लखनऊ. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से देश के सबसे विवादित मामले का हल होने के बाद अब देश भर में राम भक्त खुशी से फूले नही समा रहे हैं. लगातार अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए तमाम लोग आगे आ रहे हैं. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Shia Central Waqf Board) ने भी 51000 रुपये राम जन्मभूमि न्यास (Ram Janambhoomi Nyas) को भेजे हैं और इस रकम को राम मंदिर निर्माण में खर्च करने की इच्छा जताई है.
उतर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने बताया कि अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद खत्म करने के लिए मध्यस्था से लेकर माननीय सर्वोच्च न्यायालय तक अपनी बात रखते हुए अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की पैरवी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने की है. माननीय सर्वोच्च न्यायालय का जो फैसला आया है वही एक अकेला रास्ता था, जिससे मामला सुलझ सकता था. अब हिंदुस्तान में राम जन्मभूमि के स्थान पर दुनिया का सबसे सुंदर राम मंदिर बनाने की तैयारी हो रही है.
भगवान श्री राम सभी मुसलमानों के पूर्वज
वसीम रिजवी ने कहा कि इमामे हिंद भगवान श्री राम सभी मुसलमानों के पूर्वज हैं. उनके मंदिर निर्माण के लिए वसीम रिजवी ने 51000 रुपये की भेंट राम जन्मभूमि फिल्म की तरफ से राम जन्मभूमि न्यास के राकेश दास और अयोध्या जिला प्रभारी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड सदस्य अशफाक हुसैन जिया के माध्यम से भेजी जा रही है. वसीम रिजवी ने आगे बताया कि भविष्य में जब भी मस्जिद का निर्माण होगा शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से उसके निर्माण में भी मदद की जाएगी. अयोध्या में राम मंदिर पूरे विश्व के राम भक्तों और हिंदुस्तान के लिए गौरव की बात है. PLC.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here