Monday, July 6th, 2020

भारत में उदारीकरण के ज़्यादा अवसर हैं : आनंद शर्मा

रिचर्ड अलेक्सजेंडर   वाशिंगटन (अमेरिका). अमेरिका- भारत व्यापार परिषद (यूएस-आईबीसी) की गत दिवस यहां हुई वार्षिक बैठक को संबोधित करते हुए केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि व्यापार एवं आर्थिक गतिविधियों का वर्तमान स्तर संभावना की अपेक्षा कम है। उन्होंने कहा कि भारत में व्यापक आर्थिक उदारीकरण के कारण इससे कहीं अधिक व्यापार के अवसर है। इंडिया ब्रांड इक्विटी फाउंडेशन के लिए तैयार की गई कंट्रीव्यूशन ऑफ दि इंडियन इंडस्ट्री टू द यूएस इकोनामी विषय पर एक अध्ययन की रिपोर्ट जिसे उन्होंने बैठक में जारी किया, पर चर्चा करते हुए मंत्री महोदय ने बताया कि वर्ष 2004-07 की अवधि के दौरान भारतीय उद्योग ने अमरीकी अर्थव्यवस्था के लिए 105 अरब अमरीकी डालर का योगदान दिया और 3,00,000 रोजगार का सृजन किया। उन्होंने यह भी कहा कि अमरीका और भारत प्रगति के साझेदार हैं और एक साथ मिलकर 21वीं सदी को संवार सकते हैं। इस  बैठक को अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लींटन, अमरीकी वाणिज्य मंत्री गैरी लॉक तथा अमरीकी व्यापार प्रतिनिधि, राजदूत रॉन किर्क तथा वरिष्ठ अमरीकी सरकारी अधिकारियों ने भी संबोधित किया।  बाद में अमरीकी व्यापार प्रतिनिधि के साथ बातचीत में आनंद शर्मा ने दोहा दौर की वार्ता पर चर्चा की। दोनों ने आपसी हित के विषयों पर विचार-विमर्श किया। दोनों देशों के बीच व्यापार एवं निवेश बढ़ाने के उपायों पर भी चर्चा हुई।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

hypotheek, says on August 13, 2010, 4:24 PM

Bereken zelf uw hypotheek. Hypotheek berekenen? Maak snel een indicatieve berekening van het maximale leenbedrag van uw hypotheek.