Saturday, January 18th, 2020

यह उम्मीद सत्यपाल मलिक से नहीं थी

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने श्रीनगर (Srinagar) जा रहे विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल को एयरपोर्ट (Airport) से ही लौटाने को लेकर बड़ी तल्ख प्रतिक्रिया दी है. दिग्विजय सिंह ने कहा कि राज्यपाल (Governor) कहते कुछ हैं और करते कुछ और ही हैं. उन्होंने कहा, 'अजीब बात है कि राज्यपाल कश्मीर बुलाते हैं, विपक्ष कश्मीर के लोगों से मिलकर समस्या का निदान निकालने के लिए जाता है, लेकिन एयरपोर्ट से ही सब को लौटा दिया जाता है.'

विपक्ष को लोगों से मिलने नहीं देना ठीक नहीं

राहुल गांधी के नेतृत्व में श्रीनगर जा रहे विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल को एयरपोर्ट से लौटने पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि राज्यपाल के बुलाने पर ही विपक्ष कश्मीर के लोगों से मिलकर समस्या का निदान निकालने के लिए ही वहां जाता है, लेकिन एयरपोर्ट से ही उन्हें वापस लौटा दिया जाता है. उन्होंने कहा कि यह उम्मीद सत्यपाल मलिक से नहीं थी. वैसे ऐसे संस्कार उनमें नहीं रहे, मगर फिर भी उन्होंने ऐसा क्यों किया, समझ नहीं आता.

राज्य का सच छिपा नहीं है

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मीडिया नहीं दिखा रहा है, इसका मतलब यह नहीं कि राज्य का सच छुपा हुआ है. कश्मीरी नेताओं को अबतक नजरबंद रखने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि कश्मीर में कोई मुख्य राजनीतिक दल बचा नहीं है, सब बंद हैं. राजनीतिक प्रक्रिया को पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है. यहां तक कि कश्मीरी पुलिस कर्मियों के हथियार भी जमा करा दिए गए हैं. धारा 370 से देश का जो संबंध था, उसे खत्म करके गलत फैसला केंद्र सरकार ने लिया गया है. देश को इसके नतीजे भी भुगतने पड़ेंगे. राज्य में शांति स्थापित हो, कश्मीरी लोगों व भारत सरकार के बीच संवाद शुरू हो, तभी राज्य के लोगों का दिल भी जीत पाएंगे. PLC



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment