मोदी कैबिनेट का मंथन – NDA पहुचा गुजरात भवन और मोदी अडवानी के घर

0
49
आई एन वी सी ,दिल्ली ,नरेंद्र मोदी की  कैबिनेट  ,वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी , नरेंद्र मोदी की सरकार ,अमित शाह,पार्टी महासचिव जेपी नड्डा, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा, बिहार के प्रभारी धमेंद्र प्रधान,.नरेदर मोदी गुजरात भवन भवन मेंआई एन वी सी ,
दिल्ली ,

लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद नरेंद्र मोदी अपनी कैबिनेट  का खाका खीचने की कवायत में लग गयें हैं ,आज पूरा दिन सुबह से गुजरात भवन के साथ – साथ  अडवानी के घर मंत्री मंडल के स्वरुप को लेकर गरमा गर्मी का माहौल रहा ,
बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने केंद्र में अपने नेतृत्व में सरकार के गठन से पहले आज पार्टी के कई नेताओं के साथ चर्चा करने के बाद वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की। इन नेताओं में उनके करीबी सहयोगी अमित शाह शामिल थे । इस बात के पूरे प्रयास किये जाते रहे हैं कि 86-वर्षीय आडवाणी को पार्टी के सभी महत्वपूर्ण निर्णयों की जानकारी दी जाए.नरेदर मोदी गुजरात भवन भवन में अपनी सभी मीटिंग समाप्त करने के बाद गुजरात भवन  से निकल कर आडवाणी से मिलने उनके घर पहुंचे। यह बैठक करीब 50 मिनट तक चली. मोदी ने अडवानी से कई महत्तवपूर्ण मुद्दों पर चर्चा !

मोदी  सरकार में किसकी क्या भूमिका होगी, यह करीब-करीब तय हो जाएगा। मोदी ने अपने करीबी सहयोगी अमित शाह,पार्टी महासचिव जेपी नड्डा, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा और बिहार के प्रभारी धमेंüद्र प्रधान के साथ बैठक की साथ ही मोदी राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ओर लोजपा प्रमुख राम विलास पासवान एवं उनके बेटे चिराग ने भी मोदी से मुलाकात की तथा  इस बीच नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो भी गुजरात भवन में मोदी से मिले। वह राज्य की एक मात्र संसदीय सीट पर विजयी हुए हैं । रियो सत्ताधारी नागा

 पीपुल्स फ्रंट के प्रमुख है , फ्रंट इस चुनाव में भाजपा की चुनाव पूर्व का साझेदार है ,नरेदर मोदी के साथ शपथ गर्हण समारोह में मोदी के साथ साथ साथ कई और वरिष्ठ नेता मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं
पूरी कैबिनेट मंथन के बाद नरेदर मोदी संघ मुख्यालय पूरी जानकारी के साथ संघ प्रमुख के साथ साथ और दुसरे बड़े संघ प्रचारको के पास मिलने के लियें जा सकते हैं ,ऐसा पहले से ही तय की कुछ संघ के प्रिय नेताओं को संघ के दवाब में अहम् मंत्रालयों  के साथ – साथ और कोई बड़ी ज़िम्मेदारी मिल सकती हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here