Close X
Thursday, October 29th, 2020

मोदी सरकार ने लोकतंत्र का गला घोंटा


कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच संसद का मानसून सत्र (Parliament's Monsoon Session) आज से शुरू हो गया है। लगातार 18 दिन चलने वाले इस सत्र के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कोरोना से बचाव के लिए इस बार कई तरह के खास इंतजाम किए गए हैं। सत्र के दौरान सांसदों को कैंटीन में पैक भोजन दिया जाएगा। सांसदों तथा कर्मचारियों समेत 4000 से ज्यादा लोगों की कोरोना जांच की गई है। वहीं, आज राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव भी होना है। विपक्ष ने राजग के उम्मीदवार हरिवंश के मुकाबले मनोज झा को उतारा है। हालांकि, राज्यसभा के गणित के लिहाज से हरिवंश का चुनाव जीतना तय माना जा रहा है।

प्रश्नकाल के मुद्दे पर कांग्रेस के आरोप का जवाब देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बहुत से नेताओं से मैंने भी बातचीत की है। असाधारण परिस्थितियों में संसद की कार्यवाही हमको करनी पड़ रही है। 4 घंटे के लिए सदन चलेगा और मैंने अनुरोध किया था कि उसमें प्रश्नकाल न हो। आधे घंटे का एक जीरो आवर हो। राजनाथ सिंह ने कहा कि अधिकांश राजनीतिक पार्टियों के नेताओं की सहमति के बाद ही यह फैसला किया गया था।

लोकसभा में कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रश्नकाल बेहद महत्वपूर्ण है, लेकिन आप कहते हैं कि परिस्थितियों के कारण इसे आयोजित नहीं किया जा सकता है। आप सदन को चलाते हैं, लेकिन प्रश्नकाल को समाप्त कर देते हैं। आप लोकतंत्र का गला घोंटने का प्रयास कर रहे हैं। विपक्ष के अन्य सदस्यों ने भी कहा कि प्रश्नकाल और प्राइवेट मेंबर बिजनेस होना जरूरी है

ऑनलाइन सवाल के लिए ऐप

स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि लोकसभा के सांसद राज्यसभा और राज्यसभा के सांसद लोकसभा में बैठेंगे। हम अभूतपूर्व स्थिति में बैठे हैं। हम इस सत्र को कोविड प्रोटोकॉल के तहत चला रहे हैं।ऑनलाइन सवाल के लिए ऐप विकसित किया है। स्पीकर ने कहा कि इस बार हमने सांसदों को सदन में बैठकर बोलने की इजाजत दी है। पीएलसी।PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment