिया। आज वे चौला बदलकर किस मुंह से इस इलाके का हमदर्द होने की बात कहते हैं। उनकी ये राजनीतिक सोच आम आदमी की समझ से बाहर है कि सत्ता में रहो तो इस इलाके का दमन करों और वोट पाने के समय हमदर्दी का झूठा दिखावा करो। आज का मतदाता एक जागरूक मतदाता है। कांग्रेस के कार्यक्रमों में उमड़ रहे जनसैलाब से यह स्पष्ट संकेत चला जाता है कि अब लोगों ने अपने-पराए की पहचान कर ली है। इस लोकसभा चुनाव में इनेलो और हजकां की कागज की नाव चुनावी थपेडे सहन नहीं कर पाएंगी और उसे डूबने में तनिक भी समय नहीं लगेगा। इस कागज की नाव में बैठे अजयसिंह चौटाला और कुलदीप बिश्नोई को यह आभास हो चुका है कि अब उनकी नैया किनारे पर लगनी असंभव है। अब वे इस बात को भांपकर अनर्गल बयानबाजी पर उतर गए हैं।    किरण चौधरी ने बताया कि पंजाब के रेगिस्तान कहे जाने वाले इस इलाके को स्व. चौ. बंसीलाल ने रिकार्ड समय में खुशहाल बनाकर दिखाया था क्योंकि वे इस इलाके के अपने थे। इस इलाके के विकास के लिए उनमें विशेष टीस थी और जो आदमी अपना होता है वहीं केवल अपनी मिट्टी के बारे में सोच सकता है। बाहर से आने वाले बहरूपिए नेता केवल लोगों को ठगने का ही कार्य करते हैं। इन नेताओं ने सदा जनता के अधिकारों की बलि चढाई है। इनेलो ने तो सभी हदें पार करके इस इलाके के हक का पानी पडोसी राय को दे दिया। जिसकी लडाई अब कांग्रेस पार्टी हांसी-बुटाना लिंक नहर के जरिए लड़ रही है। हम आपको विश्वास दिलाते हैं चाहे कुछ भी जाए इस इलाके के पानी को लाकर रहेंगे। हमारी प्यासी धरती जो बरसों से अपने अधिकार के पानी की बाट जोह रही है उस धरती मां की प्यास बुझाना हमारी पहली प्राथमिकता है। इसके लिए हम बडी से बडी राजनैतिक ताकत से टकराने को तैयार है। उन्होंने इनेलो को चुनौती देते हुए कहा कि अब ये स्वार्थी नेता इस इलाके को आगे बढने से नहीं रोक सकते। इस इलाके की तकदीर अब इस इलाके के लोग लिखेंगे। आने वाली पीढ़िया एक खुशहाल क्षेंत्र की वासी बनेगी। क्योंकि अब जनता ने अपनी सही दिशा कांग्रेस पार्टी के साथ चुन ली है। उन्होंने कहा कि आज आम जनता ही श्रुति के दादा-पिता है और इस इलाके का और हमारा चोली-दामन का साथ रहा है।  किरण चौधरी ने पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला पर कटाक्ष करते हुए कहा कि इनेलो पार्टी ने अपने शासनकाल में प्रदेश की बिजली की समस्या से निपटने के लिए कोई कदम नहीं उठाए । इनेलो शासनकाल में प्रदेश में बिजली का एक भी कारखाना स्थापित नहीं करवाया गया और ना ही इसके लिए कोई प्रयास किए गए। इनेलो पार्टी का शासनकाल तो प्रदेश का एक ऐसा समय रहा है जिसमें सिवाय पिछडेपन के और कुछ नहीं दिखाई दिया। कोई नीति और विकास की सोच ना होन के कारण इस पार्टी ने प्रदेश को अवनति की गर्त में धकेल दिया। जनता की जरूरतों को ध्यान में ना रखते हुए इन्होंने बिजली उत्पादन के लिए कोई उपाय नहीं किए। इससे प्रदेश के उद्योगों और जनता पर विपरित असर पड़ा। आज ये नेता बरगलाने वाली बातें करके जनता का ध्यान विकास की मुख्य धारा से हटाकर अन्य मुद्दों में उलझाना चाहते हैं। मगर आज का मतदाता जागरूक मतदाता है वह आने वाले मतदान के दिन इन स्वार्थी नेताओं को सबक सिखाने के लिए तैयार बैठा है। अब प्रदेश के मतदाता का इन दोगली बातें करने वाले नेताओं से विश्वास पूर्ण रूप से उठ चुका है। इन पार्टियों का बुरी तरह से खिसकता जनाधार इस बात की ओर संकेत करता है कि अब इन क्षेत्रीय पार्टियों का अस्तित्व अपने आखिरी दिन गिन रहा है।  वनमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ही समाज के सभी वर्गो की पार्टी है। चौ. बंसीलाल की तरह कांग्रेस पार्टी भी सभी वर्गो का समान रूप से विकास करवाने में विश्वास रखती है। कांग्रेस ने गरीब आदमी की भलाई के लिए जो नीतियां लागू की है उनका पूरे देश में कोई सानी नहीं है। आज कमेरा वर्ग आर्थिक रूप से स्वतंत्र महसूस करके समाज के विकास में अपना योगदान दे सकता है। कांग्रेस पार्टी ने गंभीरता से विकास की नीतियों को आगे बढाते हुए चौतरफा चहुमुंखी विकास करवाया है। जिसका जवाब अब विपक्षी दलों को देते नहीं बनता। क्योंकि ये दल अपने शासनकाल में अपने स्वार्थपूर्ति तक ही सीमित रहे आमजन के विकास में इन्होंने कोई रूचि नहीं दिखाई और अब चुनाव का समय आते ही ओछे हथकंडो पर उतर गए हैं। जात-पात की बात तो वे कमजोर नेता करते हैं जिनके बस का विकास करवाना नहीं होता और अब वे जनता से मुंह छिपाने के लिए अर्थहीन मुद्दों को लेकर आ रहे हैं भला कोई ये समझाएं कि समाज को जाति-पाति में बांटने से इलाके का भला हो सकता है। दक्षिण हरियाणा का विकास तो एकजुट होकर प्रयास करने से होगा जो केवल कांग्रेस के शासनकाल में ही संभव है।  कांग्रेस प्रत्याशी श्रुति चौधरी ने कहा कि केवल कांग्रेस पार्टी ही छत्तीस बिरादरी की पार्टी है और क्षेत्र का विकास केवल कांग्रेस के शासनकाल में ही संभव है। यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में परमाणु करार करके देश के विकास के लिए जो ऐतिहासिक कदम कांग्रेस सरकार ने उठाया है उसका कोई सानी नहीं है। मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने 1600 करोड़ के बिजली के बिल माफ करके और 340 करोड की लागत से हांसी-बुटाना लिंक नहर का निर्माण करके एक जनहितैषी सरकार होने का प्रमाण पेश किया है। वर्तमान कांग्रेस शासित प्रदेश सरकार ने प्रदेश में चहुंमुखी विकास करवाकर खुशहाली की एक नई लहर पैदा की है। अब मेरा जीवन आप लोगों की सेवा में ही समर्पित है।  इस मौके पर हरियाणा विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष छत्तरसिंह चौहान, पूर्व मंत्री अत्तरसिंह सैनी, रमेश कौशिक, अरूणभ चौधरी, अशोक चौधरी, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता प्रहलादसिंह गिलाखेडा, डेयरी विकास चेयरपर्सन बहन चंद्रावती, चाचा रघुबीर सिंह, प्रतापसिंह चौटाला, बलबीर सिंह ग्रेवाल, नारायण सिंह, शशिरंजन परमार, ओमप्रकाश बहलवाला, भिवानी नगर परिषद की अध्यक्ष सेवादेवी ढिल्लो, भूपेन्द्र फोगाट, रतनपाल पहाड़ी, बलवान सेरा, एडवोकेट हरिसिंह सांगवान, शीशराम चेयरमैन, एडवोकेट रामप्रताप शर्मा, शिवकुमार अग्रवाल, कृष्ण लेघा, परमजीत मड्डू, छोटू सरपंच लेघा, जगदीप सांगवान, राजकुमार धनखड़, करतार सिंघानी, बलजीत बलवा, कृष्णा श्योराण, राजबाला श्योराण, अभयसिंह, चेयरमैन अशोक देवराला, अभयसिंह, जयकरण ढाका भी मौजूद थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment