Sunday, December 15th, 2019

मेक इन इंडिया का माहौल बनने लगा है : खट्टर

manohar lal khattar INVC NEWSआई एन वी सी न्यूज़
दिल्ली,

दिल्ली की किरयाना कमेटी खारी बावली ने अपना बाजार हरियाणा में स्थापित करने का प्रस्ताव राज्य सरकार को दिया है। रविवार को नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में दिल्ली किरयाना कमेटी के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मिलकर देश की सबसे बड़ी किरयाना मार्केट को हरियाणा में विकसित करने के लिए जगह की मांग की। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने व्यापारियों के साथ चर्चा करते हुए बड़े बाजार एवं रोजगार के लिहाज से इस महत्वकांक्षी परियोजना पर सकारात्मक रूख रखते हुए कहा कि सरकार प्रदेश के हित के अनुरूप इस क्षेत्र में कदम आगे बढ़ाएगी। इस मौके पर प्रदेश के कृषि एवं सिंचाई मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच के अनुरूप मेक इंडिया की अवधारणा का माहौल बनने लगा है। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि दिल्ली में किरयाना मार्केट खारी बावली से जुड़े हजारों व्यापारियों ने मार्केट को हरियाणा में स्थापित करने में रूचि जाहिर की है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की सोच है कि इस तरह की मंडी हरियाणा में विकसित होती है तो वह परंपरागत मंडी की तर्ज पर न होकर विश्वस्तरीय मंडी की तरह विकसित हो। उन्होंने प्रतिनिधि मंडल को भी सुझाव दिया कि वे इस तरह की योजना बनाएं कि मंडी का निर्माण अगले 100 वर्षों को ध्यान में रखकर किया जा सके। बैठक में दिल्ली स्टील एवं हार्डवेयर ट्रेडर एसोसिएशन ने भी हरियाणा में अपनी मार्केट शिफ्ट करने के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी रूचि प्रकट की। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज दिल्ली के बहुत से उद्योगों से जुड़ी एसोएिशन अपने व्यापार का मुख्य केन्द्र हरियाणा में शुरू करने के लिए रूचि दिखा रहे हैं। सरकार की भी सोच है कि प्रदेश में उद्योगों के अनुकूल माहौल मिले ताकि औद्योगिक विकास के साथ प्रदेश में प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा हों। पिछले छह महीने में राज्य सरकार की ओर से जो प्रयास हुए उसका परिणाम है कि देश ही नहीं बल्कि विदेशों से जुड़े उद्योग एवं उद्योगपति अपनी रुचि हरियाणा में दिखा रहे हैं। किरयाना कमेटी खारी बावली के प्रधान विजय गुप्ता ने बताया कि किरयाना मार्केट से करीब 70 फीसदी व्यापार उत्तर भारत के राज्यों को वितरण करने का है। उन्होंने कहा मार्केट में प्रति वर्ष 10 हजार करोड़ रुपए के टर्नओवर के साथ-साथ 200 से 250 करोड़ रुपए का राजस्व सरकार को मिल रहा है।बैठक में प्रदेश के सिंचाई एवं कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि इस तरह की मार्केट हरियाणा में विकसित होती है तो प्रदेश के लोगों को लाभ होगा। हाल ही में किसानों के लिए विपणन संबंधी विषय को लेकर विदेश यात्रा से लौटे धनखड़ ने कहा कि मार्केट का विकास योजनाबद्ध तरीके से हो तो विकास की अपार संभावनाएं होंगी। इस अवसपर मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी. राजकुमार भारद्वाज भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment