Wednesday, December 11th, 2019

यूएसए व राज्य के बीच हुआ एमओयू

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
ऊर्जा क्षेत्र में राज्य स्तरीय नवीनतम तकनीक के आदान-प्रदान के लिए सोमवार को विद्युत भवन में ऊर्जा विभाग, राजस्थान सरकार व सयुंक्त राज्य अमेरिका के ऊथा राज्य के बीच एमओयू हुआ है। इसके तहत नवीनतम राज्य स्तरीय पालिसी के हस्तान्तरण और अक्षय ऊर्जा के स्त्रोतों व तकनीक का आदान-प्रदान होगा। 

इस अवसर पर प्रमुख शासन सचिव, ऊर्जा श्री नरेश पाल गंगवार ने बताया कि एनर्जी सेक्टर में किस तरह कार्य किया जा रहा है और क्या चुनोतियां का यह क्षेत्र सामना कर रहा है तथा इस तरह ही हमारे स्टेट में हम इस क्षेत्र में क्या कर रहे है और किन चुनोतियों का सामना कर रहे है इसके बारे में दोनो राज्यों के प्रतिनिधियों के बीच चर्चा हुई। यह एमओयू भविष्य में दोनो के बीच सहयोग का कार्य करेगा और जैसे जैसे हम आगे बढेगें हम एक-दूसरेे की मदद करते रहेगें। यह विस्तृृत एमओयू है इसमें सब कुछ है और समय के साथ इसके सभी बिन्दुओं पर कार्य होता रहेगा। एमओयू में विशेष रुप से कुछ महत्वपूर्ण बिन्दुओं को शामिल किया गया है जिसके तहत रिन्यूऎबल एनर्जी इन्टिग्रेशन, एनर्जी स्टोरेज, शिडयूलिंग और फोरकास्टिंग, इलेक्टि्रक मोबीलिटी, ट्रांसमिशन नेटवर्क की मजबूती, एनर्जी एफिशिएन्शि और एटीएण्डसी लॉसेज को कम करने के लिए स्मार्ट तकनीक को लागू करना आदि है। 

एमओयू पर राजस्थान के ऊर्जा विभाग की तरफ से विशिष्ट शासन सचिव व ऊथा राज्य की और से एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉ0 लौरा नीलसन ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा श्री नरेशपाल गंगवार, राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम के सीएमडी श्री कुंजीलाल मीना, राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी श्री पी. रमेश, अक्षय ऊर्जा निगम के प्रबन्ध निदेशक श्री अनिल गुप्ता, जयपुर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के.गुप्ता तथा यूएसए के ऊथा राज्य की डॉ0 लौरा नीलसन, श्री थाड लीवर, श्री पेट ब्राडबेन्ट और प्रोग्राम कार्डिनेटर अफीना अशफाक और सीएसआईएस के डॉ0 कार्तिकेय सिंह उपस्थित रहे। 

एमओयू से पूर्व राजस्थान के ऊर्जा विभाग की ओर से श्री नरेशपाल गंगवार ने प्रदेश के ऊर्जा क्षेत्र के बारे में प्रजेन्टेशन दिया और यूएसए के ऊथा राज्य की और से डॉ0 लौरा नीलसन से वहां के ऊर्जा क्षेत्र में किए जा रहे विभिन्न कार्यों के बारे में प्रजेन्टेशन के माध्यम से जानकारी दी। 



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment