Saturday, February 29th, 2020

भारत और चीन की सभ्यता और संस्कृति अत्यंत प्राचीन है : चौहान

chauhan with chinease delegationआई एन वी सी न्यूज़ भोपाल, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से चीनी राजदूत श्री ली यूचेंग के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने आज यहाँ भेंट की। श्री चौहान ने कहा कि चीनी प्रतिनिधि मंडल ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2016 में सहयोगी राष्ट्र बनेगा तो उन्हें प्रसन्नता होगी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश निवेश का आदर्श डेस्टिनेशन है। श्री यूचेंग ने कहा कि ग्लोबल समिट-2016 में भारत में पंजीकृत चीनी निवेशकों का प्रतिनिधि मंडल भी शामिल होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की निवेश मित्र योजनायें, 25 हजार हेक्टेयर शासकीय भूमि का बैंक, औद्योगिक वातावरण और बुनियादी ढ़ांचा प्रमुख आकर्षण हैं। इसके साथ ही पर्यटन के अदभुत स्थल हैं। उन्होंने कहा कि भारत और चीन की सभ्यता और संस्कृति अत्यंत प्राचीन है। उन्होंने विगत दशक में हुई मध्यप्रदेश की प्रगति का ब्यौरा देते हुए कहा कि समावेशी विकास राज्य के विकास का आधार रहा है। अर्थव्यवस्था की प्रगति का लाभ गरीबों को मिले, इसके प्रभावी प्रयास किए गये हैं। राज्य की विकास दर निरंतर सात वर्ष से डबल डिजिट में है। कृषि विकास दर भी पिछले चार वर्ष से 20 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि प्रोविंस टू प्रोविंस और सिस्टर सिटी अवधारणाओं पर चीन की पहल का प्रदेश में स्वागत होगा। भारत में चीन के राजदूत श्री ली यूचेंग ने कहा है कि वे मध्यप्रदेश की सांस्कृतिक धरोहरों, बुनियादी विकास और वातावरण से अत्यंत प्रभावित हैं। चीन और मध्यप्रदेश के मध्य पर्यटन और औद्योगिक सहयोग की व्यापक संभावनायें हैं। मध्यप्रदेश में चीन के निवेशक और पर्यटक अधिक से अधिक आयें इसके लिये वे भरपूर प्रयास करेंगे। श्री चौहान से चर्चा से प्रभावित होकर उन्होंने कहा कि वे अब से मध्यप्रदेश के लिये कार्य करेंगे। उन्होंने मध्यप्रदेश को सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, राजनैतिक, आर्थिक और भौगोलिक रूप से भारत का हृदय स्थल बताया। उन्होंने चीन की आर्थिक प्रगति और भविष्य के संबंध में जानकारी देते हुये कहा कि चीनी अर्थव्यवस्था क्वान्टिटी से क्वालिटी की ओर बढ़ रही है। अर्थव्यवस्था नियो नार्मल स्थिति में है। उन्होंने मध्यप्रदेश राज्य और नगरों की चीन के साथ साम्यता का उल्लेख करते हुये प्रांत से प्रांत और सिस्टर सिटी की अवधारणाओं पर सहयोग की सम्भावनाओं पर प्रकाश डाला। इस दौरान प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग श्री मोहम्मद सुलेमान, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री एस.के.मिश्रा, प्रबंध संचालक ट्राइफेक श्री डी.पी. आहूजा भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment