Jagat-Prakash-Nadda-INVC-NEWSआई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
केन्द्रीय चिकित्सा एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक के निर्माण से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य क्षेत्र को नई दिशा मिलेगी। 150 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाला यह सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक उच्च स्तरीय एवं अंतर्राष्ट्रीय मापदंडों के आधार पर तैयार होगा।

श्री नड्डा शुक्रवार को बीकानेर के सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज सभागार में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत बनने वाले सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक व टर्सरी कैंसर केयर सेंटर के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की स्थापना से यहां शिशु सर्जरी, न्यूरोसर्जरी, गेस्टि्रक सर्जरी, नेफ्रोलॉजी, गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी और न्यूरोलॉजी की सुपर स्पेशलिटी सेवाएं एक ही स्थान पर मिल सकेंगी। उन्होंने कहा कि दिसम्बर 2017 में यह सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक बीकानेर को समर्पित किया जाएगा, तो यहां के मेडिकल कॉलेज की तस्वीर बदल जाएगी और इसके दूरगामी परिणाम सामने आएंगे।

केन्द्रीय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में 168 बैड्स तथा आईसीयू में 46 बैड्स का इजाफा होगा। इसमें सात ऑपरेशन थिएटर होंगे। ये ऑपरेशन थिएटर अंतर्राष्ट्रीय स्तर के होंगे और क्लास रूम्स से संबद्ध होंगे, जो विद्यार्थियों के लिए अनुकूल वातावरण बनाने वाला होगा। वहीं इसकी स्थापना से स्नातकोत्तर की अतिरिक्त 14 सीटें भी सृजित होंगी। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में जोधपुर को एम्स जैसा उच्च स्तरीय चिकित्सा संस्थान मिला। वर्तमान में केन्द्र सरकार द्वारा छह स्थानों पर एम्स खोले जा चुके हैं तथा ग्यारह बन कर तैयार हो रहे हैं।

श्री नड्डा ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा ऎसे 70 मेडिकल कॉलेजों का चयन किया गया है, जिन्हें सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक के रूप में अपग्रेड किया जा रहा है। इन सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक्स में एम्स जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। शिक्षण सुविधाएं भी एम्स के बराबर होंगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान में बीकानेर, कोटा और उदयपुर के मेडिकल कॉलेज को सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक के रूप में अपग्रेड किया जा रहा है। केन्द्र सरकार द्वारा 58 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की जा रही है। प्रत्येक मेडिकल कॉलेज पर 190 करोड़ रूपये व्यय किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान में अलवर, भरतपुर, डूंगरपुर, बाड़मेर, चूरू, भीलवाड़ा, पाली और सीकर सहित कुल आठ स्थानों पर मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जा रहे हैं।

केन्द्रीय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा दो नेशनल कैंसर सेंटर तथा 50 टर्सरी कैंसर केयर सेंटर भी स्थापित किए जा रहे हैं। बीकानेर में भी टर्सरी कैंसर केयर सेंटर तैयार हो रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के नेतृत्व में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने सतत परिश्रम करते हुए देश को टिटनेस मुक्त बनाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा हर जिला अस्पताल में डायलिसिस की विशेष व्यवस्था की जा रही है। इसके तहत बीपीएल वर्ग के लोगों को डायलिसिस की निःशुल्क सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

श्री नड्डा ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा ‘दीनदयाल अमृत’ के नाम से दवाईयों की दुकानें स्थापित की जा रही हैं। ‘अमृत’ के माध्यम से मरीजों को एमआरपी के मुकाबले 60 से 90 प्रतिशत तक छूट के साथ दवाईयां उपलब्ध करवाई जा रही हैं। अब तक 16 आउटलेट्स के माध्यम से 58 करोड़ की दवाईयां 15 करोड़ में उपलब्ध करवाई गई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार, प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में इन आउटलेट्स के लिए स्थान उपलब्ध करवाए। इससे प्रदेश में अधिक से अधिक ‘अमृत’ दुकानें खुलवाई जा सकेंगी।

इस अवसर पर केन्द्रीय वित्त एवं कंपनी मामलात राज्यमंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि बीकानेर का पीबीएम अस्पताल, देश की आजादी से पूर्व स्थापित अस्पताल है। उन्होंने पूर्व महाराजा गंगासिंह को दूरदृष्टा बताते हुए कहा कि उन्होंने बड़े क्षेत्रफल में इस अस्पताल की स्थापना की। उन्होंने कहा कि पीबीएम अस्पताल में टर्सरी कैंसर केयर सेंटर बनाने के लिए 45 करोड़ रूपये व्यय किए जाएंगे। केन्द्र सरकार द्वारा वर्तमान में इसके लिए 38 करोड़ रूपये स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने शेष राशि और स्वीकृत करने की मांग रखी। सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज और पीबीएम अस्पताल में कॉरपोरेट सोशियल रेसपोंसिबिलिटी (सीएसआर) के तहत लगभग दस करोड़ रूपये व्यय किए जाएंगे।

प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री कालीचरण सराफ ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा राज्य में चिकित्सा सुविधा बढ़ाने की दिशा में उल्लेखनीय कार्य किया जा रहा है। बीकानेर में केन्द्र सरकार द्वारा सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की स्थापना करना, ऎतिहासिक निर्णय है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य में 8 सरकारी और छह निजी मेडिकल कॉलेज संचालित हैं। केन्द्र सरकार की सहायता से और अधिक मेडिकल कॉलेज खोले जाएं, तो स्वास्थ्य सेवाओं में और अधिक विस्तार किया जा सकता है।

श्री सराफ ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा राज्य को आठ नए मेडिकल कॉलेज खोले जाने की सौगात दी गई है। राज्य सरकार द्वारा वर्तमान में 17 हजार से अधिक पीएचसी, सीएचसी और अन्य स्वास्थ्य केन्द्र संचालित किए जा रहे हैं। प्रत्येक व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाने के लिए राज्य सरकार द्वारा भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना चलाई जा रही है। अब तक 6 लाख से अधिक लोगों को इसके तहत राहत प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अभिनव पहल करते हुए प्रदेश के 295 ब्लॉक्स में प्रति ब्लॉक एक-एक आदर्श पीएचसी स्थापित की गई है। दूसरे चरण में 600 आदर्श पीएचसी स्थापित करने की योजना है।

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के संयुक्त सचिव सुनील शर्मा ने स्वागत उद्बोधन दिया तथा सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक्स के बारे में जानकारी दी। इससे पहले केन्द्रीय मंत्री श्री नड्डा एवं अन्य अतिथियों ने सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक एवं टर्सरी कैंसर केयर सेंटर का शिलान्यास किया। संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी, लूनकरनसर विधायक मानिक चंद सुराणा, एचएससीसी के सीएमडी ज्ञानेश पांडे, पीएमएसएसवाई के निदेशक सुदीप श्रीवास्तव, चिकित्सा शिक्षा विभाग की अतिरिक्त निदेशक पुष्पा सत्यानी मौजूद थे। सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आर. पी. अग्रवाल ने आभार जताया। अंतर्राष्ट्रीय कलाकार मानसी सिंह पंवार ने भवई नृत्य की प्रस्तुति दी।

इस अवसर पर महापौर श्री नारायण चौपड़ा, नगर विकास न्यास अध्यक्ष श्री महावीर रांका, डॉ. सत्य प्रकाश आचार्य, सहीराम दुसाद, महानिरीक्षक पुलिस श्री बिपिन कुमार पांडे, जिला कलक्टर श्री वेदप्रकाश, पुलिस अधीक्षक डॉ. अमनदीप सिंह कपूर सहित विभिन्न जनप्रतिनिधि, चिकित्सक, विद्यार्थी सहित आमजन बड़ी संख्या में मौजूद थे। गार्ड ऑफ ऑनर से किया स्वागत      इससे पहले केन्द्रीय चिकित्सा एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जगत प्रकाश नड्डा के मेडिकल कॉलेज परिसर में पहुंचने पर उन्हें राजस्थान पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। राजस्थान पुलिस के बैंड द्वारा सुमधुर स्वरलहरियां बिखेरी गईं। श्री नड्डा ने सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक के मॉडल का अवलोकन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here