राजीव जैन
 
नई दिल्ली.
   भारत इलेक्ट्रानिक्स लिमिटेड (बीईएल) बंगलुरू, कृत्रिम बुध्दिमत्ता और रोबोटिक्स केन्द्र (सीएआईआर), शस्त्र अनुसंधान और विकास प्रतिष्ठान (एआरडीई), परियोजना प्रबंधन संगठन (पीएमओ) द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किए गए पूर्णत: अंकीय, एकीकृत और नेटवर्क प्रणाली शक्ति आर्टिलरी युध्द कमान और नियंत्रण प्रणाली (एसीसीसीएस) को  डीआरडीओ ऑडिटोरियम में आयोजित एक कार्यक्रम के अवसर पर भारतीय सेना को समर्पित किया गया है.  
 
सूचना प्रणाली के महानिदेशक, लेफ्टिनेंट जनरल पीसी कटोच और बीईएल के अध्यक्ष तथा प्रबंध निदेशक अश्विनी कुमार दत्त ने कल शक्ति प्रणाली को सेनाप्रमुख जनरल दीपक कपूर और आर्टिलरी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल के आर राव के सपुर्द किया।

 इस अवसर पर अपने संबोधन में सेनाध्यक्ष जनरल दीपक कपूर ने कहा कि भविष्य में होने वाले युध्द कम अवधि के, तीव्र और प्रौद्योगिकी से युक्त होंगे। अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सेना को स्थितिगत जागरूकता और सी 31 नेटवर्क जैसे सहायक उपकरणों के साथ त्वरित निर्णय लेने की आवश्यकता होगी। शक्ति परियोजना ने आर्टिलरी को कमान के सभी स्तरों पर सशक्त बना दिया है।

 इस कार्यक्रम में वायुसेना, नौसेना, डीआरडीओ और बीईएल के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा कई बड़े  सैन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here