Close X
Thursday, April 22nd, 2021

मनोज तिवारी के खिलाफ वाराणसी में रिपोर्ट दर्ज

वाराणसी । भाजपा सांसद और प्रख्यात भोजपुरी गायक मनोज तिवारी द्वारा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर टिप्पणी पर कांग्रेस ने विरोध दर्ज कराया है। कांग्रेस ने वाराणसी के सीजेएम कोर्ट में परिवाद दाखिल कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। परिवाद पर सुनवाई के लिए एसीजेएम प्रथम की अदालत ने 26 फरवरी की तारीख मुकर्रर की है।
दिल्ली से सांसद और भाजपा नेता मनोज तिवारी वाराणसी में दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे थे। यहां उन्होंने पहले दिन धर्म संसद कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान मीडिया से बातचीत में उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी को चीन का एजेंट कहा था। मनोज तिवारी ने कहा अगर चीनी की सेना वापस जा रही है और फिर भी किसी के पेट में दर्द हो रहा हो तो आप समझ लीजिए वह किसका एजेंट है। मनोज तिवारी ने कहा था कि चीन की सेना पीछे जा रही है और भारत का नेता अगर उस पर सवाल उठा रहा है तो ये दु:ख की बात है।
सांसद मनोज तिवारी के इस बयान पर कांग्रेस ने नाराजगी जताई है। एक ओर काशी विदयापीठ में आयोजित शताब्दी समारोह में जहां कांग्रेस कार्यकर्ता मनोज तिवारी का विरोध करने पहुंचे, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के विधि प्रकोष्ठ की ओर से वाराणसी की एसीजेएम कोर्ट में मनोज तिवारी के विरुद्ध परिवाद दाखिल किया गया। कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे ने बताया कि हमने परिवाद दाखिल किया है, क्योंकि यह अमर्यादित टिप्पणी है। पुलिस प्रशासन पर यकीन नहीं होने का कारण बताते हुए उन्होंने कोर्ट आने की बात कही।
एसीजेएम कोर्ट की ओर से इस मामले में 26 फरवरी की तारीख लगाई गई है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश महासचिव वीरेंद्र कुमार के नेतृत्व में अपर नगर मजिस्ट्रेट छठवें के यहां मंगलवार को परिवाद दाखिल किया है। कुमार ने कहा कि भाजपा सांसद तिवारी ने राहुल गांधी के खिलाफ बेतुका बयान दिया है, जिससे पार्टी कार्यकर्ताओं को बहुत ठेस पहुंची है। हमने इस संबंध में आज उनके खिलाफ अदालत में परिवाद दाखिल किया है। उन्होंने कहा कि अगर तिवारी माफी नहीं मांगते हैं तो इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता उनके खिलाफ सड़क पर उतरने से पीछे नहीं हटेंगे। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment