Close X
Thursday, December 9th, 2021

भाग दौड भरी जीवन शैली में बढता प्रदूषण स्तर तथा आने वाली सर्दियां स्वास्थ्य के लिए खतरा है : मयंक कुमार

आई.एन.वी.सी,,

लखनऊ,,
डॉबर च्यवनप्राश स्वास्थ्यपूरक क्षेत्र की अग्रणी संस्था डॉबर समूह की ओर से आज देशव्यापी स्कूल चैलेन्ज ’’ डॉबर च्यवनप्राश इम्युन इण्डिया स्कूल चैलेन्ज’’ की घोषणा की। इस पहल के तहत डॉबर च्यवनप्राश तथा इसके ब्रांड एम्बेस्डर महेन्द्र सिंह धोनी भारत के सर्वाधिक रोग प्रतिरोधी स्कूलों को चिन्हित और प्रमाणित करेंगे। इस प्रक्रिया के तहत वे अभिभावकों, बच्चों और अध्यापकों के बीच मजबूत रोग प्रतिरोधी सिस्टम की आवश्यकता पर जोर देंगे ताकि बदलते मौसम, प्रदूषण, कीटाणु तथा वायरस से लडा जा सके। इस अभियान की घोषणा करते हुए डॉबर च्यवनप्राश, डॉबर इण्डिया लि. के ब्रांड हेड श्री मयंक कुमार ने कहा, ’’आज की दौड भाग भरी जीवन शैली, बढता प्रदूषण स्तर, डेंगू जैसी महामारी, दूषित भोजन, पानी तथा आने वाली सर्दियां, ये सभी स्वास्थ्य के लिए खतरा है। एक मजबूत रोग प्रतिरोधी सिस्टम हमें अनेक बीमारियों से बचाता है लेकिन हममें से अधिकांश लोगों के पास मजबूत रोग प्रतिरोधी क्षमता नहीं होती इसलिए हम बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। खासतौर से ऐसा बच्चों के साथ होता है क्योंकि उनका प्रतिरोधी सिस्टम अभी विकास कर रहा होता है और वे ज्यादा बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। इस पृष्ठभूमि में देश की अग्रणी स्वास्थ्यरक्षक ब्रांड डॉबर च्यवनप्राश प्रतिरोधी क्षमता की आवश्यकता जागरूक करने की जिम्मेदारी खास तौर पर बच्चों में, ली है जो देश के भविष्य हैं, इम्युन इण्डिया कैम्पेन के माध्यम से इस तथ्य को चिन्हित किया जायेगा कि स्कूल बच्चों के भविष्य निर्माण में महत्वपूर्ण भमिका अदा करते हैं क्योंकि वे बच्चों के प्रारम्भिक वर्षों में प्रमुख देखभालकर्ता होते हैं इसलिए यह अभियान स्कूलों पर केन्द्रित है। इस अभियान के माध्यम से पिछले कुछ वर्षों में हम देश के स्कूलों तक पहुंच कर बच्चों और अध्यापकों को प्रतिरोधी क्षमता की आवश्यकता के बारे में बताते रहे हैं। इस साल हमने एक और कदम बढाते हुए रोग प्रतिरोधक भारत का सपना देखा है। इस अभियान के तहत हमारे पार्टनर फोर्टिस, भारत के अधिकतम रोगप्रतिरोधी स्कूलों की पहचान करेंगे।  इस अभियान के तहत डॉबर च्यवनप्राश इम्युन स्कूल चैलेन्ज लगभग 2500 स्कूलों तक सीधी पहुंच तथा टेलीविजन तथा प्रिंट कैम्पेन के माध्यम से पहुंचने की कोशिश करेगा। उत्तर प्रदेश में गोरखपुर, वाराणसी, आगरा तथा कानपुर के स्कूलों तक पहुंचने का अभियान है।  अभियान में भाग लेने के लिए स्कूलों को आमंत्रित किया जायेगा और उनसे कुछ आंकडे जैसे औसत उपस्थिति, हाईजिन की सुविधाएं, यथा शौचालयों की संख्या तथा पीने के पानी की गुणवत्ता के बारे में जानकारी मांगी जाएगी। इसी तरह सिक रूम की उपस्थिति, डॉक्टर ऑन कॉल, हेल्थ कैम्प की संख्या स्कूलों द्वारा चलाये गये अभियान तथा स्कूल के एकेडमिक प्रदर्शन की जानकारी ली जाएगी। चुने गये 50 शीर्ष स्कूलों की विजिट तथा जांच डॉ. और फोर्टिस हेल्थ केयर लि. के विशेषज्ञों के द्वारा की जायेगी, इस तरह से प्रत्येक स्कूल के प्रधानाचार्य से किसी एक बच्चे की चिन्हित करने का अनुरोध किया जायेगा। इन 50 शीर्ष स्कूल और 50 इम्युनो चैम्प को दिल्ली में होने वाली राष्ट्रीय इम्युन इण्डिया कान्फ्रेंस में चिन्हित किया जायेगा। तीन शीर्ष स्कूल लगभग 10 लाख रूपये लागत के लैपटॉप जीतेंगे तथा  50 बच्चे टेबलेट पीसी जीतेंगे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment