Close X
Saturday, December 5th, 2020

भाजपा असम को बाढ़ से निजात दिलाने के लिए कटिबद्ध है : अमित शाह

Amit Shah INVC NEWS Assamआई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज शुक्रवार को असम के डिब्रूगढ़ में पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया और कर्कर्ताओं से आगामी असम विधान सभा चुनाव में तन-मन से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने के लिए जुट जाने का आह्वान किया। श्री शाह ने नागा शांति समझौते और उल्फा नेता अनूप चेतिया को बांग्लादेश से भारत लाए जाने का जिक्र करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी पूर्वोत्तर और असम के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान श्री नरेन्द्र मोदी कहते थे कि भारत का विकास एक सामान नहीं हुआ है और देश का पूर्वी क्षेत्र देश के पश्चिमी क्षेत्र की तुलना में विकास की दृष्टि से बहुत पीछे है। श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री बनते ही श्री नरेन्द्र भाई मोदी ने देश के पूर्वोत्तर राज्यों के लिए विशेष योजनाओं का सूत्रपात किया है और पूर्वोत्तर के विकास पर सरकार का ध्यान केंद्रित किया है चाहे वह रेल यातायात की बात हो, असम के गाँवों को राजमार्गों से जोड़ने की बात हो, राज्य में रेडियो और टेलीविजन चैनल लगाने की बात हो या फिर रोजगार सृजन करने के लिए मुद्रा बैंक, कौशल विकास अथवा मेक इन इंडिया कार्यक्रम की शुरुआत करने की बात हो। श्री शाह ने कहा कि जरूरत इस बात की है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा असम के विकास के लिए बनाई गई योजनाओं को जमीन पर उतारा जाए। उन्होंने कहा कि इसके लिए असम में राज्य के लोगों के साथ कंधे-से-कंधा मिलाकर काम करनेवाली सरकार की जरूरत है और ऐसी सरकार केवल भाजपा ही दे सकती है। श्री शाह ने कहा कि असम एक ऐसा राज्य है जिससे अंतर्राष्ट्रीय सीमाएं लगी हुई हैं। उन्होंने कहा कि हम एक सुरक्षित सीमा की जरूरत समझते हैं, असम को किसी और चीज से भी अधिक एक विकास केंद्रित देशभक्त सरकार चाहिए और ऐसी सरकार केवल भाजपा ही दे सकती है। उन्होंने कहा कि असम की गोगोई सरकार राज्य के लोगों को भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन नहीं दे सकी है। उन्होंने बांग्लादेश के साथ हाल में हुए समझौते को सही बताते हुए कहा कि सीमा पर बाड़ लगाने से पड़ोसी देश से अवैध घुसपैठ की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी। भाजपा अध्यक्ष ने असम की कांग्रेस सरकार पर राज्य में बांग्लादेश से अवैध घुसपैठ को रोक पाने में अक्षम होने का आरोप लगाया और कहा कि वोट बैंक की राजनीति के लिए राष्ट्र की सुरक्षा को ताक पर रखकर कांग्रेस सरकार इस तरफ से लापरवाह है। उन्होंने कांग्रेस पर गुपचुप तरीके से एआईडीयूएफ से 'गुप्त समझौता' कर लेने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस एआईडीयूएफ से गठबंधन कर के राज्य को बांग्लादेशी घुसपैठ की समस्या से कैसे निजात दिला सकती है? श्री शाह ने कहा कि भाजपा एकमात्र ऐसी पार्टी है जो वोट बैंक के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा हितों से समझौता नहीं करती। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के रहते असम को अवैध घुसपैठों से मुक्त बनाना असंभव है। उन्होंने मुख्यमंत्री तरुण गोगोई को चुनौती दी कि वे बजाए गुप्त समझौते के खुलकर एआईयूडीएफ प्रमुख मौलाना बदरुद्दीन अजमल से बात करें। भाजपा अध्यक्ष ने असम की तरुण गोगोई की कांग्रेस सरकार को ललकारते हुए कहा कि असम सरकार को पारदर्शिता दिखानी चाहिए और जितनी योजनाओं को केंद्र सरकार ने राज्य के विकास के लिए मंजूरी दी है और इसके लिए जितनी राशि आवंटित की है, उसका पाई-पाई का हिसाब सार्वजनिक करना चाहिए ताकि राज्य की जनता को यह पता चल सके कि असम के विकास के लिए निर्धारित राशि का भ्रष्टाचार में किस तरह गबन किया गया है। श्री शाह ने कहा कि विकास की कई योजनाएं तो असम सरकार के कागजों में गुम होकर रह गई है। भाजपा अध्यक्ष ने असम में कांग्रेस के 15 वर्षों के शासनकाल पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस के इतने वर्षों तक शासन करने के बावजूद असम के गाँवों में 24 घंटे बिजली नहीं पहुँची है, गाँवों का सड़कों से जुड़ाव नहीं हुआ है, पीने योग्य पानी का अभाव है, स्वास्थ्य सेवायें बदतर हैं, स्कूली शिक्षा का स्तर बहुत अच्छा नहीं है जबकि भाजपा शासित राज्य विकास के नित नए आयाम स्थापित करते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा और प्रदेश की जनता वर्तमान असम सरकार से पूछना चाहती है कि असम अभी तक विकास से महरूम क्यों है? श्री शाह ने कहा कि भाजपा नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन बनाने को प्रतिबद्ध है और केंद्र में श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार बनने के साथ ही इस दिशा में शुरुआत कर दी गई है। असम में बाढ़ की भीषण समस्या को रेखांकित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस समस्या के पूर्णकालिक निदान के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार को मिलकर काम करना पड़ेगा और भाजपा असम को बाढ़ से निजात दिलाने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने राज्य के रेल नेटवर्क को डबल ट्रैक में बदलने का आश्वासन भी दिया। भाजपा अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि असम परिवर्तन की राह पर चल पड़ा है। उन्होंने कहा कि भाजपा असम में विकास की एक नई शुरुआत करेगी जो हर तबके के सर्वांगीण विकास पर केंद्रित होगा।  उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि असम की वर्तमान कांग्रेस सरकार की नाकामियों को, उनके भ्रष्टाचार को और असम के लोगों को विकास से दूर रखने की उनकी नीतियों को असम के जन-जन तक पहुंचाएं और संकल्प लें कि असम में अगले विधान सभा चुनाव में भाजपा की सरकार बनाकर असम को विकास के पथ पर तीव्र गति से अग्रसर करेंगें।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment