Sunday, December 8th, 2019

भाजपा दलितों और मुसलमानों को ‘कुत्ता’ समझती है ?

P.K. Siddharthआई एन वी सी न्यूज़

नई दिल्ली,
हरियाणा  के सुनपेट गाँव में, जो दिल्ली के बिलकुल बगल में है, एक दलित परिवार के दो बच्चों को हिन्दू उच्च जाति के लोगों द्वारा ज़िंदा जला दिया गया और बच्चों के माता पिता गंभीर रूप से आहत हो गए. इस घटना के सम्बन्ध में जो प्रतिक्रया हरयाणा सरकार और भाजपा के केंद्रीय मंत्री वी के सिंह द्वारा प्रदर्शित की गयी है वह इन आरोपों को विश्वसनीयता प्रदान करती है कि भारतीय जनाता पार्टी न केवल अल्पसंख्यक-विरोधी रुख वाली पार्टी है बल्कि हिन्दू उच्चवर्गीय चरित्र वाली पार्टी भी है.भारतीय सुराज दल न केवल इस घटना की निंदा करता है बल्कि जेनेरल वी के सिंह के उस बयान की भी  निंदा करता है को दलितों के सन्दर्भ में ‘कुत्ता’ जैसे शब्द का ठीक उसी प्रकार प्रयोग करता है जैसा की श्री नरेन्द्र मोदी ने मुसलमानों की  ह्त्या के सन्दर्भ में कभी ‘कुत्ते के पिल्ले’ का प्रयोग किया था.  दलितों और मुसलमानों को प्रत्यक्षतः या परोक्षत्तः ‘कुत्ता’ बताना एक अत्यंत निंदनीय कृत्य है, जिसके लिए भाजपा पार्टी नेतृत्व को देश से क्षमा याचना करनी चाहिए. भासुद ने यह भी लक्ष्य किया है दादरी में मोहम्मद अख़लाक़ की ह्त्या होने पर सारे बड़े नेताओं ने अख़लाक़ और मुसलामानों से एकता और सहानुभूति प्रदर्शित करने के लिए कतार लगा दी थी, मगर वे ज्यादातर बड़े नेता अभी तक सुनपेट में कहीं नजर नहीं आ रहे. इनमें अरविन्द केजरीवाल भी शामिल है. भासुद इस बात की भी निंदा करता है और इस बात पर भी दुःख प्रकट करता है.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment