20ndaki03_-Ansa_DE_1801083eआई एन वी सी,

वाराणसी,

लोकसभा चुनाव का केन्द्र बिन्दू बन चुकी एक बार फिर सुर्खियोँ मेँ है। इसकी वजह यह है कि खबर आ रही है कि धार्मिक नगरी वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और आम आदमी पार्टी नेता अरविन्द केजरीवाल को कौमी एकता दल के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी चुनौती देंगे।

गौर तलब है कि कौमी एकता दल के नेता और अंसारी के करीबी सहयोगी अतहर जमाल लारी ने कहा कि अंसारी वाराणसी सीट से मोदी और केजरीवाल को टक्कर देंगे। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि मोदी और केजरीवाल का वाराणसी से कोई रिश्ता नहीं है। ज़ाहिर है कि वोटों का ध्रुवीकरण अंसारी के पक्ष में ही होगा। सपा, बसपा और कांग्रेस के पास वाराणसी में खड़ा करने के लिये कोई मज़बूत प्रत्याशी नहीं है। मुख्तार अंसारी सबसे सशक्त उम्मीदवार बनकर उभरेंगे। लारी ने कहा कि अंसारी ने पिछले लोकसभा चुनाव में गुजरात दंगों के आरोपी मोदी से भी बड़े नेता मुरली मनोहर जोशी को वाराणसी सीट पर कड़ी टक्कर दी थी।

उन्होंने आगे कहा कि मोदी सिर्फ टेलीविज़न और सोशल मीडिया में ही दिखायी दे रहे हैं। हो भी क्यों न, आखिर उन्होंने प्रचार पाने के लिये मीडिया पर बहुत मोटी रकम जो खर्च की है, लेकिन जब वह चुनाव मैदान में उतरेंगे तो उन्हें समझ में आ जाएगा कि यह कितना मुश्किल खेल है और अंसारी को हराना बेहद मुश्किल है।

केजरीवाल को आड़े हाथ लेते हुए लारी ने कहा कि ‘आप’ नेता मुसलमानों के वोट हासिल करना चाहते हैं। उन्हें यह बताना चाहिये कि आखिर उन्होंने मुस्लिमों के लिये क्या किया। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने खुद को एक मंच देने वाले समाजसेवी अन्ना हजारे को धोखा दिया। गौरतलब है कि मऊ से कौमी एकता दल के विधायक मुख्तार अंसारी भाजपा विधायक कृष्णानन्द राय हत्याकांड मामले में इस समय जेल में हैं।

उधर इस ऐलान पर मुख़्तार अंसारी ने कहा कि वाराणसी की जनता मेरे साथ है। चुनाव होने दीजिए फिर हम नतीजे देखेंगे। गौर तलब है कि अंसारी ने 2009 में भी बीएसपी के टिकट पर वाराणसी से चुनाव लड़ा था। तब उनका मुकाबला बीजेपी के मुरली मनोहर जोशी से था। मुख्तार ने जोशी को ज़बरदस्त टक्कर दी थी और वो महज 17,087 वोटों से ही हारे थे।

वैसे तो मुख्तार अंसारी इस समय बीजेपी विधायक की हत्या के आरोप में आगरा की जेल में बंद है। लेकिन इस ऐलान के बाद कुल मिलाकर इस बार वाराणसी की चुनाव बेहद दिलचस्प हो गया है। आप नेता अरविंद केजरीवाल पहले ही मोदी के खिलाफ ताल ठोकने का ऐलान कर चुके हैं। अभी तक कांग्रेस ने उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया है।देखते हैँ कांग्रेस किसको इस चुनावी दंगल मेँ उतारती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here