आई एन वी सी न्यूज़
रायपुर,
जनजातीय कार्य मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री एवं सरगुजा सांसद श्रीमती रेणुका सिंह की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में श्रीमती सिंह ने जिले में केंद्रीय योजनाओं तथा केंद्र प्रवर्तित योजनाओं की विस्तृत समीक्षा कर बेहतर क्रियान्वयन के लिए दिशा-निर्देश दिये। योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने तथा बलरामपुर-रामानुजगंज में विकास कार्यों को गति देने पर भी विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। उन्होंने दिशा समिति की बैठक में पूर्व निर्धारित 33 बिन्दुओं पर समिति के सदस्यों तथा विभागीय अधिकारियों से बात कर योजना के क्रियान्वयन संबंधी जानकारी ली।

केंद्रीय राज्य मंत्री श्रीमती रेणुका सिंह ने कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय स्थापित कर योजनाआंे के शत प्रतिशत क्रियान्वयन के साथ जनता की भलाई के काम तथा क्षेत्रीय विकास के कार्यों को प्राथमिकता दें। उन्होंने कहा कि बलरामपुर-रामानुजगंज जिला जनजातीय बाहुल्य क्षेत्र है जहां लोगों के पास पानी, बिजली जैसी मूलभूत आवश्यकताओं की कमी है। जनजातीय बसाहटों में बिजली तथा पेयजल की व्यवस्था हेतु जरूरी कदम उठाएं। केन्द्रीय मंत्री श्रीमती सिंह ने मनरेगा कार्यों की विस्तृत समीक्षा करते हुए लक्ष्य के विपरीत सृजित मानव दिवस, 100 दिन रोजगार प्राप्त कर चुके परिवारों की संख्या, प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन  के अंतर्गत संचालित कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि मनरेगा लोगों को रोजगार में नियोजित कर उनके आजीविका की सुरक्षा बढ़ाने तथा आर्थिक दिक्कतों को दूर करने के उददेश्य से प्रारंभ किया गया  था। मनरेगा के मूल लक्ष्यों के प्राप्ति के लिए अधिकारी पूरी निष्ठा से कार्य करें तथा उन्हें अधिक से अधिक श्रम मूलक कार्यों मे नियोजित कर रोजगार मुहैया कराएं। केन्द्रीय मंत्री रेणुका सिंह ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उन्हें आजीविका मूलक कार्यों के माध्यम से रोजगार प्रदान करने को कहा ताकि वे अर्थिक रूप से मजबूत हो सके। उन्होंने महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए शासन स्तर पर किये जा रहे प्रयासों से सदस्यों ंको अवगत कराया। केन्द्रीय मंत्री श्रीमती सिंह ने डिजिटल इण्डिया, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण, स्वच्छ भारत मिशन, जल जीवन मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के साथ ही अन्य केन्द्रीय प्रवर्तित योजानाओं की समीक्षा भी की। उन्होंने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के महत्व के रेखाकिंत करते हुए कहा कि इसका सीधा लाभ ग्रामीणाों को मिलता है इसलिए गुणवत्तापूर्ण सड़क निर्माण सुनिश्चित किया जाये। सड़क को लेकर जनप्रतिधियों तथा जनसामान्य की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए अधिकारी गंभीरता के साथ कार्यवाही करें। उन्होंने सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों व मझरा-टोला में विद्युतीकरण से जुड़ी समस्याओं पर तत्काल कार्यवाही करने तथा सुचारू रूप से विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिये। मंत्री श्रीमती सिंह ने राष्ट्रीय पोषण अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी लेते हुए एनीमिक महिलाओं व बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने की दिशा में किये जा रहे प्रयासो ंके बारे में जाना। बैठक के अंत में केन्द्रीय मंत्री श्रीमती रेणुका सिंह ने समस्त योजनाओं की समीक्षा उपरांत कहा कि अधिकारी क्षेत्रीय समस्याओं को दूर करने के लिए जनप्रतिनिधियोंके साथ मिल कर प्रभावी कार्य करें ताकि लोग अधिक से अधिक योजनाओं से लाभान्वित हो।

            इस अवसर पर कलेक्टर श्री श्याम धावड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री निशा नेताम, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तूलिका प्रजापति, पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू, वन मंडल अधिकारी श्री लक्ष्मण सिंह, सर्व नगरीय निकायों के अध्यक्ष, सर्व जनपद पंचायतों के अध्यक्ष, डिप्टी कलेक्टर श्री बालेश्वर राम, श्री प्रवेश पैंकरा, जनप्रतिनिधि, सहित समिति के सदस्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here