Close X
Sunday, October 24th, 2021

मायावती का समर्थन करना दलितों के लिए घातक सिद्ध होगा - भाजपा

आई.एन.वी.सी,, लखनऊ,, भाजपा प्रदेश अनुसूचित मोर्चा के सभी जिलाध्यक्षों, विधायकों, पूर्व विधायकों, पूर्व मंत्रियों व मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों की एक बैठक आज प्रदेश कार्यालय पर संपन्न हुई। बैठक में party ने तीन विशेश रूप से कार्यक्रम करने का निर्णय किया है। अनु0 मोर्चा के राश्ट्रीय अध्यक्ष श्री दुश्यंत गौतम ने बताया कि 22 नवंबर को झलकारी बाई का जन्म दिवस एवं 26 नवंबर को संविधान दिवस एवं 6 दिसंबर को डा0 अंबेडकर महापरिनिर्वाण दिवस मनाने का निर्णय लिया है। party सभी जिलों में प्रमुख़ता से इन तीनों कार्यक्रमों को मनाएगी तथा 26 नवंबर से 16 दिसंबर तक भारतीय जनता party अनुसूचित जाति मोर्चा सभी सुरक्षित 85 विधान सभाओं में सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। इन सम्मेलनों को सफल बनाने के लिए काशी क्षेत्र एवं गोरखपुर क्षेत्र का प्रभारी राश्ट्रीय महामंत्री दिवाकर सेठ को बनाया गया है। बृज एवं कानपुर क्षेत्र का प्रभारी राश्ट्रीय उपाध्यक्ष रमेश चंद्र रत्न को बनाया गया है। पिश्चम और अवध क्षेत्र का प्रभारी राश्ट्रीय सह प्रिशक्षण प्रभारी श्री शांत प्रकाश को बनाया गया है। भाजपा के राश्ट्रीय प्रवक्ता रामनाथ कोविंद ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि दलितों और पिछड़ों के रहनुमा होने का दावा करने वाली मुख्यमंत्री के शासनकाल में दलित के साथ सबसे अधिक अत्याचार और उत्पीड़न की घटनाएं प्रदेश में घटित हुई। उ0प्र0 के गृह मंत्रालय की घटनाएं प्रदेश में घटित हुई। उ0प्र0 के गृह मंत्रालय की सूचना के अनुसार दलितों पर उत्पीड़न की पिछले साढ़े चार वशोz 29445 घटनाएं एवं 1074 दलितों की हत्याएं हुई जो पूरे देश में होने वाली घटनाओं का 30प्रतिशत है। इस भयावह स्थित से दलित वर्ग त्रस्त हो चुका है। उनका मायावती के प्रति मोह भंग हो चुका है। श्री कोविंद ने कहा कि यदि दलित मुख्यमंत्री ही उनकी सुरक्षा नही कर सके तो ऐसी दलित मुख्यमंत्री का समर्थन करना दलितों के लिए घातक सिद्ध होगा। कोविंद ने सीएम से मांग की कि प्रदेश के दलितों को बताएं की उनके शासनकाल में कितने दलित नौजवान को बिना घूस दिए नौकरियां दी ? इस वर्ग के बच्चों को िशक्षित करने की नियत से कितने प्राथमिक, माध्यमिक व डिग्री कालेज खुलवाए। उन्होंनें मुख्यमंत्री से सवाल कि  की दलित के हितों के लिए कितने नए उद्योगों लगाए गए।  ताकि दलितों को रोजगार के अवसर प्राप्त हो सकें तथा मुख्यमंत्री अन्य जातियों के आरक्षण की मांग करती हैं पर दलितों के संवैधानिक आरक्षण का अपने शासनकाल में पूरा क्यों नहीं किया ? अनु0 जाति के रिक्त पदों पर भर्ती न हो सकी है। दलितों के पट्टे वाली जमीन बसपा के मंत्री, कार्यकर्ता हड़प रहे हैं। ताजा उदाहरण चित्रकूट के दलित परिवार की जमीन को ग्राम्य विकास मंत्री दद्दू प्रसाद के लोगों ने स्थानीय प्रशासन की मद्द से हड़पने की कोिशश की। बैठक में प्रमुख रूप से भाजपा अनु0 मोर्चा के राश्ट्रीय अध्यक्ष दुश्यंत कुमार  गौतम, राश्ट्रीय प्रवक्ता रामनाथ कोविंद, प्रदेश महामंत्री विंध्यवासिनी कुमार, मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व सांसद भानु प्रताप वर्मा, बिहार के विधान परिशद सदस्य एवं पूर्व संगठन मंत्री हरेंद्र कुमार, संगठन मंत्री अशोक तिवारी, मोर्चा के राश्ट्रीय उपाध्यक्ष रमेश चंद्र रत्न,, राजमणि जी, शांत रामचंद्र कनौजिया एवं मोर्चा के राश्ट्रीय महामंत्री दिवाकर सेठ, रामचंद्र कनौजिया, सरदार सिंह सुधा आदि प्रमुख लोग उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment