Monday, October 14th, 2019
Close X

मंगल भवन निर्माण के लिए मिलेगी नि:शुल्क जमीन

INVC-NEWSआई एन वी सी न्यूज़ रायुपर, राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने कहा है कि नगर माता के नाम से लोकप्रिय स्वर्गीय श्रीमती बिन्नी बाई की दानशीलता और समाज सेवा में उनका योगदान सबके लिए प्रेरणादायक है। श्री टंडन ने आज शाम यहां अम्बेडकर अस्पताल के पास जीर्णोद्धार के बाद नये स्वरूप में नगर माता बिन्नी बाई धर्मशाला का लोकार्पण करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। उन्होंने इस अवसर पर अस्पताल के पास वैश्व सेवा सोसायटी द्वारा मंगल भवन में निर्मित तीसरी मंजिल और लिफ्ट सुविधा का भी लोकार्पण किया। समारोह की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी स्वर्गीय श्रीमती बिन्नी बाई की दानशीलता और परोपकार की भावना को याद किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर यह भी ऐलान किया कि राज्य में 300 या उससे ज्यादा बिस्तरों वाले बड़े अस्पतालों के आसपास मंगल भवनों के निर्माण के लिए राज्य शासन द्वारा निःशुल्क जमीन दी जाएगी। उन्होंने कहा कि रायपुर में एम्स सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में अब ऐसे सात-आठ बड़े अस्पताल मरीजों को अपनी सेवाएं दे रहे हैं, वहां अगर समाज सेवी संस्थाएं मंगल भवन बनाना चाहें तो उन्हें सरकार की ओर से जमीन निःशुल्क दी जाएगी। मंगल भवन बनने पर मरीजों के परिवारजनों को वहां ठहरने की सुविधा मिलेगी। राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि नगर माता बिन्नी बाई सोनकर ने जनता की सेवा के लिए अपनी जमा पूंजी को अर्पित कर मानवता की सेवा की है और उनका यह योगदान सभी के लिए प्रेरणादायी है। उनके इस सेवाभावी पहल का संदेश जन-जन तक पहुंचना चाहिए कि एक साधारण व्यक्ति के द्वारा दिए गए योगदान का उतना ही मूल्य होता है जितना कि एक बड़े व्यक्ति का होता है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस अवसर पर बिन्नी बाई के योगदान को याद करते हुए मंगल भवन में मरीजों के परिजनों को सर्वसुविधाएं देने के लिए वैश्व सेवा सोसायटी की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के बड़े अस्पतालों के पास मंगल भवन निर्माण के लिए निःशुल्क भूमि दी जाएगी। इस अवसर पर राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि नगर माता का योगदान दुनिया में अपने तरह का अनूठा है। उन्होंने कहा कि अपने परिवार के लिए तो सभी जीते हैं, पर जो दूसरों की पीड़ा कम करने की कोशिश करते हैं, उनका ही दुनिया में नाम होता है। श्री टंडन ने कहा कि नगर माता की सेवाभावी पहल के लिए यहां पर उनकी मूर्ति लगायी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि बिन्नी बाई सोनकर ने समाज सेवा का जो कार्य शुरू किया था, उसे मंगल भवन के साथ श्री सीताराम अग्रवाल ने आगे बढ़ाया है, उसकी जितनी प्रशंसा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के हर एक कार्य से दूसरों को प्रेरणा मिलती है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि अन्य बीमारियों की तरह कैंसर का इलाज भी संभव है। कैंसर से भयभीत नहीं होना चाहिए। इसके संबंध में जागरूकता लाना अतिआवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा - राजधानी के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में कैंसर के विश्वस्तरीय उपचार की व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि यह अस्पताल देश के चुनिंदा अस्पतालों में से एक है, जहां इस प्रकार के इलाज की अत्याधुनिक सुविधा है और यहां आस-पास के सात-आठ राज्यों के मरीज बड़ी संख्या में आते हैं, जो यहां के चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टॉफ की कुशलता का परिचायक है। कार्यक्रम में कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चंद्राकर, विधायक श्री श्रीचंद सुन्दरानी, नगर निगम रायपुर के महापौर श्री प्रमोद दुबे, बिन्नी बाई सोनकर के परिजन सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि दूसरों के जीवन में खुशियां लाएंगे तो आपके जीवन में भी खुशियां आएंगी। उन्होंने वैश्व सेवा सोसायटी के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान के अन्य राज्यों में अस्पताल के नजदीक ऐसी सर्वसुविधायुक्त धर्मशाला शायद ही हो। इस अवसर पर रेडक्रॉस सोसायटी के चेयरमेन श्री अशोक अग्रवाल ने बताया कि रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा मेकाहारा में संचालित अनोखा ब्लड बैंक है जहां मामूली शुल्क पर तत्काल रक्त उपलब्ध कराया जाता है। इस उत्कृष्ट कार्य के लिए नैको द्वारा एक्सीलेंस अवार्ड भी दिया गया है। उन्होंने कहा कि रेडक्रॉस सोसायटी और वैश्व सेवा सोसायटी के सहयोग से रायपुर में अत्याधुनिक ब्लड बैंक और डायबिटिक केन्द्र शीघ्र ही बनाया जाएगा। मंगल भवन वैश्य सेवा समिति के अध्यक्ष श्री सीताराम अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य एवं पड़ोसी राज्यों से बड़ी संख्या में लोग कैन्सर के इलाज के लिए मेकाहारा मे आते हैं एवं इस धर्मशाला मे रुकते हैं। यहां 95 प्रतिशत कैंसर के मरीज एवं उनके रिश्तेदार यहॉं ठहरते हैं। लगभग 2 हजार से ज्यादा व्यक्तियों को सेवा दी जा चुकी है। यहां ठहरने और भोजन के लिए मात्र 50 रुपये का शुल्क लिया जाता है तथा जरुरतमंद लोगों को निःशुल्क सेवाएं दी जाती हैं। इस नए स्वरूप में म्ंागल भवन एवं बिन्नी बाई माता धर्मशाला की क्षमता वर्तमान 450 बेड की हो गयी है। इसे नए और आधुनिक ढंग से सुसज्जित किया गया है। यहॉ ठहरने वालो का मंगल हो, निरोगी बनें, खुशियां लौट के आये चेहरों मे मुस्कुराहट जगे। उन्होंने कहा कि जरुरतमंदो को सेवा प्रदान करना हमारा उद्देेश्य एवं संकल्प है। ‘रक्त दूत’ मोबाईल एप लांच किया गया राज्यपाल श्री टंडन और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कार्यक्रम में स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा तैयार किये गए ‘रक्त दूत’ मोबाईल एप का शुभारंभ किया गया। इसके जरिए जरूरतमंदों को रक्तदाताओं की संपूर्ण जानकारी मिलेगी। इस एप में रक्त समूह का नाम डालते ही एक किलोमीटर की परिधि में उस समूह से संबंधित रक्तदाताओं के नाम तथा उनके मोबाईल नंबर की जानकारी मिलेगी। कार्यक्रम में मरीजों के परिजनों को कंबल वितरण भी किया गया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment