Close X
Saturday, October 24th, 2020

भारत जैविक विविधता के बारे में पार्टीज का ग्‍यारहवां सम्‍मेलन

आई.एन.वी.सी., दिल्ली,, भारत जैविक विविधता के बारे में पार्टीज का ग्‍यारहवां सम्‍मेलन (सीओपी-11) और जैव सुरक्षा पर कार्टेजीना प्रोटोकॉल के मीटिंग ऑफ पार्टीज (सीओपी/एमओपी-6) का छठा सम्‍मेलन आयोजित कर रहा है। सम्‍मेलन अगले वर्ष 1 अक्‍तूबर से 19 अक्‍तूबर तक आयोजित किया जाएगा। पर्यावरण और वन मंत्रालय पणधारक विचार-विमर्श आयोजित कर रहा है और 23 मई 2011 को एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए जैव विविधता पर संयुक्‍त राष्‍ट्र दशक की शुरूआत करेगा। इसकी अध्‍यक्षता पर्यावरण और वन मंत्री श्री जयराम रमेश करेंगे। मान्ट्रियल स्थित सीबीडी सचिवालय के कार्यकारी सचिव डा. अहमद जोग़लाफ भी इसमें मौजूद रहेंगे। कुछ मंत्री/दिल्‍ली स्थित उच्‍चायोगों के उच्‍चायुक्‍तों के भी इसमें भाग लेने की उम्‍मीद है। केन्‍द्र सरकार के मंत्रालायों/विभागों, राज्‍य सरकारों, राष्‍ट्रीय जैव विविधता प्राधिकरण, राज्‍य जैव विविधता बोर्डों, विश्‍वविद्यालयों, विशेष एजेंसियों, संयुक्‍त राष्‍ट्र संगठनों, सिविल सोसाइटी, संगठनों और उद्योग के प्रतिनिधि भी इसमें शामिल होंगे। संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने जैव विविधता के लिए उत्‍पन्‍न खतरों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए वर्ष 2010 को अंतरराष्‍ट्रीय जैव विविधता वर्ष घोषित किया था। इस गति को बनाए रखने के लिए 2011-2020 की अवधि को संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने संयुक्त राष्‍ट्र जैव विविधता दशक घोषित किया, जिसे नागोया, जापान में हुई सीबीडी के सीओपी-10 में मंजूरी दे दी गई। भारत में होने वाला सीओपी-11 जैव विविधता पर संयुक्‍त राष्‍ट्र दशक में पहला सीओपी होगा। वर्ष 2012 में सीओपी-11 इस दृष्टि से भी महत्‍वपूर्ण है, क्‍योंकि इसी वर्ष स्‍टॉकहोम सम्‍मेलन की 40 वीं वर्षगांठ, रियो अर्थ शिखर सम्‍मेलन की 20वीं वर्षगांठ और जोहान्‍सबर्ग शिखर सम्‍मेलन की 10 वीं वर्षगांठ मनाई जाएगी। भारत का प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण और उनके दीर्घकालिक इस्‍तेमाल का लंबा इतिहास रहा है। पर्यावरण संरक्षण हमारे संविधान (धारा 48ए और 51ए) में भी प्रतिष्‍ठापित है। पर्यावरण संरक्षण के लिए एक संगठनात्‍मक ढांचा विकसित हो चुका है। अनेक नीतियां, कार्यक्रम और परियोजनाएं लागू हैं, जो देश के जैव संसाधनों के दीर्घकालिक इस्‍तेमाल के लिए संरक्षण और नियमन करती हैं।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment