Sunday, December 15th, 2019

भविष्य के सपने संजोने वाले ही सच्चे अर्थो में युवा : नरेन्द्र मोदी

youth-hpm photo INVC NEWSआई एन वी सी न्यूज़ रायपुर, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आज स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर नया रायपुर में आयोजित 20वें राष्ट्रीय युवा उत्सव के शुभारंभ समारोह को संबोधित किया। उन्होने अपने प्रेरक उदबोधन में कहा कि भविष्य के सपने संजोने वाले ही सच्चे अर्थो में युवा होते हैं। राष्ट्रीय युवा उत्सव की थीम कौशल, विकास एवं सौहार्द्र के लिये भारतीय युवा विषय पर प्रकाश डालते हुए श्री मोदी ने कहा कि  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कौशल विकास को कानूनी दर्जा देने का सराहनीय कार्य किया है । कौशल विकास के लिये छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में कौशल विकास के लिये किये जा रहे कार्याें को मैने स्वयं दंतेवाड़ा जाकर देखा है। नया रायपुर स्थित डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी उद्योग व्यापार परिसर में पांच दिवसीय राष्ट्रीय युवा उत्सव के शुभारंभ समारोह को मंच पर मुख्य अतिथि की आसंदी से केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और जहाजरानी विकास मंत्री श्री नितिन गडकरी ने भी संबोधित किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अध्यक्षीय उदबोधन में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा युवाओं के लिये लिये संचालित योजनाओं की जानकारी दी। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जिसने युवाओं के लिये अलग से बजट प्रावधान किया है। इस मौके पर केंद्रीय खेल एवं युवा कार्य राज्य मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल, केंद्रीय इस्पात एवं खान राज्य मंत्री श्री विष्णुुदेव साय तथा छत्तीसगढ़ सरकार के अनेक मंत्री, प्रदेश के अनेक सांसद, विधायक और अन्य जनप्रतिनिधि, विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी उपस्थित थे। श्री नितिन गडकरी ने कहा कि उन्होने कहा कि युवा देश का भविष्य है। देश के विभिन्न राज्यांे से हजारों की संख्या में आए युवाओं को वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री श्री मोदी ने अपने प्रेरणादायक भाषण में कहा-नक्सल प्रभावित क्षेत्रों मे युवाओं के सपनों को साकार करने के लिये छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उनका कौशल उन्नयन का प्रयास किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के युवाओं ने माओवाद की भयावहता के बीच विकास का रास्ता तय किया है।युवाओं के हाथो में अपने देश और समाज को आगे बढ़ाने और अपने भविष्य निर्माण के लिये हुनर होना चाहिए। युवाओं के हाथ हत्याओं का कारण नहीं बनना चाहिये। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कौशल विकास े कार्यक्रमों को आगे बढ़ाना है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरा विश्व भारत की तरफ आशा भरी नजरों से देख रहा है। हिंदुस्तान संभावनाओं का देश है। हिंदुस्तान युवाओं का देश होने के कारण अपार अवसर युवाओं का इंतजार कर रही है। भारत की 65 प्रतिशत आबादी युवाओं की है। जहां युवा होता है वहां विकास की कोई सीमा नहीं होती है। उन्होने कहा कि युवा होना मनःस्थिति का परिचायक है। जो व्यक्ति बीता हुआ पल बार-बार दोहराता है वह बुढ़ापे की ओर अग्रसर हो गया है। जो आने वाले कल का सपना संजोता है वह सच्चे अर्थ में युवा है।प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि देश में उनकी सरकार ने पहली बार कौशल विकास के लिये अलग से मंत्रालय बनाया है। गरीब से गरीब व्यक्ति को सीखने का अवसर मिलना चाहिये। प्रधानमंत्री ने कहा कि दुर्भाग्य से देश के लोगों ने यह मनःस्थिति बना ली हैकि दिमाग से काम करने वाला बड़ा है, हाथ से काम करने वाला छोटा है। कोई भी कार्य छोटा नहीं होता। टेबल-कुर्सी पर बैठकर काम करने वाले कर्मचारी की तरह मैकेनिक, बढ़ई एवं गुलदस्ता बनाने वाले का कार्य भी महत्वपूर्ण होता है। इस बात को बढ़ावा देने के लिये भारत सरकार द्वारा श्रमेव जयते कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। समाज में आईटीआई प्रशिक्षित हुनरमंद युवाओं की तुलना में डिग्री को ज्यादा महत्व दिया जाता है। इस मानसिकता को बदलना चाहिये। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि बहुत ही कम आयु में कोई व्यक्ति देश और समाज के लिये क्या योगदान दे सकता है, इसका सर्वश्रेष्ठ उदाहरण स्वामी विवेकानंद और अमर शहीद भगत सिंह के जीवन से मिलता है। देश के नौजवान उनकी जीवनगाथा से प्रेरणा लेते हैं। जीवन में संकल्प हो और संकल्प के लिये समर्पित भाव हो तो उम्र बाधा नहीं आती है। उन्होने कहा कि हिंदुस्तान के कोने-कोने से युवा रायपुर में एकत्रित हुए हैं। सभी राज्यों से आये युवाओं की खान-पान, वेषभूषा एवं बोली-भाषा अलग-अलग होगी। लेकिन देश के युवाओं को भारतीयता की भावना एक सूत्र में पिरोता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के युवा देश के लिये कुछ करना चाहते हैं, देश को उंचाईयों पर ले जाना चाहते हैं तो उन्हे संकल्प लेकर आगे बढना चाहिये। उन्होने कहा कि पिछले बीस सालों से राष्ट्रीय युवा महोत्सव में सम्मिलित हो रहे हैं। इस साल युवा महोत्सव से संकल्प संकल्प लेकर जाईये कि वर्ष 2019 में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाई जाएगी तब हम ऐसा कोई कार्य करें जिससे समाज में परिवर्तन आ सके। वर्ष 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे होंगे। इस अवसर पर हम क्या कर सकते हैं इसके लिये रायपुर से लेकर दिल्ली तक रोडमैप तैयार कर सकते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना एवं नेहरू युवा केंद्र के युवाओं ने स्वच्छता अभियान में शामिल होकर महापुरूषों की प्रतिमा की सफाई का बीड़ा उठाया है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर 26 जनवरी को महापुरूषों की प्रतिमा की सफाई के अभियान में लोगों को शामिल होने का आहवान किया। उन्होने कहा कि छोटे व्यवसायियों को सशक्त करने एवं युवाओं को रोजगार के लिये धन मुहैया कराने े प्रधानमंत्री मुद्रा योजना प्रारंभ की गई है। देश के दो करोड़ लोगों को बिना बैंक गारंटी के 80000 करोड़ रूपये का ऋण प्रदान किया गया है। श्री मोदी ने युवाओं से कहा कि वे रोजगार खोजने वाले नहीं बल्कि रोजगार प्रदान करने वाले बनें। प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनो में भारत सरकार द्वारा स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया कार्यक्रम लांच किया जा रहा है। देश के युवाओं की नई सोंच एवं नवाचार को प्रोत्साहित और पुरस्कृत करने के लिये यह योजना लागू की जा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास का मतलब गरीबों एवं गांव में रहने वाले लोगों की जिंदगी में बदलाव आना चाहिये। विकास का मतलब केवल बड़े भवन बना लेना नही है। विकास के लिये नागरिकों के लिये शुद्ध पेयजल, शिक्षा का प्रबंध, बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं, आवागमन के सुगम साधन एवं सभी के लिये आवास होना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की विविधताओं के बीच सद्भावना बहुत बड़ी शक्ति है। एक दूसरे के प्रति सद्भाव, अपनापन एवं आदर की भावना से युवा आपस में जुड़ सकते हैं। देश में आपसी एकता एवं सद्भाव नहीं होने प्रगति में रूकावट आती है। उन्होने कहा कि शांति, एकता एवं सद्भावना प्रगति की गारंटी है। समाज में लोगों के पास केवल धन-दौलत व सुख-संपन्नता हो और शांति और सद्भाव न हो तो भी जीवन अधूरा हो जाता है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment