Thursday, October 24th, 2019
Close X

बिना आईटी के देश सुपर पावर नहीं बन सकता

 
रोल ऑफ़ आईटी इन नेशन बिल्डिंग मोटिव्स विषय पर हुआ अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार


आई एन वी सी न्यूज़  
जयपुर


महर्षि अरविन्द इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड मैनेजमेंट के कंप्यूटर साइंस विभाग द्वारा दिनांक 04/09/2019  को  अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार  का आयोजन किया गया | इस सेमिनार  के  मुख्य अतिथि श्री पी.एम. भारद्वाज (चीफ मेनेजिंग डायरेक्टर ऑफ़ पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ) और  विशिष्ट अतिथि व् कीनोट स्पीकर श्री अरुण सिंगल (फॉरमर वाईस प्रेजिडेंट ऑफ़ एक्सेंचर सॉफ्टवेयर कंपनी ) एवं ऑनलाइन स्पीकर डॉ.राकेश शर्मा ( असिस्टेंट  प्रोफेसर, मेरीलैंड यूनिवर्सिटी ,युएसए) रहे  |

 
देश के जाने-माने मोटिवेशनल एवं मैनेजमेंट गुरु एवं भारत सरकार की चार संस्थाओं के पूर्व चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) व एआईसीटीई के इंटर्नशिप कमेटी के मेंबर पीएम भारद्वाज ने कहा कि बिना आईटी के देश सुपर पावर नहीं बन सकता | अगर हमें अपने देश भारतवर्ष को सुपर पावर बनाना है तो आईटी के क्षेत्र में बढ़-चढ़कर काम करना पड़ेगा उन्होंने यह भी कहा कि टेक्नोलॉजी के साथ साथ नैतिक मूल्यों पर भी ध्यान देना चाहिए| उन्होंने अपने मुख्य अतिथि भाषण में युवाओं का आह्वान किया कि भारतवर्ष को सुपर पावर बनाने के लिए जोर लगा देना चाहिए| उन्होंने संत कबीर, स्वामी विवेकानंद जी ,स्वर्गीय डॉक्टर अब्दुल कलाम जी आदि का जिक्र किया|

 

विशिष्ट अतिथि अरुण सिंघल जो की आईटी कंपनी के सीएमडी है एवं एक्सेंचर सॉफ्टवेयर कंपनी के पूर्व सीएमडी है ने आईटी के बारे में विस्तृत चर्चा की| कीनोट स्पीकर (मुख्य वक्ता)  मिस्टर अरुण सिंघल  ने सम्बोधित करते हुए कहा कि किसी भी संस्थान में ऐसा माहौल जरूर होना चाहिए जिसमे सभी अपने आइडियाज को एक्स्प्लोर करते हुए नवीन उड़ान एवं नयी दिशा दे सकें | उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी  के नेतृत्व में भारत सरकार एवं आल इंडिया कौंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन, एकेडेमिया एवं इंडस्ट्री को एक प्लेटफार्म पर लाकर एक ऐसा माहौल पैदा करना चाहती है जहाँ युवाओं को शिक्षा इंडस्ट्री की जरुरत के मुताविक मिले न की इंडस्ट्री युवाओं की शिक्षा की हिसाब से खुद को परिवर्तित करे | उन्होंने कहा की अभी तक इसके उलट होता रहा है और परिणामस्वरूप वेरोजगारी अपने चरम पर है |

यूनिवर्सिटी ऑफ़ मेरीलैंड के प्रोफेसर डॉ.राकेश शर्मा ने कहा की इंडिया में टैलेंट की कमी नहीं लेकिन उसका प्रॉपर इस्तेमाल एंड रिसर्च बेस्ड ट्रेनिंग नहीं हो पा रहा |

 डॉ डीपी शर्मा ने आगंतुक एक्सपर्ट्स को अवार्ड ऑफ़ ऑनर देकर सम्मानित करते हुए भविष्य में भी इस तरह के राष्ट्रीय अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित किये जाने पर जोर दिया

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment