आईएनवीसी ब्यूरो
नई दिल्ली.
भारत और इंडोनेशिया की नौसेनाओं द्वारा 14वां भारत-इंडो कॉरपेट संयुक्त गश्त अभियान 18 अक्तूबर से 5 नवम्बर, 09 तक चलाया जाएगा। यह अभियान नौसेना के उपाध्यक्ष देवेन्द्र कुमार जोशी, अंडमान निकोबार कमान के कमांडन इन चीफ और इंडोनेशिया की वेस्टर्न पऊलीट कमांन के कमांडर के पूर्ण नियंत्रण में चलाया जाएगा.

इकाइयों का संचालन अंडमान और निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में नौसेना ऑफीसर इंचार्ज और तांगजुग पिनांग पर स्थित डानगुसकमलाबार में वेस्टर्न पऊलीट के समुद्री सुरक्षा समूह के कमांडर की देखरेख में किया जाएगा।
 
भारत और इंडोनेशिया की समुद्री क्षेत्र में करीब 300 किलोमीटर की अंतर्राष्ट्रीय सीमा एक साथ है। भारतीय महासागर क्षेत्र में नौसेना से नौसेना के सहयोग को बढाते हुए भारत और इंडोनेशिया की नौसेनाओं ने अंतर्राष्ट्रीय समद्री सीमा रेखा पर संयुक्त गश्त का आयोजन किया है। इस संयुक्त गश्त का उदेश्य सशस्त्र डकैती, अवैध रूप से मछली पकड़ना, अवैध आव्रजन, नशीली दवाओं की तस्करी और अन्य अवैध गतिविधियों को रोकना है।

  इंडोनेशिया के बेलावन में 19 अक्तूबर को होने वाले उद्धाटन समारोह कॉरपेट में अंडमान और निकोबार  के नौसेना ऑफीसर इंचार्ज, कमांडर पी. सुरेश भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। समापन समारोह 4 नवम्बर को पोर्ट ब्लेयर में होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here