Wednesday, February 26th, 2020

भू्रण हत्या - रोकथाम के लिए निअकाला पोस्टर

female poster,आई एन वी सी,रायपुर,राज्यपाल शेखर दत्त ,राज्यपाल ,शेखर दत्त , गर्भ परीक्षण, भू्रण हत्या,आई एन वी सी,
रायपुर, राज्यपाल श्री शेखर दत्त ने आज यहां राजभवन में राज्य संसाधन केन्द्र (प्रौढ़ एवं सतत शिक्षा), छत्तीसगढ़ द्वारा साक्षरता की बढ़ाने के विशेषकर ग्रामीण महिलाओं के बीच वित्तीय साक्षरता बढ़ाने के साथ-साथ बालक की चाहत में गर्भ परीक्षण करवाकर भू्रण हत्या किये जाने जैसे गंभीर अपराधों की रोकथाम करने के उद्देश्य से बनाये गये दो पोस्टरों का विमोचन किया। उन्हांेने इस अवसर पर ‘घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम 2005’ व ‘कार्य स्थल पर यौन उत्पीड़न निवारण अधिनियम 2013’ पर केन्द्रित दो फोल्डरों का भी विमोचन किया। ये पोस्टर एवं फोल्डर विधि एवं न्याय मंत्रालय (न्याय विभाग) तथा राष्ट्रीय साक्षरता मिशन प्राधिकरण, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से बनाये गये हैं। राज्यपाल श्री दत्त ने विमोचन के उपरांत बातचीत के दौरान कहा कि बेहद खेद और चिंतन की बात है कि आज भी हमारे समाज में टोनही जैसी सामाजिक बुराईयां एवं अंधविश्वास व्याप्त है, जिसके कारण महिलाओं को मानसिक एवं शारीरिक प्रताड़ना एवं सामाजिक बहिष्कार का सामना करना पड़ता है। मानवता के प्रति ऐसे गंभीर अपराध एवं अंधविश्वास के उन्मूलन के लिए शासन के साथ-साथ राज्य संसाधन केन्द्र एवं अन्य सामाजिक संस्थाओं द्वारा मीडिया के सहयोग से समाज में जागरूकता बढ़ायी जानी चाहिए। ऐसे अपराधियों के प्रति कड़ी कार्यवाही करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में कथनी एवं करनी में अंतर दिखाई देता है। जहां एक ओर देवी लक्ष्मी, सरस्वती एवं दुर्गा के रूप में नारी स्वरूपों की पूजा की जाती है, वहीं दूसरी ओर समाज में भू्रण हत्या के माध्यम से बालिकाओं की हत्या करने जैसे गंभीर अपराध भी दिखाई देते है। इससे स्त्री-पुरूष का अनुपात तथा सामाजिक असंतुलन होने का भी खतरा बढ़ गया है। उन्होंने ऐसी सामाजिक परिस्थिति बनाने पर जोर दिया, जिससे बालिकाएं न केवल अच्छी शिक्षा प्राप्त करें, बल्कि उन्हें पोषक एवं स्वास्थ्यवर्धक भोजन भी सहर्ष उपलब्ध हो, जिससे उनका समुचित शारीरिक, मानसिक एवं बौद्धिक विकास हो। उन्होंने सामाजिक संस्थाएं से आग्रह किया कि वे महिलाओं एवं बच्चों के हित के लिए विभिन्न ज्वलंत मुद्दों पर संबंधित आयोगों एवं विभागों के साथ समन्वय करते हुए कार्य करें। इस अवसर पर राज्य संसाधन केन्द्र के निदेशक श्री तुहिन देब ने राज्यपाल को संस्था द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। इस अवसर पर राज्यपाल के उप सचिव श्री निरंजन दास, राज्य संसाधन केन्द्र के वरिष्ठ कार्यक्रम समन्वयक श्रीमती शबाना आजमी, कार्यक्रम समन्वयकगण श्री अतीक जैदी, श्री विनोद सिंह खरसन व श्री रविन्द्र यादव भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment