अरूण शर्मा

श्रीनगर. हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के उदारवादी धड़े के प्रमुख मीरवाइज़ उमर फारूक समेत कई वरिष्ठ अलगाववादी नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया। इन नेताओं को आज जुमे की नमाज़ के बाद एक जलसे को संबोधित करना था.

अर्द्ध सैनिक बलों ने कल शाम को ही मीरवाइज़ उमर फारूक के नगीन स्थित घर को घेर लिया.  मीरवाइज़ उमर फारूक के आलावा हुर्रियत के कट्टरपंथी धड़े के प्रमुख सैयद अली गिलानी,  नईम अहमद खान,  हाकिम अब्दुल राशिद और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फोरम के जावेद  ahmad  मेरे  को भी नज़रबंद कर दिया गया। जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के अध्यक्ष मुहम्मद यासीन मलिक पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। मीरवाइज के नेतृत्व वाली हुर्रियत के धड़े ने कल चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया था. गौरतलब है कि गिलानी गुट पहले ही कश्मीरियों  से लोकसभा चुनाव में शिरकत  न करने की अपील कर चुका है।

इस बारे में एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि सुरक्षा के मद्देनज़र ऐसा किया गया है, क्योंकि श्रीनगर और आसपास के शहरों में जुमे की नमाज़ के बाद अलगाववादियों का प्रदर्शन आम बात हो चुकी है. इसकी वजह से कई बार हालात चिंताजनक हो जाते हैं. हमारा मक़सद शहर की शांति व्यवस्था को बनाए रखना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here