Monday, February 17th, 2020

मोदी की मुसीबत और बढाएगी हिन्दू महासभा : भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ करेगी राष्ट्रव्यापी जनांदोलन

चन्द्र-प्रकाश-कौशिक11आई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली,

अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने एक संयुक्त वक्तव्य में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा बनाये गए ‘भूमि अधिग्रहण बिल’ की कड़ी आलोचना की है. गौरतलब है कि वर्तमान केंद्र सरकार ने जो भूमि अधिग्रहण बिल पेश किया है, वह किसान विरोधी और उद्योगपतियों के हित में है और विपक्षी पार्टियों सहित तमाम समाजसेवियों द्वारा इसका कड़ा विरोध किया जा रहा है.

हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने भूमि अधिग्रहण बिल के सम्बन्ध में निम्न सुझाव प्रस्तुत किये हैं:

बहु-फसलीय ज़मीन का अधिग्रहण नहीं किया जाये, बल्कि कम उपजाऊ और बंजर ज़मीन राष्ट्रीय हित के लिए किसानों की शत-प्रतिशत सहमति के साथ अधिगृहीत की जाएँ.  राष्ट्रीय संस्थानों के लिए अधिगृहीत की गयी भूमि में किसानों को चार गुणा मुआवजा देने के साथ प्रभावित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाये. उद्योगपतियों के लिए सरकार कतई जमीन अधिगृहीत न करे, बल्कि उद्योगपति किसानों से स्वयं जमीन खरीदें. इसके साथ नियम में यह भी शामिल किया जाय कि अधिगृहीत जमीन पर जो भी उद्यम शुरू किया जाये, उसके लाभांश में प्रभावित परिवार को रॉयल्टी मिलती रहे. यदि अधिगृहीत जमीन का उपयोग उद्योगपति 3 साल तक न कर पाएं, तो वह जमीन सम्बंधित परिवारों को लौटा दी जाये. जमीन अधिगृहीत करने से पहले उसके सामाजिक प्रभावों पर अध्ययन किया जाये, क्योंकि एक किसान की सिर्फ जमीन ही नहीं जाती है, बल्कि उसकी पीढ़ियों से चली आ रही संस्कृति और सामाजिक सरोकार एक झटके में समाप्त हो जाते हैं. विभिन्न परिस्थितियों में इस बात की सम्भावना तलाशी जाये कि अधिगृहीत जमीन के आस पास के स्थानों पर किसानों का पुनर्वास हो. यदि हिन्दू महासभा के इन सुझाओं पर गौर करके केंद्र सरकार इस जन-विरोधी कानून में बदलाव नहीं करेगी, तो हिन्दू महासभा सड़क राष्ट्रव्यापी जनांदोलन करेगी.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment