Close X
Saturday, December 5th, 2020

मायावती केन्द्र से बढ़ी मूल्य दर वापस लेने का घड़ियाली ऑसू बहाती है - भाजपा

आई.एन.वी.सी,, लखनऊ ,, भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार द्वारा लगातार देश में मंहगाई बढ़ाने में प्रदेश के मुख्यमंत्री व सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव भी दोषी हैं क्योंकि इन दोनों दलों ने केन्द्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार को समर्थन दिया है। प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र तिवारी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मायावती केन्द्र से बढ़ी मूल्य दर वापस लेने का घड़ियाली ऑसू बहाती है तो समाजवादी  पार्टी मंहगाई के विरूद्ध प्रदर्शन का नाटक करता है। इन दोनों दलों में  यदि प्रदेश की जनता पर जरा भी रहम आता हो तो केन्द्र सरकार से तत्काल  समर्थन वापस लें। जानलेवा मंहगाई बढ़ाने वाली मनमोहन सरकार को अब सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं रह गया है। देश में जहां भी भाजपा शासित प्रदेश हैं वहां हमारी राज्य सरकारों ने जनहित में राज्य स्तरीय कर घटा कर जनता को मंहगाई की मार से बचाने की भरपूर कोशिश की है वहीं कांग्रेस, बसपा और सपा केवल व्यावसायिक लोगों के हितों के प्रति समर्पित उसे भारत  की आम जनता से लेना देना नहीं। श्री तिवारी ने कहा कि प्रदेश की जनता इन दलों को जवाब देने को तैयार बैठी है। मंहगाई से त्रस्त जनता 2012 के विधानसभा चुनावों में उ0प्र0 मेंइन तीनों दलों के सफाए का कारण बनेगी। पेट्रोल की बढ़ी कीमत से आवश्यक वस्तुओं पर भी महंगाई की मार पड़ेगी। मंहगाई के कारण गरीब लोगों को जीनादूभर हो गया है। श्री तिवारी ने अपने वक्तव्य में केन्द्र सरकार से मांग किया है कि बढ़े हुए मूल्य को तत्काल वापस ले अन्यथा देश की जनता आंदोलित होगी और कांग्रेस पार्टी तथा केन्द्र सरकार जनाक्रोश का सामना नहीं कर सकेगी। भाजपा प्रवक्ता ने बताया कि लगातार बार-बार पेट्रोलियम कीमतों में वृद्धि के खिलाफ प्रदेश के सभी महानगरों, लखनऊ, कानपुर, झांसी, आगरा, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद, बरेली, सहारनुपर, वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर, में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया तथा विरोध स्वरूप पेट्रोलियम मंत्री का पुतला फंूका। लखनऊ जिले के पुतला दहन का नेतृत्वप्रदेश महामंत्री विन्ध्यवासिनी कुमार ने किया। श्री तिवारी ने कहा कि भाजपा आम आदमी के सरोकारों से जुडे मुद्दे पर चुप  बैठने वाली नहीं। किसानों, मजदूर, व्यवसायी, बेरोजगार तथा छात्र मंहगाई  से सर्वाधिक पीड़ित हैं। निरन्तर किसान कर्ज तले दबा होने के कारण  आत्महत्या कर रहे हैं। गरीब पिछड़े, कमजोर नौकरीपेशा तथा मध्यम वर्ग के  लोगों के समक्ष केन्द्र और प्रदेश सरकार की संवेदनहीनता ने बड़े संकट खड़े किए हैं। इन सब मुद्दों के खिलाफ व्यापक जन-जागृति हेतु भाजपा शीघ्र ही व्यापक कार्यक्रम प्रारम्भ करेगी।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment