Wednesday, July 8th, 2020

मैने सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं भारत का कप्तान बनूंगा

नई दिल्ली । टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा है छह साल साल तक पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की देखरेख में खेलने के कारण ही उन्हें टीम का नेतृत्व करने का अवसर मिला। विराट ने स्पिनर आर अश्विन के साथ इंस्टाग्राम पर हुई बातचीत में कहा कि कि वह हमेशा से ही जिम्मेदारी लेना चाहते थे और भारतीय टीम का कप्तान बनना भी उसी प्रक्रिया का एक हिस्सा था। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि इसका बहुत बड़ा कारण यह है कि लंबे समय तक मैं धोनी की देखरेख में खेला। इसलिए ऐसा नहीं है कि समझा जाना चाहिये कि उनके जाते ही चयनकर्ताओं ने मुझसे कहा कि चलो अब तुम कप्तान हो।’ उन्होंने कहा, ‘जो कप्तान है, वह जिम्मेदारी लेता है और कहता है कि यह अगला कप्तान हो सकता है और मैं आपको बताऊंगा कि यह कैसे उस दिशा में बढ़ रहा है। इसके बाद धीरे धीरे जिम्मेदारी लेने की ओर बढ़ा जाता है।’ विराट ने कहा, ‘मुझे लगता है कि उनकी भूमिका बड़ी रही। छह सात साल में विश्वास में बना रहा। यह रातोंरात नहीं होता।’ उन्होंने कहा, ‘मैं हमेशा ही उनके बगल में खड़ा होता था। वह कहते रहते थे कि ये कर सकते हो, वो कर सकते हो। तुम्हें क्या लगता है। कई चीजों पर बात होती थी। धीरे-धीरे उन्हें लगा कि मैं उनके बाद कप्तानी कर सकता हूं।’ कोहली ने कहा, ‘मुझे जिम्मेदारी लेना पसंद है। मैने सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं भारत का कप्तान बनूंगा।’ PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment