Close X
Sunday, September 27th, 2020

मध्यप्रदेश निवेश की दृष्टि से एक आदर्श राज्य बन गया है : चौहान

Shivraj Singh Chauhan INVC NEWSआई एन वी सी न्यूज़ भोपाल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि देश का सम्पूर्ण विकास तभी संभव है, जब राज्यों का सभी क्षेत्र में सर्वांगीण विकास हो। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में निवेश को प्रोत्साहित करने के लिये सिंगल विण्डो से आगे बढ़कर एक मेज पर निवेश को मूर्तरूप दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मुम्बई में 'मेक इन इण्डिया' वीक में मध्यप्रदेश सरकार के प्रस्तुतिकरण में बोल रहे थे। इस मौके पर वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया भी उपस्थित थीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश निवेश की दृष्टि से एक आदर्श राज्य बन गया है। यह न केवल शांति का टापू है, बल्कि यहाँ 24 घंटे बिजली, उद्योग के लिये भरपूर पानी, प्रगतिशील उद्योग, टेक्सटाइल, रक्षा उत्पाद, सूचना प्रौद्योगिकी तथा खाद्य प्र-संस्करण नीति बनायी गयी है, ताकि उद्योगपति इन क्षेत्रों में आसानी से निवेश कर सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश कृषि प्रधान राज्य होने के साथ-साथ यहाँ प्रशिक्षित श्रमिक, तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ सरल श्रम-कानून भी है, जो निवेश में सहयोगी है। उन्होंने कहा कि उद्योग स्थापना में अनावश्यक निरीक्षण को समाप्त किया गया है। मुख्यमंत्री ने 'मेक इन इण्डिया' वीक में आये उद्योगपतियों को 22 अप्रैल से 21 मई तक होने वाले सिंहस्थ पर्व में आने का निमंत्रण दिया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश अब बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर आ गया है और देश के अग्रणी राज्यों में शामिल है। मध्यप्रदेश के 3 शहर स्मार्ट-सिटी में शामिल हुए हैं। प्रदेश में उद्योग ही नहीं, पर्यटन के क्षेत्र में भी व्यापक विकास हुआ है। हाल ही में खण्डवा में हनुवंतिया टापू पर देश का आकर्षक पर्यटन-स्थल विकसित किया गया है। उन्होंने उद्योगपतियों से कहा कि वे प्रदेश में निवेश करें या न करें, लेकिन यहाँ के रमणीय पर्यटन-स्थलों का आनंद अवश्य लें। उद्योग, वाणिज्य मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने मध्यप्रदेश के औद्योगिक विकास के 4 लेण्ड मार्क बताये। उन्होंने कहा कि पहला लीडरशिप, दूसरा लोकेशन, तीसरा लेबर और चौथा लेण्ड बैंक। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश का अकल्पनीय विकास हुआ है। प्रदेश में निवेश करना फायदेमंद ही नहीं, बल्कि सुरक्षित भी है। मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा ने प्रदेश में औद्योगिक संभावनाएँ और व्यवस्थाओं पर प्रस्तुतिकरण दिया। पर्यटन के क्षेत्र में प्रदेश द्वारा किये जा रहे नये प्रयासों की भी जानकारी दी गयी। इस मौके पर प्रमुख सचिव उद्योग एवं वाणिज्य मो. सुलेमान, प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्री मनोज श्रीवास्तव, सचिव मुख्यमंत्री श्री विवेक अग्रवाल, प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी एवं सीआईआई पश्चिम अंचल के अध्यक्ष श्री सुधीर मेहता भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment