Saturday, December 14th, 2019

यशपाल मलिक ने जाटों के साथ ठगी की

आई एन वी सी न्यूज़ रोहतक,

जाट युवा वाहिनी के दर्जनों कार्यकत्र्ताओं ने आज प्रदेश अध्यक्ष अशोक श्योराण के नेतृत्व में गांव बोहर स्थित नांदल भवन में अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक का घेराव किया तथा उनसे समाज से सम्बन्धित दस सवालों के जवाब मांगे। जिस पर यशपाल मलिक ने इन सवालों को नकारते हुए जवाब देने से मना कर दिया। जिस पर नाराज कार्यकत्र्ताओं ने 10 दिनों में जिला स्तर पर यशपाल मलिक का पुतला फूंकने का निर्णय लिया। इस अवसर पर अशोक श्योराण ने कहा कि यशपाल मलिक जाटों की भावनाओं के साथ खेल रहे हैं तथा जमकर ठगी कर रहे हैं। युवाओं को जेलों से छुड़ाने के नाम पर धरने शुरू कर वहां से चंदा उगाही करने का काम किया तथा बाद में पासा पलटते हुए जाट आरक्षण आंदोलन को नाकाम कर दिया। जिसकी वजह से समाज की भारी बदनामी देश-दुनिया में हुई। यही नहीं यशपाल मलिक ने जेलों में बंद किसी युवा की सुध नहीं ली तथा समाज को लगातार झूठ बोलकर गुमराह किया। वहीं इन्होंने अपने कार्यकत्र्ताओं की मदद से गांव-गांव से लाखें रूपये एकत्रित कर अपने निजी जाट ग्लोबल मिशन के खाते में डलवा लिये। जिसके लिए कई जिलों में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। वहीं वे एक बार फिर चौ. छोटूराम का नाम लेकर लोगों को इसमें चंदा देने के लिए बहका रहे हैं। जेलों में बंद युवाओं की आर्थिक व कानूनी मदद की बात को छोडक़र चंदे का इक्_ा हुआ पैसा मध्य प्रदेश में शिक्षण संस्थानों में लगाने की बात कर रहे हैं। जिसके लिए हरियाणा का जाट समाज उन्हें कभी माफ नहीं करेगा। अशोक श्योराण ने कहा कि यशपाल मलिक द्वारा समस्त मीडिया को सभा से बाहर भेजकर यह दर्शाया है कि वे लोकतंत्र की कितनी कद्र करते हैं। इसके अलावा वे अपने तानाशाही रवैये के कारण किसी की बात सुनने को भी राजी नहीं है। जबकि जेलों में बंद युवाओं के परिवार नांदल भवन में आज आर्थिक व न्यायिक मदद के लिए आये थे लेकिन यशपाल मलिक ने उनकी बात सुनने तक से मना कर दिया। जिससे उसने उच्च चरित्र का स्पष्ट पता चलता है। अशोक श्योराण ने कहा कि जाट युवा वाहिनी के कार्यकत्र्ता जेलों में बंद युवाओं की मदद के लिए अभियान चलायेंगे। जिससे उनके परिवारों को आर्थिक मदद मिल सके। साथ ही अगर 10 दिनों में अगर यशपाल मलिक ने उनके सवालों का जवाब नहीं दिया तो वे जिला स्तर पर उनके पुतले जलायेंगे। वहीं एक अलग से एक वकीलों का पैनल बनाया जायेगा जो जेलों में बंद युवाओं को छुड़वाने का काम करेगा। इस अवसर पर मुख्य रूप से भूपेन्द्र, मोहित जयहिंद, राकेश, अजय, सुखवन्त, प्रदीप मलिक आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment