Close X
Saturday, May 8th, 2021

यह एक चुनौती का दौर

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
कोरोना के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु डूंगरपुर जिला प्रशासन ने प्रभावी पहल करते हुए रविवार को ‘मेरा वार्ड, मेरा गांव-मेरा जिला कोरोना मुक्त’ अभियान की शुरुआत की है।

जिला कलेक्टर श्री सुरेश ओला ने बताया कि अभी तक जिले में 135 ऎसी भी पंचायतें है जहां कोरोना का कोई केस नहीं है, ऎसे में हमारा उद्देश्य कोरोना संक्रमण के बढ़ते केस को रोकना है। इस हेतु प्रभावी पहल करते हुए पूरे जिले में जिन पंचायतों एवं शहरी क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण हैं, उन पर फोकस करते हुए ‘मेरा वार्ड, मेरा गांव-मेरा जिला कोरोना मुक्त’ अभियान शुरू किया जा रहा है। इस अभियान की सफलता के लिए अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ ही जनप्रतिनिधियों, स्वयं सेवी संस्थाओं एवं आमजन का सहयोग लेते हुए इसे जन आंदोलन बनाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इस अभियान के धरातल पर प्रभावी क्रियान्वयन हेतु रविवार को पूरे जिले के जिला स्तरीय अधिकारियों, उपखंड स्तरीय अधिकारियों, ब्लॉक एवं ग्राम स्तरीय एवं निकाय अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।

अभियान में इन बातों पर रहेगा फोकस
उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत जिले की जिन पंचायतों में दस से ज्यादा पॉजिटिव केस है वहां ‘डोर टू डोर’ सर्वे किया जाएगा। साथ ही ‘चिकित्सा आपके द्वार’ के तहत आवश्यकता अनुसार सामान्य दवाईयां उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके साथ ही हर ब्लॉक पर आइसोलेशन सेंटर का चिन्हीकरण किया जाएगा। साठ वर्ष से अधिक आयु, हाई रिस्क, गर्भवती महिलाओं को लक्षित करते हुए सैंपलिंग की जाएगी । इस अभियान में जहां दस से ज्यादा पॉजिटिव केस है वहां ज्वाइंट एनफोर्समेंट टीम का गठन किया जाएगा। यह टीम स्थानीय जनप्रतिनिधियों तथा वार्ड पंच, सरपंच के साथ मिलकर के प्रभावी मॉनिटरिंग करेगी। इसके तहत बाहर से आने वाले लोगों को होम आइसोलेट किया जाएगा तथा जो भी संक्रमित होम आईसोलेशन में है, उनका उल्लंघन करने पर नियमानुसार एफआईआर दर्ज की जाएगी। इसके साथ ही शहरी क्षेत्रों में इसी तर्ज पर ‘मेरा वार्ड कोरोना मुक्त अभियान’ चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान में पुलिस विभाग, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, उपखंड अधिकारी, समस्त विकास अधिकारी के साथ ही जनप्रतिनिधि एवं अन्य संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा।

वीसी से दिये अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश
‘मेरा वार्ड, मेरा गांव-मेरा जिला कोरोना मुक्त’ कोरोना मुक्त अभियान को लेकर जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला की अध्यक्षता तथा जिला पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी की मौजूदगी में जिले के समस्त सीओ, पुलिस वृताधिकारी, थानाधिकारी, उपखंड अधिकारियों, तहसीलदार, बीडीओ एवं चिकित्साधिकारियों की विडियो कॉन्फे्रंस रविवार को आयोजित की गई।

वीसी में जिला श्री कलेक्टर ओला ने कारोना मुक्त पंचायत अभियान के तहत प्रत्येक उपखंड में सौ बेड का आइसोलेशन सेन्टर बनाने, उपखंड के ग्राम पंचायतों में संक्रमितों की संख्या का चिन्हीकरण करने, ‘चिकित्सा आपके द्वार’ अभियान में सर्वे एवं दवाई वितरण करने, ग्राम स्तर पर जेईटी टीम का गठन करने तथा इसमे सरपंच, वार्ड पंच को भी सम्मिलित किये जाने, प्रवासियों को 14 दिन की क्वारेंटाईन की पालना कराने एवं कोरोना संक्रमित मरीजों को चिकित्सा सलाह एवं आवश्यक होने पर अस्पताल में भर्ती कराने, ग्रामीण क्षेत्रों में युवा दल एवं कमेटियों से सामन्जस्य बनाते हुए गांव की जानकारी लेते रहने, प्रतिदिन पंचायत वार मानिटरिंग करते हुए रिपोर्ट जिला स्तर पर व कोरोना वार रूम पर भिजवाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कोविड अस्पताल में 250 बेड की उपलब्धता के साथ ही डूंगरपुर जिले में वागदरी, सुरपुर एवं सागवाडा में कोविड केयर सेन्टर शुरू किये जाने की जानकारी दी। इन केयर सेन्टर की क्षमता 450 बेड की है।

विडियो कॉन्फें्रस में जिला पुलिस अधीक्षक श्री सुधीर जोशी पुलिस विभाग के विभागीय अधिकारियाें से चिकित्सा विभाग से होम आईसोलेट संक्रमितों की सूची लेकर उन्हें समझाने, संक्रमित के बाहर निकलने, गाइड लाइन का पालन नहीं करते हुए दूकानें खोलने, प्रवासियों के 14 दिन पहले बाहर निकलने, भीड करने पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए ।

आमजन से सहयोग का आह्वान  
‘मेरा वार्ड,मेरा गांव-मेरा जिला कोरोना मुक्त’ अभियान’ की जिले में शुरूआत करते हुए डूंगरपुर जिला कलक्टर श्री सुरेश ओला ने सोशल मीडिया के माध्यम से समस्त जनप्रतिनिधियों, सरपंच, वार्ड पंच, स्वयं सेवीं संस्थाओं एवं आमजन से अपील करते हुए कहा है कि हम सब मिलकर प्रयास करें तो निश्चित ही कोरोना को हरायेंगे। इस हेतु हम में से प्रत्येक को यह ठानना होगा कि मेरा वार्ड, मेरा गांव, मेरी पंचायत, मेरा शहर और मेरा जिला कोरोना मुक्त बनें।  

इस हेतु बाहर से आने वाले व्यक्ति को चौदह दिन तक होम क्वारेंटीन की पालना अवश्य करवायें। उल्लंघन होने पर सूचित करें। उन्होंने कहा कि चिकित्सालयों में दवाईयां, ऑक्सीजन सब पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है तथा किस मरीज को इसकी आवश्यकता है, इस बात को चिकित्सक को तय करने दे ना कि स्वयं तय करें। जिला प्रशासन द्वारा कोविड चिकित्सालय का सतत निरीक्षण किया जा रहा है। हमारे लिए भी प्रत्येक व्यक्ति का जीवन बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए श्रेष्ठ चिकित्सा उपलब्ध करवाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि यह एक चुनौती का दौर है इसमें हम सब मिलकर हमारे जिले को कोरोना मुक्त बनायेंगे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment