Close X
Saturday, October 31st, 2020

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावी कार्यवाही किया

आई एन वी सी न्यूज़  
लखनऊ ,


उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में एक दिन में कोविड-19 के 1 लाख 48 हजार से अधिक टेस्ट किए जाने पर संतोष व्यक्त करते हुए टेस्टिंग क्षमता को शीघ्र बढ़ाकर 1 लाख 50 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाने के निर्देश दिए हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी 31 अगस्त, 2020 को चिकित्सा शिक्षा विभाग की नई टेस्टिंग लैब का शुभारम्भ करेंगे, जिससे कोविड-19 की टेस्टिंग क्षमता में और वृद्धि होगी। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए इस कार्य में वृद्धि के प्रयास लगातार जारी रखे जाएं। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि कोविड प्रभावित लोगों को और बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए समस्त जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी दिन में दो बार नियमित रूप से बैठक करें। सुबह की बैठक कोविड चिकित्सालय में तथा शाम की बैठक इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेण्टर में की जाए। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क के अनिवार्य उपयोग का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश भी दिए हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि नये मेडिकल उपकरणों को शीघ्र क्रियाशील किया जाय उनके सुचारु संचालन के लिए तकनीकी स्टाफ को प्रशिक्षित किए जाने पर बल देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि एच0एफ0एन0सी0 (हाई फ्लो नेजल कैन्युला) मशीन को संचालित करने वालों को प्राथमिकता पर प्रशिक्षित किया जाए। उन्होंने कहा  है कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से नियमित संवाद स्थापित करते हुए उनके स्वास्थ्य की जानकारी दिन में दो बार प्राप्त की जाए। इस कार्य में सी0एम0 हेल्पलाइन का भी उपयोग किया जाए। उन्होंने काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग, सर्विलांस तथा डोर-टू-डोर सर्वे कार्य को पूरी तेजी से संचालित करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को खाद समय से प्राप्त हो। इस वर्ष खाद पिछले वर्ष से अधिक वितरित किया गया। उन्होंने खाद की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि एम0एस0एम0ई0 सेक्टर की नवीन इकाइयों तथा पूर्व स्थापित इकाइयों के सुदृढ़ीकरण के लिए बैंकों से समन्वय बनाकर अधिक से अधिक एम0एस0एम0ई0 इकाइयों के लिए ऋण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए हैं कि समस्त मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी अपने-अपने जनपद के गो-आश्रय स्थलों का नियमित निरीक्षण करें। उन्होंने कहा है कि गोवंश के लिए चारे आदि की अच्छी व्यवस्था के साथ ही, उनके स्वास्थ्य का परीक्षण भी किया जाए। पशुपालन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इस कार्य की माॅनिटरिंग की जाए। उन्होंने एस0डी0एम0 तथा सी0ओ0 को न्याय पंचायत स्तर पर जनसुनवाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों को प्रभावित लोगों के लिए राहत कार्य पूरी गति से संचालित किए जाएं। बाढ़ प्रभावितों को राशन किट उपलब्ध कराया जाए तथा उनके लिए चिकित्सा की समुचित व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने बाढ़ से फसलों को हुई क्षति का सर्वे कराकर सभी प्रभावितों को शीघ्र मुआवजा उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए हैं। बैठक मंे मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि ग्राम प्रहरियों की तैनाती तथा फाॅरेंसिक लैब्स की स्थापना की कार्य योजना तैयार हो गई है।
श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 2,08,589 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 1,37,90,683 वाहनांे की सघन चेकिंग में 70,040 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 70,85,01,259 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,33,298 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1153 लोगों के खिलाफ 851 एफआईआर दर्ज करते हुए 397 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फेक न्यूज के अन्तर्गत अब तक 2385 मामलों में संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि अब तक प्रदेश में 89 एफआईआर दर्ज करते हुए 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के कन्टेनमेंट जोन में 82,36,591 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोनो पाॅजीटिव लोगों की संख्या 39,199 तथा इन्टीट्यूशल क्वारंटीन किये गये लोगों की संख्या 29,943 है। उन्होेंने बताया कि राजस्व विभाग के टोल फ्री हैल्पलाईन नं0 1070 पर प्राप्त 1,19,860 काॅल्स में से 1,19,442 का निस्तारण किया गया।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,48,147 सैम्पल की जांच की गयी, जो अब तक का सर्वाधिक है। प्रदेश में अब तक 53,50,704 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 5684 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 53,360 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 26,865 मरीज होम आइसोलेशन, 2403 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 262 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। प्रदेश में अब तक 1,62,741 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं।
श्री प्रसाद ने बताया कि पूल टेस्टिंग के अन्तर्गत कल 05-05 सैम्पल के 3051 पूल और 10-10 सैम्पल के 258 पूल लगाये गये। इस प्रकार कुल 3038 पूल की टेस्टिंग की गई। टेस्टिंग क्षमता में निरन्तर बढ़ोत्तरी हो रही है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को यदि किसी प्रकार की समस्या आती है तो वो घर पर न रहें। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में ई-संजीवनी पोर्टल पर 1902 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि ई-संजीवनी पोर्टल को गूगल पर सर्च किया जा सकता है। जिसपर लोग अपने फोन नं0 से अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। अब तक ई-संजीवनी पोर्टल से 49,685 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि लोग होम आइसोलेशन के प्रोटोकाल का पालन करें। होम आइसोलेशन में दवा न मिलने पर जनपद के इन्ट्रीग्रेटेड कमाण्ड एवं कन्ट्रोल सेन्टर को फोन करें। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग थर्मामीटर तथा पल्स आॅक्सीमीटर साथ रखें। उन्होंने बताया कि कुल 93,978 लोग होम आइसोलेशन में थे जिसमें से 67,113 लोग उपचारित हो चुके हैं। किसी को कोई असुविधा हो तो स्वास्थ्य विभाग की हेल्पलाइन नं0 18001805145 अथवा सी0एम0 हेल्पलाइन नं0 1076 पर सम्पर्क करें। उन्होंने बताया कि 50.30 प्रतिशत लोग होम आइसोलेशन में हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को रैपीड रिस्पान्स टीम उनके घर जाकर दवा आदि उपलब्ध करायें।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment